लाइव टीवी

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने टाटा ग्रुप के 6 ट्रस्टों के रजिस्ट्रेशन कैंसल किए, जानिए पूरा मामला

News18Hindi
Updated: November 2, 2019, 2:09 PM IST
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने टाटा ग्रुप के 6 ट्रस्टों के रजिस्ट्रेशन कैंसल किए, जानिए पूरा मामला
टाटा ग्रुप (Tata Group) के 6 ट्रस्टों के रजिस्ट्रेशन (Tata Trust) कैंसल हो गए है.

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) ने जमशेतजी टाटा ट्रस्ट, आर डी टाटा ट्रस्ट, टाटा एजुकेशन ट्रस्ट, टाटा सोशल वेलफेयर ट्रस्ट, सार्वजनिक सेवा ट्रस्ट और नवजबाई रतन टाटा ट्रस्ट का लाइसेंस रद्द कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 2, 2019, 2:09 PM IST
  • Share this:
मुंबई. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) ने टाटा ग्रुप (Tata Group) के 6 ट्रस्टों के रजिस्ट्रेशन (Tata Trust)  रद्द कर दिए है. जिनको रद्द किया गया है उनमें जमशेतजी टाटा ट्रस्ट, आर डी टाटा ट्रस्ट, टाटा एजुकेशन ट्रस्ट, टाटा सोशल वेलफेयर ट्रस्ट, सार्वजनिक सेवा ट्रस्ट और नवजबाई रतन टाटा ट्रस्ट शामिल हैं. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के आदेश पर टाटा ग्रुप ने आपत्ति जताई है. आपको बता दें कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने आईटी एक्ट की धारा 115 (TD) के तहत रजिस्ट्रेशन रद्द करने की कार्रवाई की है.

टाटा कराएगा जांच-टाटा समूह की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के आदेश की जांच की जा रही है. कानून के मुताबिक जरूरी कदम उठाएंगे. ''हम ये स्पष्ट करना चाहते हैं कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ओर से कोई डिमांड नोटिस नहीं मिला है. यह चौंकाने वाली बात है कि ट्रस्टों की संपत्तियां जब्त करने की बात अब क्यों उठ रही है.

ये भी पढ़ें-दीवान हाउसिंग मामला: FD कराने वालों की बढ़ी टेंशन! सरकार ने दिए कंपनी की जांच के आदेश



अतिरिक्त टैक्स की डिमांड- इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने एक श्रेणी के ट्रस्टों के मामले में सन 2016 में आईटी एक्ट में यह विशेष प्रावधान जोड़ा था. इसके तहत किसी ट्रस्ट का रजिस्ट्रेशन रद्द होने पर उसे पिछले साल की उस आय पर भी टैक्स चुकाना पड़ता है जिस पर छूट ली गई हो. कोई ट्रस्ट अगर नॉन-चैरिटेबल ट्रस्ट में मर्ज या कन्वर्ट होता है, तो उसे अतिरिक्त टैक्स भी देना पड़ता है.

क्या है मामला-इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का रजिस्ट्रेशन कैंसिल करने का आदेश 31 अक्टूबर, 2019 से लागू हो गया है. जबकि टाटा ग्रुप की ट्रस्ट द्वारा साल 2015 में ही इसे कैंसिल करने का प्रस्ताव दिया था. आपको बता दें कि जिन ट्रस्ट का रजिस्ट्रेशन कैंसिल किया गया है, उनके पास टाटा संस के बड़े शेयरहोल्डर हैं.
Loading...

दरअसल टाटा ट्रस्ट ने साल 2015 में ही इन ट्रस्ट के रजिस्ट्रेशन को इनकम टैक्स एक्ट के प्रावधानों के तहत सरेंडर कर दिया था. इस पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट  ने बीते दिनों इन ट्रस्ट के फिर से मूल्यांकन का फैसला किया था. अब मूल्यांकन के बाद आयकर विभाग ने 31 अक्टूबर, 2019 से इन ट्रस्ट के रजिस्ट्रेशन को कैंसिल करने के निर्देश दिए हैं.

ये भी पढ़ें-SBI ने 42 करोड़ ग्राहकों को किया अलर्ट! ये SMS खाली कर सकता है आपका बैंक खाता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 2, 2019, 1:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...