होम /न्यूज /व्यवसाय /45% डिस्काउंट के साथ मिलेगा सुजलॉन एनर्जी का शेयर, जानें कैसे खरीद सकेंगे ये सस्ता स्टॉक

45% डिस्काउंट के साथ मिलेगा सुजलॉन एनर्जी का शेयर, जानें कैसे खरीद सकेंगे ये सस्ता स्टॉक

पिछले एक महीने में इस शेयर ने लगभग 11 फीसदी का रिटर्न दिया है.

पिछले एक महीने में इस शेयर ने लगभग 11 फीसदी का रिटर्न दिया है.

कंपनी के निदेशक मंडल ने 240 करोड़ इक्विटी शेयर 5 प्रति शेयर की कीमत पर जारी करने की मंजूरी दे दी है. सुजलॉन एनर्जी के श ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

राइट इश्यू करीब 45 प्रतिशत के डिस्काउंट पर खरीदा जा सकता है.
कंपनी बोर्ड ने 5 प्रति शेयर की कीमत पर राइट इश्यू की मंजूरी दी है.
कंपनी इस तरह शेयर बिक्री से कंपनी 1,200 करोड़ रुपये जुटाएगी.

नई दिल्ली. आज शेयर बाजार खुलने पर सुजलॉन एनर्जी के शेयर सबसे ज्यादा फोकस में हैं. इसकी वजह यह है कि कंपनी के बोर्ड ने कंपनी के शेयरों के राइट इश्यू के जरिए 1200 करोड़ का फंड जुटाने की मंजूरी दे दी है. नए एक्सचेंज फाइलिंग के अनुसार, कंपनी के निदेशक मंडल ने 240 करोड़ इक्विटी शेयर 5 प्रति शेयर की कीमत पर जारी करने की मंजूरी दे दी है. सुजलॉन एनर्जी के शेयर की कीमत सोमवार को 11:26 मिनट तक 8.40 रुपये है. इसका मतलब है कि शेयरों का राइट इश्यू करीब 45 प्रतिशत के डिस्काउंट पर खरीदा जा सकता है.

कंपनी ने शेयर बाजारों को दी गई जानकारी में कहा कि कंपनी के बोर्ड ने 25 सितंबर को हुई बैठक में 240 करोड़ शेयर जारी करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है. राइट्स इश्यू होने से इन शेयरों को खरीदने का अधिकार मौजूदा शेयरधारकों को ही होगा. कंपनी दो रुपये के मूल्य वाले 240 करोड़ शेयरों की पेशकश 5 रुपये प्रति शेयर पर देगी. इस तरह इस शेयर बिक्री से कंपनी 1,200 करोड़ रुपये जुटाएगी.

ये भी पढ़ें- ब्रोकरेज ने दी इन 5 बैंकिंग स्टॉक्स पर दांव लगाने की सलाह, 28 फीसदी तक मिल सकता है मुनाफा

1 महीने में दिया 11 प्रतिशत रिटर्न
सुजलॉन एनर्जी ने कहा कि शेयरधारक 21 पूरी तरह पेड इक्विटी शेयरों के लिए 5 राइट्स शेयरों को जारी किया जाएगा. इसका मतलब यह है कि मौजूदा 21 शेयरों पर 5 इश्यू राइट्स खरीदी जा सकते हैं. इसके अलावा कंपनी ने बताया कि अगर किसी पात्र इक्विटी शेयरधारक की शेयरधारिता 5  या अधिक है, तो ऐसे शेयरधारक कम से कम 1 इक्विटी शेयर के हकदार होंगे.

मिस्टेक से लगा था 20 प्रतिशत का अपर सर्किट
सुजलॉन के शेयर साल 2022 के दौरान बेयर्स के पसंदीदा ‘सेल ऑन राइज’ स्टॉक बने रहे. पिछले एक महीने में इस शेयर ने लगभग 11 फीसदी का रिटर्न दिया है, लेकिन साल-दर-साल के हिसाब से देखें तो यह स्टॉक लगभग 15 फीसदी लुढ़क गया है. वहीं, सितंबर की शुरुआत में सुजलॉन एनर्जी के शेयर पर एक टाइपिंग मिस्टेक की वजह से 20% का अपर सर्किट लगा था. हालांकि, बाद में एसबीआई कैपिटल मार्केट्स ट्रस्टी ने स्पष्ट किया था कि उसके पास जो अतिरिक्त शेयर हैं वो अडानी ग्रीन एनर्जी के नहीं बल्कि सुजलॉन एनर्जी के हैं. इसके पहले एसबीआई ट्रस्टी ने कहा था कि उसके पास जो अतिरिक्त शेयर हैं वे अडानी ग्रीन एनर्जी के हैं. ट्रस्टी ने कहा है कि वो एक टाइपिंग मिस्टेक था.

ये भी पढ़ें- नवरात्रि से पहले सोना हुआ महंगा, चांदी हुई सस्ती, जानें पूरे हफ्ते के सर्राफा बाजार का हाल

आईपीओ से कैसे अलग होता है राइट इश्यू
राइट्स इश्यू आईपीओ से अलग होता है. आईपीओ को कोई नया इन्वेस्टर खरीद सकता है. इसमें कोई सीमा नहीं होती.  स्टॉक मार्केट में लिस्ट कोई भी कंपनी एक्स्ट्रा पैसे जुटाने के लिए राइट्स इश्यू लेकर आती है. राइट्स इश्यू को सिर्फ कंपनी के मौजूदा शेयरहोल्डर की खरीद सकते हैं. यह शेयर किस अनुपात में दिए जाएंगे और कितने दिनों में खरीदना है यह कंपनी बोर्ड तय करता है.

Tags: Business news, Business news in hindi, Share market, Suzlon Energy

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें