Home /News /business /

#AirIndia- JRD Tata को Air India से इस कदर था लगाव कि खुद बदल देते थे विमान में टाॅयलेट पेपर

#AirIndia- JRD Tata को Air India से इस कदर था लगाव कि खुद बदल देते थे विमान में टाॅयलेट पेपर

एअर इंडिया को दुनियाभर में देश की एयरलाइन कंपनी के तौर पर उसे पहचान दिलाने वाले शख्स जेआरडी टाटा (JRD TATA) हैं..

एअर इंडिया को दुनियाभर में देश की एयरलाइन कंपनी के तौर पर उसे पहचान दिलाने वाले शख्स जेआरडी टाटा (JRD TATA) हैं..

एअर इंडिया को दुनियाभर में देश की एयरलाइन कंपनी के तौर पर उसे पहचान दिलाने वाले शख्स जेआरडी टाटा (JRD TATA) हैं..

    नई दिल्ली. Air India का नाम तो आपने सुना ही होगा लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि इसे नाम देने वाले शख्स कौन थे? एअर इंडिया को उसका नाम, दुनियाभर में देश की एयरलाइन कंपनी के तौर पर उसे पहचान दिलाने वाले शख्स हैं- जेआरडी टाटा (JRD TATA). इन्हें उड़ने का शौक था और आज उनके इन्हीं शौक के चलते आज हम दुनियाभर में एअर इंडिया की फ्लाइट से उड़ान भर रहे हैं. बाद में एअर इंडिया सरकारी कंपनी बन गई लेकिन आज सालों बाद एक बार फिर एअर इंडिया को टाटा ग्रुप ने खरीद लिया. एअर इंडिया से जेआरटी टाटा को इस हद तक लगाव था कि वे एयरलाइन को बिल्कुल साफ सुथरा रखते थे और जरूरत पड़ने पर टाॅयलेट पेपर तक बदल देते थे.

    फ्लाइट में खुद बदलने गए थे टॉयलेट पेपर
    एअर इंडिया से उनका लगाव ही था जो खुद सफर के दौरान एक बार टॉयलेट पेपर तक चेक करते थे. दरअसल, एक बार उड़ान के दौरान वे खुद जाकर टॉयलेट में टॉयलेट पेपर बदलने चले गए थे. उस वक्त उनके साथ आरबीआई के पूर्व गवर्नर एल के झा सफर कर रहे थे. हाल ही में लिंक्डइन के ब्रांड कस्टोडियन हरीश भट्ट ने जेआरडी टाटा के जीवन से जुड़ी एक कहानी साझा की, इसमें बताया गया कि जब जेआरडी टाटा एयर इंडिया की यात्रा कर रहे थे, तभी उनके साथ आरबीआई के पूर्व गर्वनर एलके झा भी बैठे हुए थे. उसी वक्त वे काफी समय के लिए कहीं चले गए थे जब वापस अपनी सीट पर बैठे तक एलके झा ने पूछा कि आप कहां चले गए थे? इस पर जेआरडी टाटा ने जवाब दिया कि टॉयलेट साफ ही कि नहीं, यह देखने गया था.उन्होंने कहा कि टॉयलेट पेपर ठीक से लगा नहीं था, उसे ठीक कर रहा था.

    ये भी पढ़ें- 68 साल बाद एअर इंडिया की ‘घर वापसी’, अब रतन टाटा संभालेंगे कमान, सरकार ने लगाई मुहर

    15 साल की उम्र में पहली बार बैठे थे प्लेन में..
    जेआरडी टाटा को हवाई जहाज इस कदर लगाव था कि वे 15 साल की उम्र में जब पहली बार प्लेन में बैठे थे तभी तय कर लिए थे कि करियर एविएशयन में ही बनाना है. जिसके बाद 24 साल की उम्र में वो भारत के पहले व्यक्ति थे, जिन्हें कॉमर्शियल पायलट का लाइसेंस मिला था. बता दें कि साल 1930 में उन्होंने आगा खान कम्पटीशन में भाग लेने के लिए भारत से इंग्लैंड के बीच अकेले सफर किया था. दो साल बाद ही उन्होंने टाटा एयरलाइंस (TATA airline) की स्थापना की थी, बाद में इसी का नाम बदल कर एअर इंडिया (Air India) रखा गया. उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने एयर इंडिया को बुलंदियों पर पहुंचाया. एयर इंडिया को बेहतर सर्विस के लिए जाना जाने लगा था.

    Tags: Air india, Air India Flights, Air India Sale, Business news in hindi, Ratan tata, Tata

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर