देश में अगले 5 साल में 63 फीसदी बढ़ जाएगी सुपर-रिच की संख्‍या, दिल्‍ली-मुंबई ही नहीं इन शहरों पर भी जमकर बरसेगा पैसा

भारत में अति-धनवानों (Super-Rich in India) की संख्या 2025 तक 11,198 तक पहुंच सकती है.

भारत में अति-धनवानों (Super-Rich in India) की संख्या 2025 तक 11,198 तक पहुंच सकती है.

एसेट एडवाइजर नाइट फ्रैंक की रिपोर्ट (Knight Frank Wealth Report 2021) के मुताबिक, भारत में अति-धनवानों (Super-Rich in India) की संख्या 2025 तक 11,198 तक पहुंच सकती है. वहीं, दुनियाभर में सुपर-रिच (Super Rich in World) की संख्या 2020-25 के बीच 27 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 6,63,483 तक पहुंच जाने की उम्मीद है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 25, 2021, 5:51 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत अति-धनवानों (Super Rich) के मामले में अगले 5 साल में दुनिया का दूसरा सबसे तेजी से बढ़ने वाला देश बन जाएगा. एसेट एडवाइजर नाइट फ्रैंक (Knight Frank) की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में अगले पांच साल के दौरान अल्‍ट्रा हाईनेटवर्थ इंडिविजुअल्‍स (UHNWI) यानी सुपर-रिच लोगों की संख्या 63 फीसदी बढ़कर 11,198 पर पहुंच जाएगी. वहीं, दुनियाभर के सुपर-रिच की संख्या 2020 से 2025 के बीच 27 फीसदी बढ़कर 6,63,483 तक पहुंचने की की उम्मीद है. बता दें कि सुपर-रिच में वे लोग गिने जाते हैं, जिनकी संपत्ति (Net Worth) तीन करोड़ डॉलर या उससे ज्‍यादा है.

भारत में अरबपतियों की संख्‍या में होगा 43 फीसदी इजाफा
नाइट फ्रैंक वेल्थ रिपोर्ट-2021 (Knight Frank Wealth Report 2021) के मुताबिक, फिलहाल दुनियाभर में सुपर-रिच (UHNWI in World) की संख्या 5,21,653 है. इनमें से 6,884 अति-धनवान भारत में हैं. नाइट फ्रैंक ने कहा कि 2025 तक भारत में इनकी संख्या में 63 फीसदी की जबरदस्‍त बढ़ोतरी होगी. रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में 2025 तक अरबपतियों (Billionaires) की संख्या में 43 फीसदी इजाफा होगा और 162 हो सकती है, जो 2020 में 113 थी. यह वैश्विक वृद्धि के 24 फीसदी और एशिया के 38 फीसदी के औसत से ज्‍यादा है.

ये भी पढ़ें- पीएम नरेंद्र मोदी का बड़ा ऐलान! बेकार पड़ी 100 सरकारी संपत्तियों को बेचकर 2.5 लाख करोड़ रुपये जुटाएगी सरकार
भारत जल्‍द बन जाएगा 5000 अरब डॉलर की इकोनॉमी


रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि एशिया में सुपर-रिच की संख्या में सबसे ज्‍यादा 39 फीसदी बढ़ोतरी होगी. इस दौरान सबसे ज्यादा 67 फीसदी इंडोनेशिया और 63 फीसदी बढ़ोतरी भारत में होगी. भारत में अति-धनवानों की संख्या इंडोनेशिया के कुल सुपर-रिच से 10 गुना ज्‍यादा होगी. नाइट फ्रैंक इंडिया के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक शिशिर बैजल का कहना है कि कोरोना महामारी के बाद आर्थिक गतिविधियां नए स्तर पर जा रही हैं. ऐसे में भारत अगले कुछ साल के भीतर 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था (5 Trillion Dollar Economy) वाले देशों के क्लब में जगह बना सकता है. भारत में तेजी से विकसित होने वाले सेक्टर्स के लिए व्यवस्था बनाने में मदद मिलेगी.

ये भी पढ़ें- Indian Railways ने बढ़ाया किराया, कहा-कम दूरी की ट्रेनों में गैरजरूरी भीड़ को रोकने के लिए उठाया कदम

मुंबई समेत इन शहरों में होंगे सबसे अधिक अति-धनवान
बैजल ने कहा कि आर्थिक अवसरों (Financial Opportunities) की मदद से संपत्ति निर्माण के मौके मिलेंगे, जिसकी मदद से भारत में अमीरों के क्लब (Rich Club) में नए लोग शामिल होंगे. भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई (Mumbai) में अति-धनवानों की संख्या सबसे ज्‍यादा 920 होगी. इसके बाद 375 सुपर-रिच के साथ राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) दूसरे स्थान पर रहेगी. आईटी हब बेंगलुरु (Bengaluru) में 238 सुपर-रिच होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज