अपना शहर चुनें

States

राशन कार्ड से जुड़ी जरूरी खबर, इस काम को पूरा करने के लिए 30 जनवरी है आखिरी मौका

नए राशन कार्ड के साथ-साथ पुराने राशन कार्ड में भी नाम जोड़ने और हटाने का काम चल रहा है.
नए राशन कार्ड के साथ-साथ पुराने राशन कार्ड में भी नाम जोड़ने और हटाने का काम चल रहा है.

One Nation One Ration Card Scheme: अगर आपका राशन कार्ड (Ration Card) कुछ दिनों से सस्पेंड (Suspended) चल रहा है या किसी कारणवश रद्द हो गया है तो आप अभी भी राशन कार्ड दोबारा से चालू करवा सकते हैं. बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और मध्य प्रदेश सहित देश के कई राज्यों में यह काम अभी चल रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2021, 5:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की कई राज्यों (States) में नए राशन कार्ड (Ration Card) बनाने का काम इस समय जोर-शोर से चल रहा है. नए राशन कार्ड के साथ-साथ पुराने राशन कार्ड में भी नाम जोड़ने और हटाने का काम चल रहा है. ऐसे में अगर आपका राशन कार्ड कुछ दिनों से सस्पेंड (Suspended Ration Card) चल रहा है या किसी कारणवश रद्द हो गया है तो आप अभी भी राशन कार्ड दोबारा से चालू करवा सकते हैं. बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और मध्य प्रदेश सहित देश के कई राज्यों में यह काम अभी चल रहा है. उत्तराखंड में आप 30 जनवरी तक जिले के आपूर्ति कार्यालय में आवेदन कर सकते हैं. इसी तरह बिहार और उत्तर प्रदेश के भी आपूर्ति कार्यलयों में या ऑनलाइन आवेदन कर यह काम पूरा कर सकते हैं.

सस्पेंड हुए राशन कार्ड ऐसे बना सकते हैं
गौरतलब है कि इसी साल से पूरे देश में वन नेशन वन राशन कार्ड योजना पूरी तरह से लागू होने जा रहा है. ऐसे में कई राज्यों में राशन कार्ड में दर्ज परिवार के प्रत्येक सदस्यों का आधार कार्ड आपूर्ति विभाग को उपलब्ध नहीं कराया गया था, जिससे कई राशन कार्डधारकों का राशन कार्ड संस्पेंड हो गया. अधूरे दस्तावेज के कारण कई लोगों का राशन कार्ड ऑटोमेटिक ही रद्द हो गया. कई ऐसे लोग थे, जिन्होंने सरकारी राशन कई महीनों से नहीं ली थी. इस तरह के लोगों के लिए ही आपूर्ति विभाग ने राशन कार्ड बहाली के लिए आखिरी मौका दे रही है.

बिना राशन कार्ड धारकों को भी अब इस तरकीब के जरिए मुफ्त में मिलेगा 5 किलो अनाज और चावल.how to get free Ration, without ration cards get ration, without ration card get ration, get free rice, ration card, ration card, ration card online,how to apply Ration card, Ration card benefits, One Nation One Ration card, ration cards online registration, PM Garib Kalyan Ann Yojana, one nation one ration card scheme, one nation one ration card benefits, one nation one ration card, pm modi, locdown, pds, वन नेशन वन राशन कार्ड, वर्तमान में यह करीब 20 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में लागू है, वन नेशन वन राशन कार्ड स्कीम क्या है, वन नेशन वन राशन कार्ड के फायदे, वन नेशन वन राशन कार्ड का क्या मतलब, वन नेशन वन राशन कार्ड, राशन कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन बिना राशन कार्ड,बिना राशन कार्ड वालों को कैसे मिलेगा राशन, मुफ्त,राशन कार्ड, राशन कार्ड
जिनके पास राशन कार्ड नहीं है उनको भी 5 किलो मुफ्त गेंहू या चावल और एक किलो चना दिया जाएगा.

केंद्र सरकार के निर्देश पर फर्जी राशन कार्डधारकों पर शिकंजा


बता दें कि पिछले कई दिनों से देश में केंद्र सरकार के निर्देश पर फर्जी राशन कार्डधारकों पर शिकंजा कसना शुरू हो गया है. कई राज्यों ने फर्जी राशन कार्डधारकों के आवदेनों को रद्द करना भी शुरू कर दिया है. पिछले साल ही दिसंबर महीने में झारखंड सरकार ने 2 लाख 85 हजार 299 ग्रीन राशन कार्डधारकों (Green Ration Card Holders) के आवेदनों को रद्द कर दिया था. यह आवेदन वैसे लोगों ने किया था, जो इसके लिए योग्य नहीं थे. झारखंड सरकार के खाद्य आपूर्ति विभाग के मुताबिक ग्रीन कार्ड के लिए आवेदन करने वाले इन लोगों के पास पक्का मकान, गाड़ी, परिवार के कई सदस्यों की सरकारी नौकरी के साथ इनके परिवार के कई सदस्य पेंशन भी ले रहे थे. खाद्य आपूर्ति विभाग ने जब इन लोगों के आवेदनों की जांच की तो कई और चौंकाने वाले खुलासे हुए थे.

ये भी पढ़ें: दिल्ली सरकार 2025 तक बनाएगी 89,400 फ्लैट्स, जानें किन परिवारों को जल्द मिल जाएगा पक्का मकान



इन राज्यों में राशन कार्ड बनाने का काम चल रहा है
ऐसे में बिहार, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और झारखंड जैसे राज्यों में राशन कार्ड बनाने का काम जोर-शोर से चल रहा है. आप जिले के खाद्य आपूर्ति विभाग या बिहार जैसे राज्यों में जीविका केंद्रों पर राशन कार्ड बनवा सकते हैं या नाम जुड़वा या हटवा सकते हैं. इसके साथ ही यह सुविधा ऑनलाइन भी उपलब्ध है. पंचायत के पीडीएस केंद्रों पर राशन कार्ड में नाम जुड़वाने या हटाने के फॉर्म मिल रहे हैं. आवेदक अगर राशन कार्ड में किसी भी तरह का बदलाव करता है तो उसको कई तरह की जानकारियां साझा करनी होंगी. आवेदक को आधार कार्ड नंबर, मोबाइल नंबर, बैंक खाता का डिटेल, आवासीय और वोटर आईकार्ड के साथ-साथ स्थानीय स्तर पर और कई कागजात जमा कराने होते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज