• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • म्यूचुअल फंड में एसआईपी के जरिए पैसा लगाने वालों के लिए बड़ी खबर! आसान हुआ ये नियम

म्यूचुअल फंड में एसआईपी के जरिए पैसा लगाने वालों के लिए बड़ी खबर! आसान हुआ ये नियम

कई एसेट मैनेजेमेंट कंपनियां (AMC) SIP निवेश को पॉज का विकल्प देती हैं. इसका मतलब है कि आप कुछ समय के लिए आप अपना SIP निवेश को रोक सकते हैं. लेकिन, ​इसके निवेशकों को लिखित में पहले से ही रिक्वेस्ट करना होता है.

कई एसेट मैनेजेमेंट कंपनियां (AMC) SIP निवेश को पॉज का विकल्प देती हैं. इसका मतलब है कि आप कुछ समय के लिए आप अपना SIP निवेश को रोक सकते हैं. लेकिन, ​इसके निवेशकों को लिखित में पहले से ही रिक्वेस्ट करना होता है.

कई एसेट मैनेजेमेंट कंपनियां (AMC) SIP निवेश को पॉज का विकल्प देती हैं. इसका मतलब है कि आप कुछ समय के लिए आप अपना SIP निवेश को रोक सकते हैं. लेकिन, ​इसके निवेशकों को लिखित में पहले से ही रिक्वेस्ट करना होता है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. लंबे समय तक निवेश के लिए अधिकतर लोग सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) को चुनते हैं. SIP ने म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेश को काफी आसान बना दिया है. SIP की सबसे खास बात है कि कंपाउंडिंग और औसत भाव पर यूनिट खरीदने का मौका मिलता है. कई बार निवेश के लक्ष्यों को ध्यान में रखते हुए ​SIP में कुछ बदलाव करने की जरूरत होती है. ऐसे में आपके लिए जरूरी है कि आप इससे जुड़ी जरूरी बातें जान लें.

    रोक सकते हैं SIP
    कई एसेट मैनेजेमेंट कंपनियां (AMC) SIP निवेश को पॉज का विकल्प देती हैं. इसका मतलब है कि आप कुछ समय के लिए आप अपना SIP निवेश को रोक सकते हैं. लेकिन, ​इसके निवेशकों को लिखित में पहले से ही रिक्वेस्ट करना होता है. उन्हें इस बात की जानकारी देनी पड़ती है कि वो एक महीने या 3 महीने के लिए एसआईपी रोकना चाह रहे हैं.

    ये भी पढ़ें: SBI से NEFT के जरिए फंड ट्रांसफर करना हुआ आसान, जानें कितना देना होगा चार्ज

    SIP निवेश की रकम भी घटा या बढ़ा सकते हैं
    आप चाहें तो अपनी जरूरत के हिसाब से अपने SIP के ​निवेश को घटा या बढ़ा सकते हैं. कई AMC SIP में बदलाव करने का विकल्प देती हैं. इसके लिए भी आपको निर्देश देना पड़ता है. इसके लिए आप अपने नजदीकी AMC कार्यालय में जमा करना होगा. इस फॉर्म में आपको ये जानकारी देनी होगी कि SIP निवेश की पहला रकम क्या था और क्या नया निवेश रकम चाहते हैं.

     

    SIP कैंसिल करने का भी विकल्प
    SIP इंस्ट्रक्शन को कैंसल करने के लिए आपको लिखित में एक रिक्वेस्ट देना पड़ता है. यह रिक्वेस्ट भी आप AMC को देंगे. इसका एक दूसरा विकल्प है कि आपने जिस रजिस्टर्ड बैंक खाते (Registered Bank Account) में के जरिए आपने ऑटो डेबिट का विकल्प दे रखा है, उस खाते में पैसे डालना रोक दें. बता दें कि​ अगर खाते में पर्याप्त पैसा नहीं है तो तीन से चार महीनों के बाद यह सिलसिला लगातार बनता रहता है तो एएमसी आपकी SIP रोक देगी. हालां​कि, इस बीच खाते में पैसा रखने के लिए आपको लगाता रिमाइंडर आते रहेंगे.

     

    आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि SIP में कोई भी बदलाव करने के लिए आपको 30 दिन पहले रिक्वेस्ट देना होगा. साथ ही आपको इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि क्या आपकी एसेट मैनेजमेंट कंपनी (Asset Management Company) की बंदिशें क्या है. क्या वे ऐसे विकल्प मुहैया कराते हैं या नहीं.

    ये भी पढ़ें: महंगे पेट्रोल-डीजल के लिए हो जाएं तैयार, तेल कंपनियां इतने रुपये बढ़ाने जा रहीं दाम!

    ये भी पढ़ें: 31 दिसंबर से पहले निपटा लें ये 4 काम, नहीं तो नए साल में होगी परेशानी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज