शताब्‍दी जैसी सुविधाओं के साथ, दिल्ली से बनारस के बीच चलेगी ट्रेन-18

सूत्रों के मुताबिक पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन यानि 25 दिसम्बर से यह ट्रेन चलनी शुरू होगी.

Chandan Kumar | News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 8:02 AM IST
शताब्‍दी जैसी सुविधाओं के साथ, दिल्ली से बनारस के बीच चलेगी ट्रेन-18
दिल्ली से बनारस के बीच चलेगी T-18 ,
Chandan Kumar | News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 8:02 AM IST
भारत की सबसे आधुनिक ट्रेन 'T-18' दिल्ली से बनारस के बीच चलेगी. सूत्रों के मुताबिक पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन यानि 25 दिसम्बर से यह ट्रेन चलनी शुरू होगी. फिलहाल इस ट्रेन का ट्रायल कोटा-सवाई माधोपुर के बीच चल रहा है. इस रूट पर ट्रेन ने 180 किलोमीटर की स्पीड से सफल ट्रायल भी कर लिया है. अगले 2-3 दिनों में इसका ट्रायल ख़त्म हो जाएगा. ट्रायल के दौरान इस ट्रेन के जितने पैरामीटर को रिकॉर्ड किया गया है, उसके मुताबिक T-18 को पटरियों पर उतारने के लिए कमिश्नर रेलवे सेफ्टी की अनुमति मिलेगी.

ये भी पढ़ें: LIC की बेस्ट पॉलिसी! रोजाना सिर्फ 9 रुपये खर्च कर मिलेंगे 4.56 लाख रुपये

'T-18'बिना इंजन की ट्रेन है जो यूरोपीय तकनीक पर बनाई गई है. इसे चेन्नई के रेल कोच फैक्ट्री ने 100 करोड़ की लागत से 3 महीने में तैयार किया है. इस ट्रेन के 4 कोच पर एक पावर कार होता है और यह एक सेट के रूप में चलती है] इसलिए इसे ट्रेन सेट्स कहा जाता है. 2018 में निर्माण के कारण इसे ट्रेन 18 यानि 'T-18'नाम दिया गया है. मेट्रो ट्रेनों की तरह यह ट्रेन फौरन गति पकड़ लेती है और इसे ब्रेक लगाकर तुरंत रोका भी जा सकता है. आम ट्रेनों के मुकाबले इसका वजन करीब 300 टन कम होता है इसलिए इसे ज्यादा स्पीड भी दिया जा सकता है.

ये भी पढ़ें :- मेक इन इंडिया की सौगात, देश की पहली T-18 ट्रेन ट्रायल के लिए पहुंची मुरादाबाद

सूत्रों के मुताबिक़ 'T-18' को दिल्ली- भोपाल या दिल्ली-बनारस रूट पर चलाने पर लंबा विचार हुआ है. लेकिन बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटकों की रुचि बनारस पर होती है इसलिए यह बाज़ी बनारस ने जीत ली है. साथ ही बनारस प्रधानमंत्री मोदी का लोकसभा क्षेत्र है और ये बनारस के लिए एक बड़ा तोहफा है. भोपाल के मुकाबले बनारस रूट पर ज़्यादा ट्रेनों के परिचालन से इस रूट पर T-18 को चलाना आसान नहीं होगा. लेकिन रेलवे को भरोसा है कि यह ट्रेन 8 घंटे में दिल्ली से बनारस पहुंच जाएगी और उसी दिन वापस आ जाएगी.

इसे भी पढ़ें :- देश में बनी 'ट्रेन 18' का दूसरा ट्रायल आज, 180 KM की स्पीड पर होगा टेस्ट

सूत्रों के मुताबिक क़रीब 750 किलोमीटर की यात्रा के लिए ट्रेन नई दिल्ली से सुबह 6 बजे निकलेगी और दोपहर 2 बजे बनारस पहुंचेगी. जबकि वापसी में ट्रेन 18 दोपहर 2:30 पर बनारस से निकलकर रात 10:30 पर नई दिल्ली पहुंचेगी. ट्रेन 18 को शताब्दी ट्रेनों के विकल्प के तौर पर तैयार किया गया है और इसमें शताब्दी से भी बेहतर कई सुविधाएं मौजूद हैं. icf चेन्नई मार्च 2019 तक ऐसी एक और ट्रेन तैयार करने जा रहा है, जबकि रेलवे की कपूरथला और रायबरेली कोच फैक्ट्री को भी ट्रेन सेट्स बनाने के लिए तैयार किया जा रहा है. रेलवे भविष्य में ट्रेन सेट्स को इंटर सिटी (दो शहरों) के बीच चलाने का मन बना चुका है. ख़ास अलुमिनियम से बनने वाली ट्रेन 20 को राजधानी एक्सप्रेस के विकल्प के तौर पर भविष्य में चलाया जाएगा.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->