Success Story: मजदूर पिता का कर्ज उतारने के लिए अच्छी नौकरी नहीं मिली तो इस शख्स ने खड़ी कर दी 70 हजार करोड़ की कंपनी

फैक्टरी वर्कर के बेटे जयंत कनानी ने अपने साथियों के साथ वर्ष 2017 में के अंत में मैटिक की शुरूआत की.

फैक्टरी वर्कर के बेटे जयंत कनानी ने अपने साथियों के साथ वर्ष 2017 में के अंत में मैटिक की शुरूआत की.

फैक्टरी वर्कर के बेटे जयंत कनानी ने अपने साथियों के साथ वर्ष 2017 में के अंत में मैटिक की शुरूआत की.

  • Share this:

नई दिल्ली. स्टार्टअप्स की कहानियां आपने खूब पढ़ी होंगी. लेकिन आज हम जिस कहानी को बता रहे हैं, वह इनसे कुछ अलग है. कहानी उस शख्स की है जिसकी कंपनी का मार्केट कैपिटलाइजेशन हाल ही में 10 अरब डॉलर यानी करीब 70 हजार करोड़ रुपए से अधिक पर पहुंच गया है.

देश में बने क्रिप्टोकरेंसी प्रोटोकॉल, Polygon के को-फाउंडर और CEO जयंत कनानी का बचपन बेहद मुश्किलों में बीता. गुजरात में अहमदाबाद के बाहरी इलाके में रहने वाले डायमंड फैक्टरी वर्कर के बेटे हैं कनानी. कनानी एक अच्छी नौकरी पाना चाहते थे जिससे वह अपने पिता का कर्ज उतार सकें, लेकिन उनके भाग्य में इससे बहुत अधिक था.

यह भी पढ़ें :  बाबा रामदेव की इस कंपनी ने महज 2 महीने में निवेशकों के पैसे दोगुने कर दिए, जानें सब कुछ

शुरुआत में उनकी फर्म के लिए इनवेस्टर मिलना बहुत मुश्किल था
कनानी ने बताया कि 2017 में वह हाउसिंग डॉटकॉम में नौकरी करते थे. उन्होंने Ethereum ब्लॉकचेन पर भारी लोड को देखने के बाद 2017 के अंत में मैटिक की शुरुआत की थी. उन्होंने कहा कि किसी बड़े इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूट से नहीं होने की वजह से शुरुआत में उनकी फर्म के लिए इनवेस्टर मिलना बहुत मुश्किल था. हालांकि, उन्होंने कोशिश नहीं छोड़ी और इसी वजह से अब उनके पास फंडिंग की कमी नहीं है.

यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : जॉब्स तलाशने के लिए हैशटैग का इस्तेमाल करें, जानें ऐसी ही जरूरी टिप्स

स्कूल फीस देने में भी मुश्किल होती थी फिर भी इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की



उन्होंने कहा कि उनके पिता की आमदनी कम होने के कारण उन्हें स्कूल फीस देने में भी मुश्किल होती थी. उन्होंने मुश्किलों का सामना करने के बाद इंजीनियरिंग की डिग्री ली. इसके बाद कई कंपनियों में नौकरी करने के बाद अब अपनी फर्म के साथ ऐसी सफलता देख चुके हैं जिसकी उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की थी.

यह भी पढ़ें :  बीमा पॉलिसी खरीदने के लिए कंपनियों की यह शर्त पूरी करना जरूरी, जानें पूरा मामला 

फर्म का लक्ष्य ब्लॉकचेन पर जल्द और सस्ती ट्रांजैक्शंस उपलब्ध कराना

कंपनी की शुरुआत कनानी, संदीप नेलवाल और अनुराग अर्जुन ने 2017 में Matic Network के तौर पर की थी. उनके साथ बाद में सर्बिया के इंजीनियर मिहालियो जेलिक को-फाउंडर के तौर पर जुड़े थे. यह फर्म हाल ही में तब चर्चा में आई थी जब बिलिनेयर Mark Cuban के इसमें इनवेस्टमेंट की घोषणा हुई थी. इससे पहले Polygon को एंजेल इनवेस्टर बालाजी श्रीनिवासन से फंडिंग मिली थी. इस फर्म का लक्ष्य Ethereum ब्लॉकचेन पर जल्द और सस्ती ट्रांजैक्शंस उपलब्ध कराना है.

यह भी पढ़ें :  मोदी सरकार ने पेट्रोलियम का स्टोरेज करने के लिए खेला बड़ा दांव, जानें सब कुछ

फर्म का प्रॉडक्ट मार्केट की जरूरत के अनुसार

कनानी ने Polygon के लिए योजना और Cuban के इनवेस्टमेंट पर कंपनी के फाउंडर्स के साथ बातचीत की. कनानी ने बताया कि फर्म में इनवेस्टमेंट करने से पहले Cuban इसके यूजर थे. इस वजह से हमने उनसे पूछा कि क्या वह इसमें इनवेस्ट करना चाहेंगे और वह तैयार हो गए. नेलवाल ने कहा कि कुछ NFT को Polygon पर बने डैप्स के इस्तेमाल से तैयार किया गया है. इससे पता चलता है कि फर्म का प्रॉडक्ट मार्केट की जरूरत के अनुसार है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज