नए वित्त वर्ष में यह काम न करने पर लगेगा दोगुना टैक्स, इसलिए यह रखें सावधानी

इंडिविडुअल टैक्सपेयर्स को अब 1 अप्रैल 2021 से प्री-फील्ड ITR फॉर्म उपलब्ध कराया जाएगा.

अब ITR फाइल नहीं करने पर 1 अप्रैल, 2021 से दोगुना TDS देना होगा. ट्रेवल लीव कंसेशन (LTC) कैश वाउचर स्कीम नए वित्त वर्ष में लागू हो जाएगी.

  • Share this:
    नई दिल्ली. एक अप्रैल 2021 से शुरू होने वाले नए वित्त वर्ष (New fiscal year) में इनकम टैक्स (Income Tax) के कई नियमों में बदलाव प्रस्तावित किए गए हैं. कुछ नियमों से राहत मिलेगी तो कुछ में ऐसे प्रावधान हैं कि जरा सी चूक पर दोगुना टैक्स (Double Tax) भरना होगा.
    आज हम आपको इनकम टैक्स से जुड़े ऐसे ही नियमों को बताने जा रहे हैं जिनका ध्यान आपको नए साल में रखना है. इससे जेब पर पड़ने वाले असर को आप कम कर सकते हैं. सबसे अहम है आईटीआर (ITR) से संबंधित नियम. सरकार ने आईटीआर नहीं फाइल करने वालों के लिए नियम काफी सख्त किया है. इसके तहत उन्हें दोगुना टीडीएस भरना पड़ सकता है.
    यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : आवेदन करने से पहले जानें कंपनी आपको पेशेवर रूप से बढ़ने में कैसे मदद करेगी

    आईटीआर न भरने पर लगेगी दोगुनी TDS की दरें
    सरकार ने इनकम टैक्स एक्ट में सेक्शन 206AB को जोड़ दिया है. अब ITR फाइल नहीं करने पर 1 अप्रैल, 2021 से दोगुना TDS देना होगा. नए नियमों के मुताबिक, जिन लोगों ने इनकम टैक्स रिटर्न फाइल नहीं किया है, उन पर टैक्स कलेक्शन ऐट सोर्स (टीसीएस- TCS) भी ज्यादा लगेगा. नए नियमों के अनुसार 1 जुलाई 2021 से पीनल TDS और TCL दरें 10-20% होंगी. यह आमतौर पर 5-10% होती हैं.
    यह भी पढ़ें : रेलवे को ट्रेवल टाइम कम करने की नई तकनीक से हुआ बड़ा फायदा, जानिए किन ट्रेनों की स्पीड बढ़ेगी

    ईपीएफ में 2.5 लाख तक निवेश ही टैक्स फ्री
    बजट 2021-22 में एम्प्लॉई प्रोविडेंट फंड (EPF) से मिलने वाले ब्याज पर टैक्स की घोषणा की गई है. संसद से बजट पास होते ही नए वित्त वर्ष से एक वित्त वर्ष में 2.5 लाख तक EPF में निवेश ही टैक्स फ्री होगा. उससे ज्यादा निवेश करने पर अतरिक्त राशि आपकी आप मानी जाएगी.
    यह भी पढ़ें :  नौकरी की बात : फोन या कम्प्यूटर की बजाय नौकरी खोजने के लिए एम्प्लायर्स से ईमेल व Linkdin पर करें सीधे बात

    कोविड में यात्रा नहीं कर पाएं तो है अब LTC स्कीम का ले सकेंगे फायदा
    ट्रेवल लीव कंसेशन (LTC) कैश वाउचर स्कीम नए वित्त वर्ष में लागू हो जाएगी. यह स्कीम उन कर्मचारियों के लिए लॉन्च की गई है जिन्होंने कोविड-19 महामारी के कारण लगे यात्रा प्रतिबंध की वजह से LTC टैक्स बेनिफिट का फायदा नहीं उठाया था.
    यह भी पढ़ें : नौकरी की बातः मोबाइल फोन की तरह हर वक्त अपग्रेड होती है नौकरी, अप-टू-डेट रहने के लिए ये मंत्र जानना है जरूरी

    प्री-फील्ड ITR फॉर्म से आसान होगा आईटीआर फाइल करना
    इंडिविडुअल टैक्सपेयर्स को अब 1 अप्रैल 2021 से प्री-फील्ड ITR फॉर्म उपलब्ध कराया जाएगा. कर्मचारियों की सहूलियत के लिए और इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की प्रकिया को आसान बनाने के लिए यह कदम उठाया गया है.
    यह भी पढ़ें :  मार्च में 5 कामों को करने से मिलेंगे यह फायदे, जाने सब कुछ

    75 साल से ऊपर के बुजुर्ग को ITR फाइल करने से छूट
    बजट में 1 अप्रैल 2021 से 75 साल से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों को ITR फाइल नहीं करने की छूट प्रस्तावित की गई है. यह छूट उन सीनियर सिटीजंस को दी गई है जो पेंशन या फिर फिक्स्ड डिपोजिट पर मिलने वाले ब्याज पर आश्रित हैं. इसके लिए उनका पेंशन वाला अकाउंट जिस बैंक में है, उसी में एफडी आदि होनी चाहिए.
    यह भी पढें : भैंस के दूध से बनने वाला इटली का फेमस मॉत्सरेला चीज का भारत में होगा उत्पादन 

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.