लाइव टीवी

जानिए क्या हैं टैक्स बचाने के लिए सबसे बेहतर विकल्प

News18Hindi
Updated: December 9, 2019, 10:04 PM IST
जानिए क्या हैं टैक्स बचाने के लिए सबसे बेहतर विकल्प
इनकम टैक्स बचाने के विकल्प

केंद्र सरकार (Central Government) की ऐसी कई सारी योजनाएं हैं, जिनमें आप आसानी से अधिक इनकम होने के बाद भी टैक्स बचत (Tax Savings) कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 9, 2019, 10:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हर कोई अपनी इनकम बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास करता रहता है. लेकिन, क्या आप जानते हैं कि बढ़ते इनकम के साथ ही टैक्स बोझ भी बढ़ता जाता है. ऐसे में आपके मन में भी एक वाजिब सवाल उठता है कि आखिर कैसे आपकी इनकम अच्छी खासी रहे, लेकिन टैक्स को बोझ न बढ़े. इनकम टैक्स एक्ट 1962 (Income Tax Act, 1962) में कई ऐसे नियम हैं, जिनकी मदद से आप अपने टैक्स बचत (Tax Savings) कर सकते हैं. आज हम आपको ऐसे की कुछ बातों को बताने जा रहे हैं, जिनकी वजह से अपन अधिक इनकम होने के बाद भी टैक्स बचत करने में सफल हो सकते हैं.

केंद्र सरकार की ऐसी कई योजनाएं हैं, जहां आप टैक्स फ्री रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं.  इन योजनाओं में इन्वेस्टमेंट (Investment) करने पर आपको टैक्स में छूट मिलती है. साथ ही इन योजनाओं पर इन्वेस्टमेंट करने से जो इनकम होती है वो टैक्स फ्री होती है.

ये भी पढ़ें: केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, इंक्रीमेंट को लेकर सरकार ने जारी की सफाई

1. पब्लिक प्रोविडें फंड: लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट के लिए पीपीएफ सबसे बेहतर विकल्प माना जाता है. इसमें 8 फीसदी की दर से ब्याज मिलता है. पीपीएफ में आप सालान कम से कम 500 रुपये का निवेश कर सकते हैं. किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस में PPF अकाउंट खोल सकते हैं. Income Tax एक्ट के सेक्शन 80C के तहत आप PPF में सालाना 1.5 लाख रुपये के इन्वेसट्मेंट पर टैक्स छूट पा सकते हैं. PPF पर ब्याज दरों की हर तिमाही समीक्षा की जाती है.

2. एम्पलॉई प्रोविडेंट फंड: EPF में निवेश भी एक बेहतर विकल्प माना जाता है. EPF का फंड आप रिटायर होने के बाद भी निकाल सकते हैं. अगर आप लगातार 5 साल तक EPF में इन्वेसट्मेंट करते हैं तो इसके बाद आप EPF का फंड निकाल सकते हैं. इसमें इन्वेस्टमेंट, रिटर्न, मेच्योरिटी टैक्स फ्री है.

ये भी पढ़ें: आधार या पैन से नहीं लिंक करना होगा फेसबुक व व्हाट्सऐप, हाईकोर्ट ने कही ये बात

3. यूनिट इंश्योरेंस प्लान्स: ULIP एक ऐसा प्लान है जहां इंश्योरेंस और इनवेस्टमेंट का लाभ एक में ही शामिल होता है. अगर आप लॉन्ग टर्म के लिए इनवेस्टमेंट करना चाहते हैं तो यूलिप सबसे अच्छा है. यूलिप फंड पांच साल के बाद ही मेच्योर होता है. मेच्योर होने के बाद जो भी रकम आती है वो टैक्स-फ्री होती है.यूलिप एक ऐसा प्रोडक्ट है, जहां इंश्योरेंस और इन्वेस्टमेंट लाभ एक में ही होते हैं. इन्हें बीमा कंपनियों पेश करती हैं. इसे पहली बार यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया (UTI) ने लॉन्च किया था. ये मुख्य रूप से भारत में उपलब्ध है.

4. सुकन्या समृद्धि योजना: सुकन्या समृद्धि योजना बेटियों के लिए केंद्र सरकार की एक छोटी बचत योजना है। जिसे बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ स्कीम के तहत लॉन्च किया गया है. इसमें 8.5 फीसदी की ब्याज मिलती है. इसमें टैक्स छूट के साथ-साथ मेच्योरिटी पूरी होने के बाद इसकी इनकम टैक्स फ्री होती है.

ये भी पढ़ें: इन वस्तुओं पर ज्यादा GST देने के लिए रहें तैयार, 18 दिसंबर को होने वाला है बड़ा फैसला!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 10:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर