Home /News /business /

खुशखबरी! तत्काल ट्रेन टिकट बुक करने के लिए नहीं होगी कोई टेंशन, रेलवे ने उठाया ये बड़ा कदम

खुशखबरी! तत्काल ट्रेन टिकट बुक करने के लिए नहीं होगी कोई टेंशन, रेलवे ने उठाया ये बड़ा कदम

कैटरिंग सर्विस को सबसे पहले साल 2005 में आईआरसीटीसी को दिया गया था.

कैटरिंग सर्विस को सबसे पहले साल 2005 में आईआरसीटीसी को दिया गया था.

तत्काल टिकटों (Tatkal Ticket Booking) की बुकिंग समय और उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए रेलवे ने कई कदम उठाए हैं. इसके बाद बीते दो महीनों में तत्काल टिकटों की बुकिंग पर साकारात्मक प्रभाव पड़ा है.

    नई दिल्ली. अब लास्ट मिनट में आपको तत्काल ट्रेन टिकट (Tatkal Ticket Booking) बुक करने के लिए कोई चिंता नहीं करनी होगी. अब तत्काल टिकट बुकिंग की चिंता दूर हो रही है. पैसेंजर फ्रेंडली कदम उठाते हुए रेलवे ने उन सभी गैरकानूनी सॉफ्टवेयर (Illegal Softwares) और 60 एजेंट्स पर कड़ी कार्रवाई की है, जो पहले से ही तत्काल टिकट्स को ब्लॉक कर लेते थे. रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (RPF) के डायरेक्टर जनरल अरुण कुमार ने कहा कि एक विशेष ऑपरेशन के तहत उन सभी पर कार्रवाई की गई है जो तत्काल ट्रेन टिकटों को ब्लॉक कर लेते थे. इसके बाद अब तत्काल टिकटों की संख्या में इजाफा होगा और टिकट बुक करने के लिए भी पर्याप्त समय मिल सकेगा. पहले कुछ मिनटों में ही तत्काल टिकट खत्म हो जाता था.

    सॉफ्टवेयर्स की मदद से जल्द बुक हो जाता था टिकट
    रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, ANMS, MAC और Jaguar जैसे गैरकानूनी सॉफ्टवेयर्स की मदद से IRCTC का लॉगिन कैप्चा, बुकिंग कैप्चा और बैंक OTP तक को बाईपास कर लिया जाता था. इसके बाद ​तत्काल टिकटों की बुकिंग की जाती थी. आम यूजर्स को इन सभी प्रक्रियाओं से गुजरने की वजह से उन्हें टिकट बुक करने के लिए उपलब्धता नहीं मिल पाती थी. आम यूजर्स के लिए एक तत्काल टिकट बुक करने में करीब 2.55 मिनट लगते हैं, जबकि इन सॉफ्वेयर्स के जरिए तत्काल टिकट बुक करने के लिए महज 1.48 मिनट ही लगता है.

    यह भी पढ़ें: इन कंपनियों में काम करने वालों की बढ़ेगी सबसे ज्यादा सैलरी-सर्वे





    आम लोग नहीं बुक कर पाते थे तत्काल टिकट
    रेलवे के नियमों के मुताबिक, कोई भी एजेंट गैरकानूनी रूप से रेलवे टिकट नहीं बुक कर सकता है. बीते दो महीनों में RPF अधिकारियों ने ऐसे करीब 60 गैरकानूनी एजेंट्स को पर कार्रवाई की है जो इन सॉफ्टवेयर्स की मदद से टिकट बुक करते थे. इनकी वजह से आम लोगों को तत्काल टिकट बुक करने के लिए बड़े परेशानियों का सामना करना पड़ता था.

    हर साल कर लेते थे 100 करोड़ रुपये की कमाई
    अरुण कुमार ने आज मीडिया से बातचीत में कहा कि अब एक भी टिकट गैरकानूनी सॉफ्टवेयर की मदद से नहीं बुक हो रहा है. संबंधित अधिकारियों ने इससे जुड़ी सभी परेशानियों को खत्म कर दिया है. इन सॉफ्टवेयर्स के टॉप ऑपरेटर्स को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. इन सॉफ्टवेयर्स की मदद से सालाना 50 से 100 करोड़ रुपये का कारोबार किया जाता था. उन्होंने कहा कि कोलकाता के एक व्यक्ति सहित सात लोगों को आठ फरवरी को मुंबई से गिरफ्तार किया गया. एक अन्य व्यक्ति शमशेर को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया.





    यह भी पढ़ें: अप्रैल से बदल जाएंगे विदेश में घूमने के नियम, अब सरकार आपसे वसूलेगी ये टैक्स

    तत्काल टिकट बुक करने के लिए मिल रहा अधिक समय
    देश में ऑनलाइन ट्रेन टिकट बुक करने के लिए इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) सुविधा प्रदान करता है. अब IRCTC की वेबसाइट पर ट्रेन टिकट बुकिंग सेक्शन में भी इसका असर देखने को मिल रहा है. पहले की तुलना में अब तत्काल ट्रेन टिकटों की संख्या में इजाफा हुआ है. कुछ ट्रेनों में इसका असर साफ तौर पर देखा जा सकता है. 26 अक्टूबर 2019 को मगध एक्सप्रेस में 2 मिनट के लिए तत्काल टिकट ​बुक करने का समय मिलता था. अब, 10 फरवरी यह उपलब्धता कुछ ट्रेनों के लिए 10 घंटों तक रही.

    यह भी पढ़ें: इस तारीख तक बदलवानी होगी आपको चेक बुक, वरना नहीं निकाल पाएंगे Cheque से पैसा

    Tags: Business news in hindi, Indian railway, Indian Railway Catering and Tourism Corporation, Irctc

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर