टाटा ग्रुप ने बिग बास्केट में खरीदी बड़ी हिस्सेदारी, अमेजन और फ्लिपकार्ट को मिलेगी टक्कर

रतन टाटा

रतन टाटा

टाटा डिजिटल (Tata Digital) ने ऑनलाइन ग्रॉसरी कंपनी बिगबास्केट (BigBasket) में मैज्योरिटी स्टेक का अधिग्रहण कर लिया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. टाटा संस प्राइवेट लिमिटेड की टाटा डिजिटल लिमिटेड (Tata Digital Ltd) ने अलीबाबा समर्थित देश की सबसे बड़ी ऑनलाइन ग्रॉसरी कंपनी बिग बास्केट (BigBasket) में बड़ी हिस्सेदारी हासिल की है. टाटा डिजिटल, ग्रुप की होल्डिंग कंपनी टाटा संस की 100 फीसदी स्वामित्व वाली अनुषंगी है. इस डील के साथ ही टाटा ग्रुप की अब रीटेल सेक्टर में अमेजन (Amazon) और फ्लिपकार्ट (Flipkart) जैसी कंपनियों से सीधी टक्कर का रास्ता साफ हो गया है.

टाटा डिजिटल के सीईओ प्रतीक पाल ने शुक्रवार को कहा, ''भारत में व्यक्तिगत उपभोग खर्च में सबसे बड़ा खर्च किराना के सामान कहा है. बिग बास्केट भारत की सबसे बड़ी ई-किराना कंपनी होने के नाते एक वृहद उपभोक्ता डिजिटल पारिस्थितिकी बनाने की हमारी रणनीति में पूरी तरह सही बैठती है.''

इस डील का मूल्य नहीं बताया गया है. भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग ने इससे पहले मार्च में टाटा डिजिटल द्वारा बिग बास्केट में 54.3 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण करने को मंजूरी दे दी थी. इससे पहले यह खबर आई थी कि टाटा आनलाइन किराना विक्रेता कंपनी में 80 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने पर बातचीत कर रहा है.

1,000 अरब डॉलर के कुल खुदरा बाजार में आधा हिस्सा किराने का
भारत के 1,000 अरब डॉलर के कुल खुदरा बाजार में आधा हिस्सा किराने का है. वर्ष 2021 में आनलाइन किराना बाजार का आकार 4.3 अरब डॉलर तक पहुंच जाने का अनुमान है. इससे पिछले साल यह 2.9 अरब डालर पर था.


बिग बास्केट की स्थापना 2011 में बेंगलुरु में हुई थी. तब से यह देश के 25 शहरों में अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुका है. बिग बास्केट के सीईओ हरि मेनन ने कहा, ''टाटा ग्रुप का हिस्सा बनने के बाद हम अपने भविष्य को लेकर काफी उत्साहित हैं. टाटा ग्रुप के साथ जुड़कर हम उपभोक्ता के साथ और बेहतर ढंग से जुड़ सकेंगे और अपनी आगे की यात्रा पर बढ़ सकेंगे.''

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज