Tata Steel ने दिखाया बड़ा दिल! कोरोना से हुई कर्मचारी की मौत तो परिवार को रिटायरमेंट तक हर महीने मिलता रहेगा वेतन

Tata Steel ने कोरोना वायरस के कारण करने वाले कर्मचारियों के परिवारों की बड़ी आर्थिक मदद का ऐलान किया है.

Tata Steel ने कोरोना वायरस के कारण करने वाले कर्मचारियों के परिवारों की बड़ी आर्थिक मदद का ऐलान किया है.

टाटा स्टील (Tata Steel) ने अपने कर्मचारियों और उनके परिजनों के लिए सोशल सिक्योरिटी स्कीम (Social Security Scheme) का ऐलान किया है. इसके तहत अगर किसी कर्मचारी का निधन कोरोना (Death due to Coronavirus) के कारण होता है तो कंपनी उसके परिवार की बड़ी आर्थिक मदद (Financial Support) करेगी.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के बीच कई कंपनियां अपने कर्मचारियों के लिए बड़ी और राहतभरी घोषणाएं कर रही है. इसी कड़ी में टाटा स्टील (Tata Steel) ने अपने कर्मचारियों और उनके परिजनों के लिए सोशल सिक्योरिटी स्कीम (Social Security Scheme) का ऐलान किया है. इसके तहत अगर कंपनी के किसी भी कर्मचारी की मृत्‍यु कोरोना से होती है तो उसके परिवार को सेवानिवृत्ति की उम्र तक हर महीने वेतन मिलता रहेगा. कंपनी ने ट्वीट करके इस बारे में जानकारी दी है. कंपनी ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडिल पर सर्कुलर जारी कर इस बारे में पूरी जानकारी दी गई है.

परिजनों को मिलती रहेंगी मेडिकल सुविधाएं

टाटा स्‍टील ने ट्वीट किया कि कंपनी ने कोविड-19 से प्रभावित कर्मचारियों के परिजनों के लिए सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का विस्तार करके AgilityWithCare का रास्ता अपनाया है. साथ ही लोगों से अपील की है कि इस मुश्किल दौर से निकलने के लिए यथाशक्ति अपने आसपास के लोगों की मदद करें. कंपनी ने कहा है कि कर्मचारी की मौत के बाद भी सर्विस के 60 वर्ष पूरे होने तक उनके परिवार को पूरी सैलरी दी जाएगी. इसके साथ ही कर्मचारी के परिवार को रहने के लिए ​क्वार्टर दिया जाएगा साथ ही मेडिकल सुविधा भी दी जाएगी. केवल इतना ही नहीं बच्चों की पढ़ाई का पूरा खर्च भी कंपनी उठाएगी.


ये भी पढ़ें- Train Cancellation: रेलवे ने यास तूफान के कारण लंबी दूरी की 38 ट्रेनें कीं रद्द, घर से निकलने के पहले चेक करें पूरी लिस्‍ट

ये सभी सुविधाएं मृतक के परिवार को मिलेंगी

>> हर महीने वेतन, जो मृत कर्मचारी की आखिरी सैलरी के बराबर होगा.



>> मृत कर्मचारी/नॉमिनी की 60 वर्ष की उम्र पूरी होने तक की अवधि तक सैलरी दी जाएगी.

>> मृतक के परिवार को सभी मेडिकल सुविधाएं मिलती रहेंगी.

>> परिजनों को हाउसिंग सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाएंगी.

>> कर्मचारी के बच्चों की ग्रेजुएशन तक भारत में पढ़ाई का पूरा खर्चा कंपनी उठाएगी.

ये भी पढ़ें- SBI की रिपोर्ट! देश की जीडीपी ग्रोथ मार्च 2021 तिमाही में 1.3 फीसदी रहने का है अनुमान, जानें वजह

महिंद्रा एंड महिंद्रा भी कर चुकी है ऐसा ऐलान

ऑटोमेकर महिंद्रा एंड महिंद्रा भी अपने कर्मचारियों के लिए ऐसी ही घोषणा कर चुकी है. कंपनी ने कहा था कि जिस कर्मचारी की मृत्यु कोविड-19 की वजह से हुई है, उनके आश्रितों को कंपनी की ओर से परिवार सहायता कार्यक्रम के तहत पांच साल तक वेतन के साथ ही वार्षिक आय की दोगुनी राशि एकमुश्त दी जाएगी. इसके अलावा मृत कर्मचारी के बच्चों की पढ़ाई के लिए कक्षा 12 तक प्रति बच्चा दो लाख रुपये सालाना तक की मदद अलग से दी जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज