Home /News /business /

tax free bonds vs bank fds which one is better for you from an investment perspective pmgkp

Bank FD और Tax-free Bonds: निवेश के नजरिए से आपके लिए कौन सा बेहतर? एक्सपर्ट्स से समझिए

Tax free bonds : भारत बांड ईटीएफ में 7.25 प्रतिशत का रिटर्न मिलेगा.

Tax free bonds : भारत बांड ईटीएफ में 7.25 प्रतिशत का रिटर्न मिलेगा.

Tax-free bonds vs Bank FDs: बढ़ती रेपो रेट और अस्थिरता की वजह से इक्विटी रिटर्न कम रहने की उम्मीद है. इसलिए, भारतीय परिवारों की बचत बैंक एफडी, सोना, छोटी बचत योजनाओं आदि जैसे सुरक्षित विकल्प की ओर जाने की उम्मीद है.

Tax-free bonds vs bank FDs: जमा पर कम ब्याज दर और शेयर बाजारों में उच्च अस्थिरता के बीच, टैक्स और इंवेस्टमेंट एक्सपर्ट्स शॉर्ट टर्म के लिए डेट और लिक्विड फंड में निवेश की सलाह दे रहे हैं. बढ़ती रेपो रेट और अस्थिरता की वजह से इक्विटी रिटर्न कम रहने की उम्मीद है. इसलिए, भारतीय परिवारों की बचत बैंक एफडी, सोना, छोटी बचत योजनाओं जैसे सुरक्षित विकल्प की ओर जाने की उम्मीद है.

हालांकि, विशेषज्ञों की राय है कि उच्च आय वाले व्यक्ति जो टैक्स के दायरे में आ रहे हैं, उनके लिए टैक्स सेविंग बांड और मेच्योरिटी प्लान, बैंक एफडी से  बेहतर विकल्प हैं. उन्होंने कहा कि बैंक एफडी शॉर्ट टर्म में 5 प्रतिशत से अधिक रिटर्न नहीं देंगे, जबकि टैक्स सेविंग बांड किसी भी अवधि के लिए बैंक की सावधि जमा दरों की तुलना में 1.5 प्रतिशत से 2 प्रतिशत अधिक रिटर्न देंगे.

यह भी पढ़ें – ना ही सोना और ना ही एफडी, भारतीय सबसे ज्यादा पैसा किस एसेट में निवेश कर रहे हैं? यहां पढ़िए

टैक्स फ्री बांड में ब्याज ज्यादा
लाइव मिंट की एक रिपोर्ट के मुताबिक,  सिनर्जी कैपिटल सर्विसेज के एमडी , विक्रम दलाल ने टैक्स सेविंग बांड बनाम बैंक एफडी पर कहा “हाई नेट वर्थ इंडिविजुअल के लिए मैं Tax free bonds और Target maturity Plans, जैसे भारत बांड ईटीएफ का सुझाव दूंगा. बैंक एफडी आपको 5.5 फीसदी से 5.55 फीसदी रिटर्न देगी और टैक्स फ्री बांड जैसे -भारत बांड ईटीएफ में 7.25 प्रतिशत का रिटर्न मिलेगा. बढ़ते ब्याज दरों के दौर में लंबे समय वाले डेट म्यूचुअल जैसे पीएसयू एंड बैंकिंग, इनकम या गिफ्ट बांड अच्छा रिटर्न दे सकते हैं.

सुरक्षित निवेश विकल्प की तलाश
उन्होंने कहा कि तेजी से बढ़ते रेपो रेट के दौर में निवेशक सुरक्षित निवेश विकल्प देख रहे हैं, साथ ही ऐसा रिटर्न चाह रहे जहां वो महंगाई को मैनेज कर सकें. केंद्रीय पीएसयू बांड, जीओआई/एसडीएल सिक्योरिटीज और एएए रेटेड निजी क्षेत्र के बांड पसंदीदा निवेश विकल्प हैं.

यह भी पढ़ें- Bank, Post Office या NBFC में से फिक्स डिपोजिट के लिए किसको चुनना फायदेमंद, समझिए निवेश रणनीति

आनंद राठी ग्लोबल फाइनेंस के सीईओ जुगल मंत्री ने कहा कि बढ़ती ब्याज दर व्यवस्था में टैक्स-फ्री बॉन्ड एक बेहतर विकल्प है. “निवेशक तीन बुनियादी मानदंडों के आधार पर डेट इंस्ट्रूमेंट का विकल्प चुनते हैं – पूंजी की सुरक्षा, लिक्विडिटि और रेगुलर रिटर्न.  एएए रेटेड सार्वजनिक क्षेत्र के बॉन्ड में सबसे अधिक सुरक्षा होती है. लिस्टेड होने पर इसमें से किसी भी समय निवेश किया जा सकता है और निकला जा सकता है. साथ ही एफडी की तुलना में ज्यादा ब्याज मिलता है.

Tags: Bank FD, FD Rates, Government bond yields, Investment and return

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर