लाइव टीवी

वेलेंटाइन डे से एक दिन पहले रतन टाटा ने सुनाई अपनी लव स्टोरी, कहा- हो ही गई थी शादी लेकिन....

News18Hindi
Updated: February 13, 2020, 1:38 PM IST
वेलेंटाइन डे से एक दिन पहले रतन टाटा ने सुनाई अपनी लव स्टोरी, कहा- हो ही गई थी शादी लेकिन....
रतन टाटा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपनी लव स्टोरी शेयर की हैं.

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपनी लव स्टोरी के बारे में बताते हुए रतन टाटा ने कहा हैं कि ग्रेजुएट होने के बाद लॉस एंजेलिस में काम के दौरान उनकी शादी लगभग हो ही गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 13, 2020, 1:38 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत के बड़े उद्योगपति रतन टाटा (Ratan Tata) ने वेलेंटाइन डे (Valentine Day, हर साल 14 फरवरी को मनाया जाता है) के ठीक एक दिन पहले सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपनी लव स्टोरी के बारे में बताते हुए कहा है कि ग्रेजुएशन के बाद लॉस एंजेलिस (Los Angles) में काम करने के दौरान उनकी शादी लगभग हो ही गई थी. आपको बता दें कि रतन टाटा ने अपनी जिंदगी, माता-पिता के तलाक, दादी के साथ बिताए दिन, उनकी अच्‍छी सीख, कॉर्नेल यूनिवर्सिटी में पढ़ाई, प्‍यार और यहां तक कि ये रिश्‍ता क्‍यों खत्‍म हो गया जैसे कई मुद्दों पर फेसबुक पेज 'ह्यूमंस ऑफ बॉम्‍बे' (Facebook Page Humans of Bombay) से बातचीत की.

रतन टाटा की लव स्टोरी
ह्यूमंस ऑफ बॉम्‍बे' (Facebook Page Humans of Bombay) से तीन सीरीज वाली इस बातचीत में जाने-माने उद्योगपति और टाटा ग्रुप के चेयरमैन रहे रतन टाटा ने बताया कि आर्किटेक्‍चर में ग्रेजुएशन करने पर उनके पिता नाराज हो गए. इसीलिए रतन टाटा लॉस एंजेलिस में नौकरी करने लगे.

रतन टाटा की जवानी की तस्वीरें (इंस्टाग्राम)


वहां उन्‍होंने दो साल तक काम किया. उन दिनों को याद करते हुए रतन टाटा कहते हैं वो समय बहुत अच्‍छा समय था- मौसम बहुत खूबसूरत था, मेरे पास अपनी गाड़ी थी और मुझे अपनी नौकरी से प्‍यार था. लॉस एंजेलिस में रतन टाटा को प्‍यार हुआ और वो उस लड़की से शादी करने ही वाले थे. लेकिन, अचानक उन्‍हें वापस भारत आना पड़ा क्‍योंकि उनकी दादी की तबीयत ठीक नहीं थी.

ये भी पढ़ें-रतन टाटा अब यहां लगा रहे हैं अपना पैसा! जानिए क्या है उनका नया प्लान

..और फिर भारत-चीन लड़ाई आ गई रतन टाटा की शादी के बीच मेंरतन टाटा को ये लगा था कि जिस महिला को वो प्‍यार करते हैं वह भी उनके साथ भारत चली जाएगी. लेकिन 1962 की भारत-चीन लड़ाई के चलते उनके माता-पिता उस लड़की के भारत आने के पक्ष में नहीं थे और इस तरह उनका रिश्‍ता टूट गया.

रतन टाटा अपनी दादी के साथ


रतन टाटा का बचपन
अपने बचपन के बारे में रतन टाटा कहते हैं कि उनका बचपन बहुत बढ़िया बीता, लेकिन माता-पिता के अलग (तलाक लेने के बाद) होने से उन्हें और उनके भाई को कई परेशानियों का सामना करना पड़ा. बातचीत के दौरान रतन टाटा ने अपनी दादी को भी याद करते हुए बताया कि, मुझे आज भी याद है कि किस तरह द्वितीय विश्‍व युद्ध के बाद वो मुझे और मेरे भाई को गर्मियों की छुट्टियों के लिए लंदन लेकर चली गई थीं. वास्‍तव में वहीं उन्‍होंने हमारे जीवन के मूल्यों के बारे में समझाया. वह हमें बताती थीं कि ऐसा मत कहो या इस बारे में शांत रहो और इस तरह हमारे दिमाग में ये बात डाल दी गई कि प्रतिष्‍ठा सबसे ऊपर है.

ये भी पढ़ें :-...जब 82 साल के रतन टाटा के पैर छूकर, 73 साल के नारायण मूर्ति ने लिया आशीर्वाद

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 12:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर