Home /News /business /

SBI ने फ्री की ये सर्विस, 28 फरवरी तक नहीं लेगा चार्ज

SBI ने फ्री की ये सर्विस, 28 फरवरी तक नहीं लेगा चार्ज

SBI ने घर खरीदने वालों को बड़ा तोहफा दिया है. SBI ने होम लोन पर प्रोसेसिंग फीस जीरो कर दी है.

SBI ने घर खरीदने वालों को बड़ा तोहफा दिया है. SBI ने होम लोन पर प्रोसेसिंग फीस जीरो कर दी है.

SBI ने घर खरीदने वालों को बड़ा तोहफा दिया है. SBI ने होम लोन पर प्रोसेसिंग फीस जीरो कर दी है.

    देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने ग्राहकों को बड़ा तोहफा दिया है. SBI ने होम लोन ट्रांसफर कराने परर प्रोसेसिंग फीस जीरो कर दी है. मतलब साफ है कि अगर आप किसी भी बैंक का होम लोन एसबीआई में ट्रांसफर कराते हैं तो आपको कोई चार्ज नहीं देना होगा. बता दें इस ऑफर का फायदा 28 फरवरी 2019 तक उठाया जा सकता है. (ये भी पढ़ें: खुशखबरी! SBI के ग्राहकों को पहली बार मिला ये अधिकार, खुद बनाएं अपने ATM के नियम)

    खत्म की प्रोसेसिंग फीस- जब आप लोन ट्रांसफर करते हैं तो इससे जुड़े भी कई खर्च होते हैं. इसमें ब्याज का भुगतान, प्रोसेसिंग फीस, एडमिनिस्ट्रेटिव चार्जेज़, प्रीपेमेंट पेनल्टीज समेत अन्य शामिल हैं. SBI ने लोन ट्रांसफर कराने पर लगने वाले प्रोसेसिंग चार्ज को खत्म कर दिया है.

    बैंक की ओर दी गई जानकारी के मुताबिक, 28 फरवरी 2019 तक होम लोन ट्रांसफर कराने वालों पर ये चार्ज अप्लाई नहीं होंगे. (ये भी पढ़ें: SBI ग्राहक ध्यान दें! बैंक खाते में नए तरीके से हो रही पैसों की चोरी..)



    होम लोन से जुड़े सवालों के जवाब-

    कितना मिलेगा होम लोन- लोन की प्रक्रिया शुरू करने से पहले इस बात का आंकलन करें कि आप की कमाई कितनी है और उस हिसाब से बैंक कितना लोन दे सकते हैं. आपकी लोन लेने की क्षमता उसे चुकाने की कैपेसिटी पर निर्भर करती है. यह आपकी मासिक कमाई, खर्च और परिजनों की कमाई, संपत्ति, देनदारी, आय में स्थिरता जैसे मसलों पर निर्भर करती है.

    बैंक सबसे पहले यह देखते हैं कि आप समय पर लोन चुका पाएंगे या नहीं. हर महीने आपके हाथ में जितनी अधिक रकम आएगी, आपके लोन की राशि उतनी बढ़ती जाएगी. आमतौर पर कोई बैंक या कर्ज देने वाली कंपनी यह देखती है आप मासिक आमदनी का 50 फीसदी लोन की किस्त के रूप में दे पाएंगे या नहीं. लोन की अवधि और ब्याज दर पर भी लोन अमाउंट निर्भर करता है. इसके अलावा बैंक लोन के लिए उम्र की ऊपरी सीमा भी फिक्स कर चलते हैं.

    ये भी पढ़ें: सस्ता सोना खरीदने का शानदार मौका, इन शहरों में होगी बंपर नीलामी

    लोन के लिए कौन से डॉक्युमेंट चाहिए- लोन के एप्लिकेशन फॉर्म में ही साथ लगाए जाने वाले डॉक्यूमेंट की चेकलिस्ट लगी होती है. इसके साथ ही आपको फोटो लगानी होती है. घर खरीदने के क़ानूनी कागजात से लेकर बैंक आपसे आइडेंटिटी और रेजिडेंस प्रूफ के साथ सैलरी स्लिप (ऑफिस से सत्यापित और खुद से अटेस्टेड) और फॉर्म 16 या आयकर रिटर्न के साथ बैंक का पिछले छह महीने की स्टेटमेंट तक देना पड़ता है. लोन देने वाले कुछ संस्थान लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी, शेयर के कागजात, एनएससी, म्युच्युअल फंड यूनिट, बैंक डिपॉजिट या दूसरे निवेश के कागजात भी गिरवी के तौर पर मांगते हैं.

    ये भी पढ़ें: ग्राहक ध्यान दें! SBI भी बदल चुका है एफडी से जुड़ा ये नियम!


    लोन मंजूर होना और जारी होने में क्या अंतर है- अगर बैंक ने आपका आवेदन स्वीकार कर लिया और उस हिसाब से लोन देने का फैसला कर लिया तो सैंक्शन लेटर में लोन की रकम, अवधि और ब्याज दरों आदि के बारे में जानकारी होती है. इसमें ही लोन की शर्त के बारे में जानकारी होती है. जब वास्तव में आपके हाथ में लोन की रकम आ जाती है तो इसे डिस्बर्समेंट कहते हैं.

    Tags: Business news in hindi, Buying a home, Home loan EMI, Largest lender SBI, Sbi, SBI Bank, SBI loan

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर