होम /न्यूज /व्यवसाय /ड्रोन से होगी ग्रोसरी की डिलीवरी, दिल्ली-बेंगलुरु में Swiggy का पायलट प्रोजेक्ट शुरू

ड्रोन से होगी ग्रोसरी की डिलीवरी, दिल्ली-बेंगलुरु में Swiggy का पायलट प्रोजेक्ट शुरू

स्विगी ड्रोन के जरिए डिलीवरी सर्विस मजबूत करेगी.

स्विगी ड्रोन के जरिए डिलीवरी सर्विस मजबूत करेगी.

ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लेटफॉर्म स्विगी डिलीवरी सर्विस को और बेहतर बनाने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल करेगी. जून में दिल्ली-बे ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी स्विगी (Swiggy) ने अपनी डिलीवरी सर्विस को और बेहतर बनाने के लिए ड्रोन के इस्तेमाल का फैसला किया है. कंपनी ने कहा है कि वह जल्द ही अपनी इंस्टैंट ग्रोसरी डिलीवरी सर्विस ‘इंस्टामार्ट’ (Instamart) के लिए ड्रोन का इस्तेमाल शुरू करेगी. स्विगी इनके जरिए अपने डिलीवरी सिस्टम के बीच के हिस्से को मजबूत करेगी. फिलहाल ड्रोन से सिर्फ डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर तक सामान पहुंचाया जाएगा.

इस व्यवस्था के तहत स्विगी अपने डार्क स्टोर तक सामान पहुंचाने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल करेगी. दरअसल, डार्क स्टोर डिलीवरी को सपोर्ट करने के लिए स्टोर या डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर होते हैं. ऐसे स्टोर से ही कस्टमर्स तक सामान पहुंचता है. दूसरे शब्दों में कहें, तो डार्क स्टोर एक छोटा फुलफिलमेंट सेंटर है, जिसका उपयोग अल्ट्रा-फास्ट डिलीवरी की सुविधा के लिए किया जाता है. स्विगी ने एक ब्लॉगपोस्ट में स्पष्ट किया है कि इन डार्क स्टोर से कस्टमर तक सामान पहुंचाने का काम वैसे ही होगा, जैसे अभी हो रहा है.

इसका मतलब यह हुआ कि अभी आपके घर तक ड्रोन से सामान की डिलीवरी नहीं होगी, बल्कि यह डिलीवरी पार्टनर के जरिए आप तक पहुंचेगा. ब्लॉग के अनुसार, यह पायलट प्रोजेक्ट बेंगलुरु और दिल्ली एनसीआार में शुरू किया जा रहा है. ​स्विगी ने कहा है कि पायलट प्रोजेक्ट यह देखने के लिए शुरू किया जा रहा है कि डिलीवरी प्रक्रिया के बीच के हिस्से में जो सीधे कस्टमर से नहीं जुड़ा है, वहां ड्रोन कितना कारगर साबित होगा. साथ ही इसे कितना आगे बढ़ाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- देश के 5 शहरों में पायलट बेसिस पर ONDC शुरू, छोटे दुकानदारों को भी मिलेगा ई-कॉमर्स का फायदा

इन कंपनियों का सेलेक्शन
स्विगी के मुताबिक, इस पायलट प्रोजेक्ट के लिए गरुड़ एयरोस्पेस, स्काईएयर मोबिलिटी और मारुत ड्रोनटेक का सलेक्शन किया गया है. पहले चरण में गरुड़ बेंगलुरु में जबकि स्काईएयर दिल्ली एनसीआर में जल्द पायलट प्रोजेक्ट शुरू करेंगी. वहीं, दूसरे चरण में एएआरए, टेक इगल कंर्सोशिया और मारुत पहले फेज से मिली जानकारी से आधार पर अपना काम आगे बढ़ाएगी. स्विगी ने कहा है कि उसे ड्रोन डिलीवरी सर्विस के लिए 345 प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं.

Tags: Business news in hindi, Drone, Swiggy

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें