लाइव टीवी

लॉकडाउन के चलते टाटा केमिकल्स समेत 3 कंपनियों ने बंद किए कारखाने

भाषा
Updated: March 25, 2020, 8:05 PM IST
लॉकडाउन के चलते टाटा केमिकल्स समेत 3 कंपनियों ने बंद किए कारखाने
संयंत्र 14 अप्रैल तक बंद

कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के चलते देशभर में लॉकडाउन की स्थिति को देखते हुए एफआरएफ (MRF), मैक्सिस इंडिया (Maxis India) और टाटा केमिल्स (Tata Chemicals) ने अपने संयंत्रों को बंद कर दिया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के चलते देशभर में लॉकडाउन की स्थिति को देखते हुए एफआरएफ (MRF), मैक्सिस इंडिया (Maxis India) और टाटा केमिल्स (Tata Chemicals) ने अपने संयंत्रों को बंद कर दिया है. टायर बनाने वाली कंपनी एमआरएफ और मैक्सिस इंडिया ने अपने संयंत्रों में 14 अप्रैल तक के लिए अस्थायी तौर पर काम रोक दिया है. वहीं, टाटा केमिकल्स लिमिटेड ने बुधवार को कहा कि उसने कोरोना वायरस महामारी के चलते आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में अपने संयंत्रों को बंद कर दिया है.

शेयर बाजार को दी जानकारी में एमआरएफ लिमिटेड ने कहा, देशभर में 21 दिन के लॉकडाउन को देखते हुए हमने अपने मुख्यालय, बिक्री कार्यालय और संयंत्रों को देशभर में इसके खत्म होने तक बंद करने का निर्णय किया है. इसी तरह मैक्सिस इंडिया ने भी अपने साणंद संयंत्र को 14 अप्रैल 2020 तक के लिए बंद कर दिया है. अपोलो टायर्स और सिएट मंगलवार को ही ऐसी घोषणा कर चुकी हैं.

ये भी पढ़ें: 10 करोड़ों लोगों के खाते में पैसे डालेगी सरकार, इस हफ्ते के अंत में हो सकती है घोषणा

टाटा केमिकल्स ने आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु के कारखाने किए बंद



टाटा केमिकल्स लिमिटेड ने बुधवार को कहा कि उसने कोरोना वायरस महामारी के चलते आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में अपने संयंत्रों को बंद कर दिया है. कंपनी ने गुजरात के मीठापुर कारखाने में उत्पादन घटा दिया है. टाटा केमिकल्स ने शेयर बाजार को बताया कि यह निर्णय सभी कर्मचारियों और हितधारकों की सुरक्षा और भलाई को ध्यान में रखकर किया गया है.

कंपनी ने कहा, आंध्र प्रदेश के मंबट्टू-नेल्लोर, तमिलनाडु के श्रीपेरंबुदूर और कुड्डलोर स्थित संयंत्रों में विनिर्माण कार्यों को बंद कर दिया है और गुजरात के मीठापुर में अपना कामकाज कम कम कर दिया है. टाटा केमिकल्स ने बताया कि यह निर्णय 24 मार्च 2020 से लागू है. कंपनी ने बताया कि वह टाटा नमक और सोडियम बाइकार्बोनेट के उत्पादन को सामान्य बनाए रखने की कोशिश कर रही है जो कई खाद्य और फार्मा उत्पादों को तैयार करने में काम आते हैं.

ये भी पढ़ें:

LPG रसोई गैस सिलेंडर की किल्लत को लेकर IOC का बयान, ग्राहकों के लिए उठाए बड़े कदम

कैबिनेट का बड़ा फैसला! 80 करोड़ लोगों को मिलेगा 2 रुपये किलो गेहूं, 3 रुपये किलो चावल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 8:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर