इस भारतीय शख्स को मिलती है दुनिया में सबसे ज्यादा सैलरी, हर दिन कमाते हैं 5.4 करोड़ रुपये

कोरोनाकाल में घर बैठे 2 लाख में शुरू करें हर महीने 1 लाख की कमाई वाला बिज़नेस

कोरोनाकाल में घर बैठे 2 लाख में शुरू करें हर महीने 1 लाख की कमाई वाला बिज़नेस

गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट (Alphabet Inc.) ने रेग्युलेटरी फाइलिंग में दी गई जानकारी में बताया कि साल 2019 में सुंदर पिचाई को कितना कंपेन्सेशन मिला है. पिचाई को दिए जाने वाले कंपेन्सेशन का एक बड़ा हिस्सा कंपनी के स्टॉक्स का है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2020, 6:53 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अल्फाबेट इंक CEO सुंदर पिचाई (Sundar Pichai) को पिछले साल दुनियाभर में किसी भी एग्जीक्युटिव की तुलना में सबसे अधिक कंपेन्सेशन मिला है. गूगल (Google) की पेरेंट कंपनी ने सुंदर पिचाई को साल 2019 में कंपेन्सेशन के तौर पर 281 मिलियन डॉलर (करीब 2,000 करोड़ रुपये) दिया है. 2019 में दुनियाभर में किसी भी एग्जीक्युटिव को दी जाने वाली सबसे अधिक रकम है. बता दें कि पिछले साल ही सुदर पिचाई को गूगल के CEO के पद से प्रोमोट कर अल्फाबेट का CEO बनाया गया था.



कंपनी की स्टॉक में हिस्सा

सुंदर पिचाई की सैलरी का एक बड़ा हिस्सा अल्फाबेट इंक के स्टॉक से आता है. ऐसे में इस कंपनी के स्टॉक पर निर्भर करता है कि वो S&P 100 इंडेक्स में अन्य कंपनियों के मुकाबले कितना रिटर्न देती है. ऐसे में स्टॉक्स के भाव के आधार पर पिचाई की सैलरी 281 मिलियन डॉलर से घट या बढ़ सकती है.



यह भी पढ़ें: TV-फ्रिज मोबाइल की क्या अब ऑनलाइन हो सकती है खरीदारी? जानिए सरकार का आदेश






कंपनी ने रेग्युलेटरी फाइलिंग में दी जानकारी

अल्फाबेट ने रेग्युलेटर को दी गई जानकारी में सुंदर पिचाई की सैलरी का भी जिक्र किया है. कंपनी ने रेग्युलेटर (Regulatory Filing) को बताया कि 2019 में सुंदर पिचाई को सालाना 6.5 लाख डॉलर (करीब 4.5 करोड़ रुपये) सैलरी के तौरपर दी जाती है. कंपनी ने यह भी बताया कि इस साल यह बढ़कर 20 लाख डॉलर (14 करोड़ रुपये) हो जाएगी. इस जानकारी में यह भी बताया गया कि कंपेन्सेशन के तौर पर पिचाई को दी गई यह रकम अल्फाबेट इंक द्वारा दी जाने वाली औसत सैलरी का 1,085 गुना अधिक है.



लैरी पेज की जगह पर पिचाई को किया गया था प्रोमोट

बता दें कि पिछले साल ही कंपनी में प्रशासनिक स्तर पर कुछ बड़े बदलाव किए गए थे. इसमें से एक यह भी था कि सुंदर पिचाई को गूगल के सीईओ पद से प्रोमोट कर पेरेंट कंपनी अल्फाबेट इंक का सीईओ बना गया. इसके पहले लैरी पेज इस कंपनी के सीईओ थे. कोरोना वायरस महामारी को देख्तो हुए हाल ही में कंपनी ने जानकारी दी थी कि वो इस साल कोई भी नई हायरिंग नहीं करेगी. कंपनी ने यह भी कहा है कि साल 2020 में वह कोई नया निवेश भी नहीं करेगी.



यह भी पढ़ें: इस सरकारी स्कीम में पैसा लगाने वालें कर सकते हैं 60 हजार रुपये/महीने की कमाई!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज