टाटा स्टील माइनिंग लिमिटेड फेरो क्रोम की मैन्युफैक्चरिंग क्षमता को दोगुना करेगी

कंपनी ने सुकिंदा क्रोमाइट माइन, सारुएबिल क्रोमाइट माइन और कामर्दा क्रोमाइट माइन का अधिग्रहण किया है

कंपनी ने सुकिंदा क्रोमाइट माइन, सारुएबिल क्रोमाइट माइन और कामर्दा क्रोमाइट माइन का अधिग्रहण किया है

कंपनी का लक्ष्य निकट भविष्य में फेरो क्रोम विनिर्माण क्षमता (Ferro Chrome Manufacturing Capacity) को 4,50,000 टन से बढ़ाकर 9,00,000 टन प्रतिवर्ष करने की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 17, 2021, 2:00 AM IST
  • Share this:
कोलकाता. टाटा स्टील (Tata Steel) की खनन इकाई टाटा स्टील माइनिंग लिमिटेड (Tata Steel Mining Ltd, टीएसएमएल) ने शुक्रवार को कहा कि भारत में स्टेनलेस स्टील की बढ़ती मांग के साथ उसकी अपनी फेरो क्रोम विनिर्माण क्षमता (Ferro Chrome Manufacturing Capacity) को दोगुनी करने की योजना है.

अपनी आक्रामक वृद्धि की योजना के तहत कंपनी का लक्ष्य निकट भविष्य में फेरो क्रोम विनिर्माण क्षमता को 4,50,000 टन से बढ़ाकर 9,00,000 टन प्रतिवर्ष करने की है. टीएसएमएल ने कहा कि उसने वर्ष 2020 की खनिज नीलामियों में तीन क्रोमाइट खानों का अधिग्रहण किया था - जो सुकिंदा क्रोमाइट माइन, सारुएबिल क्रोमाइट माइन और कामर्दा क्रोमाइट माइन हैं. अधिकारियों ने कहा कि इन खानों की लीज 50 साल के लिए है.

यह भी पढ़ें : नौकरी की बात :  इंटरव्यू में नई स्किल के बेहतर प्रदर्शन से मिलेगी जॉब की गारंटी, जानिए ऐसे ही अहम मंत्र

भारत में क्रोम अयस्क खनन में सबसे बड़ी कंपनी
कंपनी ने एक बयान में कहा गया है कि खदानें अब 15 लाख टन की वार्षिक क्षमता के साथ चालू हो गई हैं, जिससे कंपनी भारत में क्रोम अयस्क खनन में सबसे बड़ी कंपनी बन गई है.

यह भी पढ़ें :  कोरोना वैक्सीन बनाने वाली सीरम ने इस बड़ी कंपनी में किया निवेश, जानें सब कुछ 

 नए प्राेजेक्ट से वैश्विक स्तर पर कंपनी शीर्ष पांच में स्थान पर होगी



टाटा स्टील माइनिंग लिमिटेड के चेयरपर्सन डीबी सुंदर रामम ने कहा, '' हम क्रोम अयस्क की अच्छी गुणवत्ता का लाभ उठाते हुए भारत में अपनी फेरो क्रोम विनिर्माण क्षमता को बढ़ाने का प्रयास करेंगे. यह टीएसएमएल को भारत में सबसे अग्रणी फेरो क्रोम कंपनी बना देगा और वैश्विक स्तर पर उसे शीर्ष पांच में स्थान दिलाएगा.

यह भी पढ़ें : भारत की कंपनियां इस फार्मूले पर देती हैं जॉब, अच्छी नौकरी पाने के लिए जानें यह तरीकामहाराष्ट्र में कंपनी को कर्मचारियों की संख्या सीमित करनी पड़ी

कोरोनावायरस (COVID-19 Impact) की वजह से टाटा मोटर्स (Tata Motors) ने 15 अप्रैल से पुणे के अपने प्लांट में कुछ गाड़ियों के विनिर्माण (manufacturing) काम पर रोक लगा दी है. मैन्युफैक्चरिंग 30 अप्रैल तक सीमित रखी जाएगी. इस बात की जानकारी टाटा मोटर्स ने एक पत्र के जरिए दी है.

टाटा मोटर्स ने पुणे के भौसारी (Bhosari) में एमआईडीसी पुलिस स्टेशन को लिखे गए पत्र में कहा है कि महाराष्ट्र सरकार के कोरोना वायरस से निपटने के आदेश के मुताबिक, हमने 15 अप्रैल 2021 से 30 अप्रैल 2021 तक कुछ वाहनों का विनिमार्ण (vehicle manufacturing) का काम बंद कर दिया है. हमने सभी कर्मचारियों को घर पर रहने की सलाह दी है.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज