लाइव टीवी

खुशखबरी! जल्द बढ़ जाएगी आपकी सैलरी, सरकार करने वाली EPFO के नियमों में कई बड़े बदलाव

News18Hindi
Updated: December 9, 2019, 11:36 AM IST
खुशखबरी! जल्द बढ़ जाएगी आपकी सैलरी, सरकार करने वाली EPFO के नियमों में कई बड़े बदलाव
50 करोड़ लोगों को सामाजिक सुरक्षा देगी

केंद्र सरकार कामकाजी लोगों को प्रॉविडेंट फंड (Provident Fund) में योगदान घटाने का विकल्प दे सकती है. जिससे उनकी टेक होम सैलरी (Take Home Salary) बढ़ सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 9, 2019, 11:36 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नौकरीपेशा लोगों को जल्द ही बड़ी खुशखबरी मिल सकती है. केंद्र सरकार कामकाजी लोगों को प्रॉविडेंट फंड (Provident Fund) में योगदान घटाने का विकल्प देने पर विचार कर रही है, जिससे उनकी टेक होम सैलरी (Take Home Salary) बढ़ सके. बता दें कि लेबर मिनिस्ट्री के इस प्रस्ताव के मुताबिक, प्रॉविडेंट फंड में कंपनी का योगदान 12 प्रतिशत के मौजूदा स्तर पर बना रहेगा. ये पॉइंट सोशल सिक्यॉरिटी बिल 2019 में शामिल हैं, जिसे पिछले हफ्ते कैबिनेट ने मंजूरी दी थी. मंत्रालय ने एंप्लॉयीज प्रॉविडेंट फंड ऑर्गनाइजेशन (EPFO) और एंप्लॉयीज स्टेट इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन (ESIC) की मौजूदा स्वायत्तता को (Autonomy) बरकरार रखने का भी फैसला किया है, जबकि पहले उसने इन्हें कॉर्पोरेट जैसी शक्ल देने का प्रस्ताव दिया था.

इन लोगों को दी जाएगी सामाजिक सुरक्षा 
इस बिल के जरिए देश में 50 करोड़ लोगों को सामाजिक सुरक्षा देगी. इस विधेयक में कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (CSR) के तहत एक सामाजिक सुरक्षा कोष यानी सोशल सिक्यॉरिटी फंड बनाने की बात भी कही गई है. इसमें कहा गया है कि गिग वर्कर्स सहित सभी वर्कर्स को पेंशन, मेडिकल, बीमारी, मातृत्व, मृत्यु और अपंगता से जुड़े वेलफेयर बेनेफिट्स दिए जाएंगे.

ये भी पढ़ें: पुराने कपड़े बेचकर कर घर बैठे सकते हैं हजारों में कमाई, शरू करें ये बिज़नेस

सोशल सिक्योरिटी बिल को इसी हफ्ते संसद में पेश किया जाएगा
>> लेबर मिनिस्ट्री ने EPFO सब्सक्राइबर्स को नैशनल पेंशन सिस्टम में शिफ्ट करने का विकल्प देने का पिछला प्रस्ताव भी वापस ले लिया है. लेबर मिनिस्ट्री ने अपने फैसले के हक में EPFO से मिलने वाले ऊंचे रिटर्न और अन्य फायदों का जिक्र किया है.

>> जिन कंपनियों में 10 से कम मजदूर काम करते हैं, वे ESIC स्कीम के तहत स्वैच्छिक रूप से ये फायदे अपने वर्कर्स को दे सकती हैं. इसके साथ, फिक्स्ड टर्म कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्स प्रो-राटा बेसिस पर ग्रैच्युटी पाने के हकदार होंगे. उन्हें इसके लिए अब एक कंपनी में कम से कम 5 साल तक काम नहीं करना पड़ेगा. सोशल सिक्यॉरिटी कोड में 8 केंद्रीय श्रम कानूनों को समाहित किया गया है.>> यह भी कहा गया है कि EPFO में हर स्तर पर निवेशकों को टैक्स छूट मिलती है. माना जा रहा है कि सोशल सिक्योरिटी बिल को इसी हफ्ते संसद में पेश किया जाएगा. बिल के मुताबिक, जिन इकाइयों में कम से कम 10 मजदूर काम करते हैं, उन्हें ESIC के तहत वर्कर्स को कई फायदे देने होंगे और यह खतरनाक काम करने वाले वर्कर्स के लिए अनिवार्य होगा.

ये भी पढ़ें: खाते में पैसे नहीं रहने पर भी इस बैंक अकाउंट से निकाल सकते हैं पैसे!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 10:28 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर