घर बेचकर शुरू किया था इस महिला ने बिजनेस, अब हर महीने कमाती हैं एक करोड़ रुपए

शुभ्रा चड्ढा और उनके पति ने 40 लाख रुपए में अपना घर बेचकर बिजनेस शुरू किया. ये एक तरह का जुआ था लेकिन ये चल निकला.

News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 10:20 AM IST
घर बेचकर शुरू किया था इस महिला ने बिजनेस, अब हर महीने कमाती हैं एक करोड़ रुपए
शुभ्रा चड्ढा और उनके पति ने 40 लाख रुपए में अपना घर बेचकर बिजनेस शुरू किया. ये एक तरह का जुआ था लेकिन ये चल निकला.
News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 10:20 AM IST
चुंबक की को-फाउंडर शुभ्रा चड्ढा ने बिजनेस करने के बारे में कभी नहीं सोचा था. बिजनेस करने को लेकर उनके पास आइडिया था, लेकिन उनमें अच्छी सैलरी वाली कॉरपोरेट जॉब को छोड़ने की हिम्मत नहीं थी. लेकिन साल 2008 में उन्होंने अपनी बेटी के जन्म के बाद अपनी जॉब से ब्रेक लिया. यही वजह समय था जब उन्होंने बिजनेस के बारे में सोचना शुरू कर दिया. लेकिन छह महीने में ही उनका कारोबार डूबने की कगार पर पहुंच गया. इस मुश्किल घड़ी में उनके पति ने उनका साथ दिया. अब चुंबक ब्रांड की देश भर में 17 स्टोर और ई-कॉमर्स शॉपिंग प्लेटफॉर्म है. चुंबक ब्रांड रेडीमेड गारमेंट्स, बैग्स, गिफ्ट्स, ज्वैलरी, होम डेकोर जैसे प्रोडक्ट बेचता है. (ये भी पढ़ें: ई-वॉलेट में आपके साथ हुआ धोखा! तो ऐसे करें शिकायत, मिलेगा पूरा पैसा वापस)

इस तरह शुरू की कंपनी


उनका टारगेट ऐसे कस्टमर थे, जिनकी अच्छे गिफ्ट्स की तलाश कभी खत्म नहीं होती. वह भारत के ऐसे लोगों के लिए प्रोडक्ट बनाना चाहती थीं, जो बेहद अलग तरह की रैंज चाहते हैं. उन्होंने शुरुआत में गिफ्ट बिजनेस के बारे में सोचा और उन्होंने ऐसे ऑप्शन सोचे जो आसानी से नहीं मिलते. उन्होंने करीब एक साल इसके कॉन्सेप्ट, डिजाइन, सप्लायर, प्राइसिंग, रिटेल स्ट्रैटजी पर काम किया और चुंबक की शुरुआत की.



शुभ्रा चड्ढा और उनके पति ने 40 लाख रुपए में अपना घर बेचकर बिजनेस शुरू किया. ये एक तरह का जुआ था लेकिन ये चल निकला. उसका यह फायदा हुआ कि अब उनका शहर में स्वयं का तीन कमरों का घर है. हालांकि, उनके शुरूआती छह महीने काफी मुश्किल थे और उनकी कंपनी डूबने की कगार पर पहुंच चुकी थी.

ये भी पढ़ें: सावधान! कहीं आपके Aadhaar का तो नहीं हो रहा है गलत इस्तेमाल, ऐसे करें चेक

आज कमाती हैं एक करोड़ रुपये- शुभ्रा ने मार्च 2010 में बंगलुरु में अपना पहला स्टोर खोला. ये स्टोर उन्होंने अपने पति विवेक प्रभाकर के साथ खोला. वह सन माइक्रोसिस्टम में फुल टाइम जॉब करते थे. उनकी शुरुआती प्रोडक्ट रेन्ज में मैग्नेट्स, की-चेन और कुशन कवर थे. अब उनके प्रोडक्ट रेन्ज में 100 से अधिक प्रोडक्ट शामिल है. वह अपने प्रोडक्ट अपनी वेबसाइट और ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के जरिए बेचती हैं. उनके देश भर में 17 आउटलेट हैं. सालाना उनकी कमाई 12 करोड़ रुपये है.

ये भी पढ़ें: सिर्फ 25 हजार रुपये में शुरू हो जाएगा ये बिजनेस, 1.40 लाख तक हो सकती है कमाई

अपने ब्रांड पर किया फोकस- शुभ्रा के मुताबिक उनके पास दो ऑप्शन थे. पहला, दूसरे स्टोर को सप्लाई करते रहें और थोड़े प्रॉफिट में खुश रहें. दूसरा, ब्रांड में इन्वेस्ट करें और अपने स्टोर्स खोलें और लॉन्ग टर्म प्रॉफिट पर फोकस करें. उन्होंने चुंबक के 44 कियॉस्क एक साल में खोले. उन्होंने ज्यादा भीड़ वाले माल और मार्केट एरिया में अपने कियॉस्क खोले जिसका फायदा उन्हें मिला. फिर उन्होंने 2,000 वर्ग फीट वाले स्टोर खोलने शुरू किए जिसके बाद उन्होंने कियॉस्क पर फोकस न के बराबर कर दिया. शुभ्रा ब्रांड को इंडिया का अपना लाइफस्टाइल ब्रांड बनाना चाहती है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार