Tata अब इस ई-फार्मा कंपनी में करेगी निवेश, सुपर ऐप बनाने की योजना के तहत खरीदेगी मेज्योरिटी स्टेक

Tata Digital ई-फार्मा कंपनी 1mg की बहुलांश हिस्‍सेदारी खरीदेगी.

Tata Digital ई-फार्मा कंपनी 1mg की बहुलांश हिस्‍सेदारी खरीदेगी.

टाटा समूह (Tata Group) ने बिग-बास्‍केट (BigBasket) को खरीदने और क्‍योरफिट (CureFit) में निवेश की घोषणा के कई हफ्ते बादा अब डिजिटल फार्मा कंपनी 1mg में मेज्‍योरिटी स्‍टेक खरीदने की घोषणा की है. ई-फार्मा कंपनी (e-Pharma Company) 1mg के सह-संस्‍थापक और सीईओ प्रशांत टंडन ने इस सौदे को मील का पत्थर बताया है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. टाटा समूह की सहायक कंपनी टाटा डिजिटल लिमिटेड (Tata Digital) जल्द ही एक बड़ा सौदा करने जा रही है. इसमें टाटा डिजिटल ई-फार्मा कंपनी 1mg टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड में बहुलांश हिस्सेदारी खरीदने जा रही है. टाटा समूह एक सुपर ऐप बनाने की योजना पर काम कर रहा है. ये सौदा इसी योजना को पूरा करने के लिए उठाया गया एक नया कदम है. कंपनी ने कुछ हफ्ते पहले बिग-बास्‍केट (BigBasket) को खरीदने और क्‍योरफिट (CureFit) में निवेश की घोषणा की थी. टाटा डिजिटल के सीईओ प्रतीक पाल ने कहा कि 1mg में निवेश करने से टाटा की ग्राहकों को बेहतर अनुभाव देने और ई-फार्मेसी व ई-डायग्नोस्टिक सेक्टर में अच्छी गुणवत्‍ता के हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स तथा सर्विस देने की क्षमता को मजबूती मिलेगी.

देश के 20 हजार से ज्‍यादा पिनकोड को कवर करती है 1mg

ई-फार्मा कंपनी 1mg के सह-संस्‍थापक व सीईओ प्रशांत टंडन ने कहा कि हमें भारत के सबसे प्रतिष्ठित और सम्मानित समूह में से एक के साथ हाथ मिलाने पर खुशी है. ये पूरे भारत में ग्राहकों के लिए अच्छी गुणवत्‍ता वाले हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स और सर्विस को सुलभ बनाने के लिए 1mg की यात्रा में मील का पत्थर है. देश के 20,000 से ज्यादा पिन कोड को कवर करने वाली सप्लाई सीरीज के साथ 1mg तीन अत्याधुनिक डायग्नोस्टिक लैब भी चलाती है. साथ ही ये अपनी सहायक कंपनियों के जरिये दवाओं और दूसरे हेल्थ प्रोडक्ट्स के B2B डिस्ट्रीब्यूशन के बिजनेस में भी लगी हुई है.

ये भी पढ़ें- Bank Customers को झटका! दूसरे बैंक के एटीएम से पैसे निकालना पड़ेगा महंगा, RBI ने बढ़ाई एटीएम इंटरचेंज फीस
इस सेक्‍टर 50 फीसदी सीएजीआर से बढ़ने की है उम्‍मीद  

कोरोना संकट के कारण ई-फार्मेसी, ई-डायग्नोस्टिक्स और टेली कंसल्टेशन इन दिनों काफी चलन में हैं. ये इस सेक्टर में सबसे तेजी से बढ़ते क्षेत्रों में से हैं. दरअसल, इस सेक्टर ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान स्वास्थ्य सेवा (Healthcare Services) तक लोगों की पहुंच को आसान बनाया है. कुल मिलाकर इसका बाजार लगभग 1 अरब डॉलर का है. उपभोक्ताओं के बीच स्वास्थ्य जागरूकता और ज्यादा सुविधा के कारण इसके 50 फीसदी सीएजीआर (CAGR) से बढ़ने की उम्मीद है. टाटा डिजिटल के लिए ये कैटेगरी अब एक प्रमुख एलीमेंट बनेगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज