• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • SSY: सरकारी बैंक में सिर्फ ₹250 देकर खुलवाएं बेटी के नाम ये खाता, मेच्योरिटी पर मिलेंगे ₹15 लाख, टैक्स में भी छूट

SSY: सरकारी बैंक में सिर्फ ₹250 देकर खुलवाएं बेटी के नाम ये खाता, मेच्योरिटी पर मिलेंगे ₹15 लाख, टैक्स में भी छूट

Sukanya Samriddhi Yojana:इस योजना के तहत कोई भी नागरिक अपनी बेटी के लिए खाता खोल सकता है जिसकी उम्र खाता खोलने के दिन 10 वर्ष से कम है.

SSY: इस खाते में जमा और परिपक्वता राशि पर आयकर कानून की धारा 80 सी के तहत टैक्स छूट भी मिलती है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. माता-पिता अपनी बेटियों के भविष्य (daughter future) के लिए पैसे बचाना चाहते हैं, वे सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) का लाभ उठा सकते हैं. इस योजना में बचत करने में एक बड़ी सुविधा यह है कि आप अपनी पसंद और आवश्यकता के आधार पर अपने सुकन्या समृद्धि योजना ( Sukanya Samriddhi Yojana) खाते को एक बैंक से दूसरे बैंक या डाकघर में स्थानांतरित कर सकते हैं. यह योजना बाजार में अधिकांश छोटी बचत योजनाओं (Small savings scheme) की तुलना में अधिक सफल और लाभदायक है. सरकार का समर्थन इसे अधिक विश्वसनीय बनाता है.

    इस योजना के तहत कोई भी नागरिक अपनी बेटी के लिए खाता खोल सकता है जिसकी उम्र खाता खोलने के दिन 10 वर्ष से कम है. एक बार जब बालिका 18 वर्ष की हो जाएगी, तो वह खाताधारक बन जाएगी. इसमें निवेश की अवधि 15 वर्ष है और परिपक्वता अवधि 21 वर्ष है. इस योजना के तहत प्रति परिवार केवल 2 खातों की अनुमति है, हालांकि जुड़वां या ट्रिपल के मामले में अधिक खाते भी खोले जा सकते हैं.

    सुकन्या समृद्धि योजना डिपाॅजिट नियम
    सुकन्या समृद्धि योजना खाता किसी भी सरकारी बैंक या डाकघर में 250 रुपये की शुरूआती जमा राशि के साथ खोला जा सकता है. जमाकर्ता को न्यूनतम 250 रुपये सालाना जमा करने की आवश्यकता होती है, ऐसा न करने पर 50 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा. एक खाता जो वार्षिक न्यूनतम जमा सीमा को बनाए रखने में विफल रहता है, एक डिफ़ॉल्ट खाता बन जाता है, लेकिन खाता खोलने की तारीख से वर्षों की अंतिम जमा अवधि से पहले किसी भी समय सामान्य किया जा सकता है.

    सुकन्या समृद्धि योजना खाते में जमा करने की ऊपरी सीमा 1.5 लाख रुपये सालाना निर्धारित की गई है और इस सीमा से अधिक की जमा राशि जमाकर्ता को तुरंत वापस कर दी जाएगी. बता दें कि केंद्र सरकार ने 2015 में इस योजना की शुरुआत की थी. सरकार ने सुकन्या समृद्धि अकाउंट रूल्स, 2016 में संशोधन कर दिया है. इससे अब हर साल 250 रुपये जमा करके इस योजना का लाभ उठाया जा सकता है.

    ये भी पढ़ें- खुशखबरी: Paytm 35 हजार रुपये की सैलरी पर 20 हजार अंडरग्रेजुएट्स को करेगी हायर, जानें कैसे करें आवेदन

    ब्याज दर और टैक्स छूट
    सितंबर 2021 को समाप्त तिमाही के लिए सुकन्या समृद्धि योजना खाते में जमा राशि पर 7.6 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर से ब्याज मिलेगा. इस खाते में जमा और परिपक्वता राशि पर आयकर कानून की धारा 80 सी के तहत टैक्स छूट भी मिलती है. खाते में सालाना अधिकतम डेढ़ लाख रुपये जमा कराए जा सकते हैं. खाता खोलने की तारीख से 14 साल तक इसमें राशि जमा कराई जा सकती है.

    समय से पहले बंद होना
    खाता खोलने के 5 साल बाद, खाताधारक की गंभीर बीमारी या लड़की की ओर से खाता प्रबंधित करने वाले अभिभावक की मृत्यु के मामले में सुकन्या समृद्धि योजना खाता समय से पहले बंद किया जा सकता है. मृत्यु के मामले में, PO बचत खाता दर मृत्यु की तारीख से अंतिम भुगतान की तारीख तक लागू होगी. खाते को समय से पहले बंद करने के लिए, आवश्यक दस्तावेजों के साथ आवेदन बैंक या डाकघर में जमा करना होगा.

    ये भी पढ़ें- SIP: यहां 5 साल में 3 लाख के हुए 11 लाख रुपये, आप भी ₹100 से शुरू कर सकते हैं निवेश, जानें डिटेल्स

    Withdrawal नियम
    एक बार जब लड़की 18 साल की हो जाती है या 10वीं कक्षा पूरी कर लेती है, तो उसे खाते से पैसे निकालने की अनुमति दी जाती है. पिछले वित्तीय वर्ष के अंत में खाते में उपलब्ध राशि का अधिकतम 50 प्रतिशत तक की निकासी खाताधारक की शिक्षा या विवाह के उद्देश्य से की जा सकती है. निकासी लागू नियमों के अनुसार या तो एकमुश्त या साल में एक बार 5 साल तक की किश्त में की जा सकती है.

    मेच्योरिटी पर मिलेंगे 15 लाख से ज्यादा
    मान लीजिए आप इस स्कीम में हर महीने 3000 रुपये का निवेश करते हैं यानी सालान 36000 रुपये पर आपको 14 साल बाद 7.6 फीसदी सालाना कंपाउंडिंग के हिसाब से 9,11,574 रुपये मिलेंगे. 21 साल यानी मेच्योरिटी पर यह रकम करीब 15,22,221 रुपये होगी. बता दें कि अभी SSY में 7.6 फीसदी की दर से ब्याज दिया जा रहा था जो इनकम टैक्स छूट के साथ है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज