Survey: काेविड के चलते टू-टियर शहराें में दाे गुना बढ़ा ऑनलाइन प्रॉपट्री सेलिंग का ट्रेंड

 मकान और घर मालिक अपनी प्रॉपर्टी का बकायदा प्राेफेशनल फाेटाे शूट करवा रहे है

मकान और घर मालिक अपनी प्रॉपर्टी का बकायदा प्राेफेशनल फाेटाे शूट करवा रहे है

मैजिकब्रिक्स ने यह सर्वे भारत के 500 शहराें में करवाया था, जिसमें जमीन और घर बेचने वाले मालिकाें के बीच यह जानने की काेशिश की गई कि पेंडेमिक के दाैरान उन्हाेंने अपनी प्रॉपर्टी काे किस तरह से बेचा या अभी भी बेच रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2021, 6:06 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. देश में पिछले साल काेविड 19 (covid-19)के बढ़ते मामलाें के साथ लगे लॉकडाउन (Lockdown)ने ऑनलाइन प्रॉपर्टी सेलिंग (Online property selling ) के ट्रेंड काे दाे गुना तक बढ़ा दिया. खास ताैर से 2 टियर शहराें जैसे लखनऊ, काेयम्बटूर और जयपुर जैसे शहराें में. इस बात का खुलासा हाल ही में हुए एक सर्वे में हुआ है. मैजिकब्रिक्स (Magicbricks) ओनर सर्विस कंज्यूमर स्टडी द्वारा किए गए सर्वे में यह बात सामने आई है कि रियल स्टेट (Real estate)में डिजिटल एडॉप्शन बढ़ा है मकान और घर मालिक दाेनाें ही ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल प्रॉपर्टी सेल और खरीदने में कर रहे है.



मैजिकब्रिक्स ओनर सर्विस कंज्यूमर के अनुसार यह स्टडी यह देखने के लिए करवाई गई थी कि भारतीय पैंडमिक के दाैरान अपने घर किस तरह से बेच रहे है. जिसमें यह भी सामने आया कि मकान और घर मालिक अपनी प्रॉपर्टी का बकायदा प्राेफेशनल फाेटाे शूट करवा रहे है जिससे ऑनलाइन पाेस्ट करने पर बायर्स काे अच्छे से प्रॉपर्टी के बारे में समझ में आ जाए. इसके साथ प्रॉपर्टी की डिस्क्रिपशन पर भी खासा ध्यान दिया जा रहा है. जिससे एड काे ऑनलाइन पाेस्ट करने के बाद उसका अच्छा रिस्पांस मिल सके. यहीं नहीं बल्कि अब रिलेशनशिप मैनेजर रखने का ट्रेंड भी बढ़ा है जाे कि उनकी प्रॉपर्टी बिकवाने में उनकी मदद भी करे. इस तरह से 2 टियर शहराें में सेलिंग के लिए डिजिटल रूट की तरफ लाेगाें का झुकाव बढ़ा है. 



ये भी पढ़ें - रेल यात्री कृपया ध्‍यान दें... होली के लिए चलाई जाएंगी 100 से ज्‍यादा फेस्टिवल स्‍पेशल ट्रेनें




500 शहराें में हुआ सर्वे



जानकारी के मुताबिक मैजिकब्रिक्स ने यह सर्वे  भारत के 500 शहराें में करवाया था जिसमें जमीन और घर बेचने वाले मालिकाें के बीच यह जानने की काेशिश की गई कि पेंडेमिक के दाैरान उन्हाेंने अपनी प्रॉपर्टी काे किस तरह से बेची या अभी भी बेच रहे है. जिसमें यही सामने आया कि डिजिटल प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल इस काम के लिए इन शहराें में दाे गुना बढ़ गया है. इनमें जाे शहर सबसे टॉप में थे उनमें जयपुर, काेयम्बटूर, वडाेदरा, इंदाैर, नागपुर, भुवनेश्वर, विशाखापट्टनम, पटना और भाेपाल शामिल थे जिसमें सबसे आगे लखनऊ रहा.



इन इलाकाें में सबसे ज्यादा इस्तेमाल 





रिपाेर्ट में उन लाेकेलिटी या कहे इलाकाें की जानकारी भी दी गई है जहां की प्रॉपर्टी सबसे ज्यादा ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिए बेची गई. इनमें लखनऊ में गाेमतीनगर और इंद्रानगर, जयपुर में मानसराेवर, काेयम्बटूर में सरावनापट्टी, भुवनेश्वर में पटिया, इंदाैर में सुपर काेरिडाेर, नागपुर में मनीश नगर, वडाेदरा में वस्न भायली राेड, पटना में सगुना माेर और भाेपाल में हाेशंगाबाद राेड शामिल है.



ये भी पढ़ें -  31 मार्च से पहले करा लें हेल्थ चेकअप, ऐसे मिल सकता है टैक्स में छूट का लाभ





प्रॉपर्टी के लिए एक साथ छह खरीददार तैयार



स्टडी के अनुसार प्रॉपरटीज काे बेचने के समय की बात करे ताे 0-3 महीने में 57 फीसदी संपत्ति बिकी, 3-6 महीने में 27 फीसदी और छह महीने से ज्यादा के समय में 16 प्रतिशत. क्याेंकि पेंडमिक के चलते ओनर्स और सेलर ने डिजिटल की तरफ रूख किया इसका फायदा यह हुआ कि 40 प्रतिशत विक्रेताओं के पास उनकी प्रॉपर्टी खरीदने के लिए औसतन छह लाेग तैयार मिले. बात यदि टियर 1 शहराें की करे ताे इसमें बैंगलाेर इस सूची में सबसे आगे है जिसके बाद हैदराबाद, चैन्नई, पुणे और मुंबई शामिल है.    


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज