लाइव टीवी
Elec-widget

टाटा स्टील पर भी सुस्ती की मार! 3,000 से ज्यादा कर्मचारियों की करेगी छंटनी

News18Hindi
Updated: November 19, 2019, 10:06 AM IST
टाटा स्टील पर भी सुस्ती की मार! 3,000 से ज्यादा कर्मचारियों की करेगी छंटनी
टाटा स्टील (Tata Steel) अपने यूरोप (European Office) के ऑफिस से 3,000 से अधिक लोगों को नौकरी से निकालने की योजना बना रही है. कंपनी ने सोमवार को कहा कि अतिरिक्त आपूर्ति, कमजोर मांग और उच्च लागत के चलते कंपनी ऐसा करने को मजबूर है.

टाटा स्टील (Tata Steel) अपने यूरोप (European Office) के ऑफिस से 3,000 से अधिक लोगों को नौकरी से निकालने की योजना बना रही है. कंपनी ने सोमवार को कहा कि अतिरिक्त आपूर्ति, कमजोर मांग और उच्च लागत के चलते कंपनी ऐसा करने को मजबूर है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2019, 10:06 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. टाटा स्टील (Tata Steel) अपने यूरोप (European Office) के ऑफिस से 3,000 से अधिक लोगों को नौकरी से निकालने की योजना बना रही है. कंपनी ने सोमवार को कहा कि अतिरिक्त आपूर्ति, कमजोर मांग और उच्च लागत के चलते कंपनी ऐसा करने को मजबूर है. समाचार एजेंसी Reuters ने एक सूत्र के हवाले से बताया कि टाटा समूह के यूरोपीय मुख्य कार्यकारी (CEO) हेनरिक एडम ने पहले ही बिना आंकड़े दिए कहा था कि जल्द कंपनी यूरोपीय व्यापार में नौकरी में कटौती कर सकती है.

ये भी पढ़ें: 50 हजार रुपये लगाकर शुरू करें ये बिजनेस, मोदी सरकार दे रही कमाने का मौका

एक बयान में टाटा ने कहा कि वह अपने यूरोपीय परिचालनों में 3,000 से अधिक कर्मचारियों की संख्या में कटौती करके अपनी परफॉरमेंस में सुधार करना चाहती है. भारतीय कंपनी टाटा स्टील, जिसने अपने यूरोपीय कारोबार को मजबूत करने के लिए जून में एक परिवर्तन कार्यक्रम शुरू किया था, जिसमें कंपनी ने नीदरलैंड और वेल्स में स्टील निर्माण शुरू किया था.

टाटा स्टील की ओर से यहां आयोजित जनजातीय संवाद कार्यक्रम में अर्थव्यवस्था में सुस्ती के ऊपर पूछे गए सवाल पर नरेन्द्रन ने कहा कि अर्थव्यवस्था ठीक है. ये सुधर रही है. सरकार कदम उठा रही है. हालांकि उन्होंने कहा कि ऑटो सेक्टर में थोड़ी सुस्ती है, लेकिन अन्य क्षेत्रों में हम सुधार देख रहे हैं. इससे पहले मीडिया से मुखातिब नरेन्द्रन ने कहा कि हर साल संवाद कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं. इस साल 180 से ज़्यादा आदिवासी समुदायो के नुमाइंदों ने संवाद सम्मेलन में हिस्सा लिया है. उन्होंने कहा कि टाटा स्टील का ये मंच आदिवासी समुदाय को अपनी बात रखने का एक मंच देता है. नरेन्द्रन ने उम्मीद जताई कि ये सम्मेलन आदिवासियों की समस्याओ को हल करने के लिए काम करने में मदद करेगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 9:21 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...