सुप्रीम कोर्ट ने सैरेडॉन समेत 3 फिक्स्ड कॉम्बिनेशन दवाओं से हटाया बैन

ई फॉर्मेसी के अभी देश में कोई तय नियम नहीं हैं लेकिन ये नियम ड्रग्स रुल्स और कई एक्ट से संचालित होते हैं
ई फॉर्मेसी के अभी देश में कोई तय नियम नहीं हैं लेकिन ये नियम ड्रग्स रुल्स और कई एक्ट से संचालित होते हैं

पिछले साल सितंबर में केंद्र सरकार ने 328 फिक्स्‍ड डोज कॉम्बिनेशन पर बैन लगा दिया था. इसके चलते दवाओं के 6 हजार ब्रांड पर बैन लग गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 17, 2018, 4:12 PM IST
  • Share this:
सुप्रीम कोर्ट ने पहले से सैरेडॉन सहित तीन दवाओं से बैन हटा दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस भेजा है और बैन के संबंध में जवाब मांगा है. अब इन तीन दवाओं को बाजार में बेचा और खरीदा जा सकता है. हालांकि इस आदेश्‍ा के बाद अन्‍य 325 दवाओं पर बैन अभी बरकरार है.

बता दें कि पिछले साल सितंबर में केंद्र सरकार ने 328 फिक्स्‍ड डोज कॉम्बिनेशन पर बैन लगा दिया था. इसके चलते दवाओं के 6 हजार ब्रांड पर बैन लग गया. हालांकि बैन के बावजूद ये दवाएं बाजार में मिल रही थीं. फिलहाल सुप्रीम कोर्ट ने  तीन दवाओं को प्रतिबंध से मुक्‍त कर दिया है.

क्या आपको मिलेगा मोदी केयर से 5 लाख का इंश्योरेंस, ऐसे करें चेक



क्या होती हैं एफडीसी दवाएं ?
एफडीसी का मतलब है फिक्स्ड डोज कांबिनेशन. ये दवाएं दो या ज्यादा दवाओं का कांबिनेशन होती हैं. अमेरिका और कई अन्य देशों में एफडीसी दवाओं की प्रचुरता पर रोक है. जितनी ज्यादा एफडीसी दवाएं भारत में बिकती हैं, उतनी शायद ही किसी विकसित देशों में इस्तेमाल होती हों. इन दवाओं के अनुपात और इनसे होने वाले असर पर काफी सवाल उठते रहे हैं.

रोज 14 रुपए खर्च कर पाएं 15 लाख का जीवन बीमा, LIC का खास प्लान

जिन दवाओं पर बैन लगाया गया है, उसमें लोकप्रिय दवाएं कौन सी हैं?
दर्द निवारक सैरेडॉन, स्किन क्रीम पैंडर्म, कॉबिनेशन मधुमेह की दवा ग्लूकोनॉर्म पीजी, एंटिबयोटिक ल्युपिडिक्लोक्स, टैक्सिम एजेड, पैरासिटामोल.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज