Tata Group की इस कंपनी के शेयर ने निवेशकों को दिया 3000 फीसदी का मुनाफा, चेक करें डिटेल्‍स

Tata Group ने अपनी आईटी कंपनी टीसीएस को 2004 में शेयर बाजार में सूचीबद्ध कराया था.

Tata Group ने अपनी आईटी कंपनी टीसीएस को 2004 में शेयर बाजार में सूचीबद्ध कराया था.

टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन (N Chandrasekaran) ने टीसीएस की 17वीं वर्चुअल एनुअल मीटिंग (TCS AGM) में कहा कि हम डिमांड को पूरा करने के लिए तैयार हैं. कंपनी इसके लिए नए टैलेंट्स की भर्तियां भी जारी रखेगी. साथ ही इन-हाउस टैलेंट्स में भी निवेश करती रहेगी.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. टाटा समूह (Tata Group) की कंपनी टाटा कंसल्‍टेंसी सर्विसेस (TCS) ने 2004 में शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद से अब तक निवेशकों को 3000 फीसदी का मुनाफा दिया है. टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन (N. Chandrasekaran) ने टीसीएस की 17वीं वर्चुअल एनुअल मीटिंग (TCS AGM) में कहा कि अगर किसी निवेशक ने आज से 17 साल पहले कंपनी के आईपीओ (IPO) में 850 रुपये निवेश किया होगा तो अब उसकी वैल्यू 28,000 रुपये हो गई है. आसान शब्‍दों में समझें तो 17 साल में टीसीएस के शेयरहोल्‍डर्स को 3000 फीसदी से ज्‍यादा का मुनाफा हुआ है.

'कोरोना संकट के बीच कंपनी ने टेक्‍नोलॉजिकल अपग्रेडेशन किया'

चंद्नशेखरन ने टीसीएस के सीईओ एफसी कोहली की भी जमकर तारीफ की, जो 17 साल से कंपनी की कमान संभाले रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस लंबे समय में कोहली ने कई तकनीकी बदलावों की लहर को सफलतापूर्वक पार किया और सबसे आगे निकल गए. उन्होंने लगातार रिसर्च के साथ ही लोगों में भी निवेश किया, जिससे टीसीएस देश की नंबर एक आईटी कंपनी बनी. चंद्रशेखरन ने कोहली का आभार जताते हुए कहा कि उन्होंने अपने प्रभावी व्यक्तित्व से टीसीएस की अलग संस्‍कृति बनाई. टीसीएस ने महामारी के इस दौर में टेक्नोलॉजिकल अपग्रेडेशन किया और कस्टमर्स के सपनों को हकीकत में बदलने में मदद की.

ये भी पढ़ें- Tata अब इस ई-फार्मा कंपनी में करेगी निवेश, सुपर ऐप बनाने की योजना के तहत खरीदेगी मेज्योरिटी स्टेक
'टीसीएस ने महामारी के दौर में किया डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन'

टाटा संस के चेयरमैन चंद्रशेखरन ने कहा कि कंपनी ने महामारी के दौरान टेक्नोलॉजी इंफ्रास्ट्रक्चर में डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन किया. महामारी के मुश्किल वक्‍त में टीसीएस ने अपने बिजनेस मॉडल को इनोवेट किया और डेटा के साथ एनालिटिक्स पर फोकस किया. साथ ही क्लाउड इकोसिस्टम को भी ट्रांसफॉर्म किया. उन्होंने कहा कि हम डिमांड को पूरा करने के लिए तैयार हैं. कंपनी इसके लिए नए टैलेंट्स की भर्तियां भी जारी रखेगी. साथ ही इन-हाउस टैलेंट्स में भी निवेश करती रहेगी. बता दें कि टीसीएस में 4.88 लाख कर्मचारी काम करते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज