बड़ी राहत! Tata Steel ने मेडिकल ऑक्सीजन आपूर्ति बढ़ाई, अब हर दिन उपलब्‍ध कराएगी 600 टन ऑक्‍सीजन

Tata Steel ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए ऑक्‍सीजन सप्‍लाई बढ़ा दी है.

Tata Steel ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए ऑक्‍सीजन सप्‍लाई बढ़ा दी है.

टाटा स्टील (Tata Steel) ने कहा कि उसने लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति (Medical Oxygen Supply) को बढ़ाकर 500-600 टन प्रतिदिन कर दिया है. साथ ही कहा कि हम ऑक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाने और लोगों की जान बचाने के लिए केंद्र सरकार व राज्यों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं. कंपनी अब तक रोज 300 टन ऑक्‍सीजन आपूर्ति कर रही थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2021, 11:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना संकट के बीच देश की राजधानी दिल्‍ली (Delhi) समेत कई राज्‍यों में मेडिकल ऑक्‍सीजन (Medical Oxygen) की कमी पड़ रही है. ऐसे में कई कंपनियां कोरोना संक्रमण से बुरी तरह प्रभावित राज्‍यों को ऑक्‍सीजन की आपूर्ति (Oxygen Supply) कर रही हैं. अब टाटा स्टील (Tata Steel) ने कहा है कि उसने कोविड-19 रोगियों के इलाज के लिए अपनी ओर से हर दिन की जाने वाली ऑक्सीजन आपूर्ति को बढ़ाकर 600 टन कर दिया है. बता दें कि इस्पात मंत्रालय के निर्देश पर देश के स्‍टील प्‍लांट्स (Steel Plants) विभिन्‍न राज्यों को मेडिकल आक्सीजन की आपूर्ति कर रहे हैं. इस समय मरीजों के इलाज के लिए आक्सीजन की भारी किल्लत है.

'लोगों का जीवन बचाने के लिए केंद्र के साथ मिलकर कर रहे काम'

टाटा स्टील ने एक ट्वीट में कहा कि कंपनी ने बढ़े हुए लॉजिस्टिक समर्थन के साथ लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति को बढ़ाकर 500-600 टन प्रतिदिन कर दिया है. हम ऑक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाने और लोगों की जान बचाने के लिए केंद्र सरकार (Central Government) व राज्यों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं. पिछले हफ्ते टाटा स्टील के एक प्रवक्ता ने कहा था कि कंपनी विभिन्‍न राज्यों को प्रतिदिन 300 टन लिक्विड मेडिकल आक्सीजन की आपूर्ति कर रही है. टाटा ही नहीं कई स्‍टील प्‍लांट्स ने अपनी उत्‍पादन क्षमता को बढ़ाकर दोगुना कर दिया है.

ये भी पढ़ें- Mankind Pharma ने भी बढ़ाया मदद का हाथ, कोरोना योद्धाओं के परिवार वालों को देगी 100 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद
उपलब्‍ध टैंकरों को मेडिकल ऑक्‍सीजन टैंकर में कर रहे तब्‍दील

स्‍टील कंपनियों ने राज्यों को ऑक्सीजन की आपूर्ति तेजी से करने के लिए नाइट्रोजन और एर्गोन टैंकरों को लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन टैंकर में तब्दील कर दिया है. कंपनियां करीब 8345 मीट्रिक टन क्षमता वाले 765 नाइट्रोजन और 7642 मीट्रिक टन क्षमता वाले 434 एर्गोन टैंकर लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन में तब्‍दील कर चुकी हैं. टैंकरो में बदलाव की अनुमति पेट्रोलियम एंड एक्सप्लोसिव सेफ्टी आर्गेनाइजेशन ने दी है. राज्यों को लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए 15,900 मीट्रिक टन क्षमता वाले 1,172 टैंकर में जरूरी बदलाव किए जा चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज