कारोबारियों के लिए खुशखबरी! GST रिटर्न्स पर मिली ये राहत

देश के कारोबारी अब जीएसटी नेटवर्क पर अपनी टैक्स देनदारी और इनपुट टैक्स क्रेडिट के क्लेम का मिलान कर सकते हैं.

देश के कारोबारी अब जीएसटी नेटवर्क पर अपनी टैक्स देनदारी और इनपुट टैक्स क्रेडिट के क्लेम का मिलान कर सकते हैं.

  • Share this:
    देश के कारोबारी अब जीएसटी नेटवर्क पर अपनी टैक्स देनदारी और इनपुट टैक्स क्रेडिट के क्लेम का मिलान कर सकते हैं. कारोबारी टैक्स में जो देनदारी बताते हैं वह अंतिम सेल्स रिटर्न जीएसटीआर-1 में दिखता है.यह जानकारी जीएसटी नेटवर्क ने मंगलवार को दी. जीएसटी की तकनीकी जिम्मेदारी संभाल रहे जीएसटीएन ने टैक्सपेयर्स को जीएसटीआर-1 (अंतिम सेल्स रिटर्न) जीएसटीआर-3बी (संक्षिप्त सेल्स रिटर्न) में घोषित टैक्स देनदारी पर रिपोर्ट को देखने और उसे डाउनलोड करने की सुविधा प्रदान की है. जीएसटीआर-1 अगले महीने की 11 तारीख तक और जीएसटीआर-3बी अगले महीने की 20 तारीख तक फाइल किया जाता है.

    ये भी पढ़ें-1 अप्रैल से घर खरीदना हो जाएगा सस्ता, लाखों की होगी बचत

    आपको बता दें कि फॉर्म जीएसटीआर-9, फॉर्म जीएसटीआर-9ए और फॉर्म जीएसटीआर-9सी दाखिल करने की अंतिम तिथि बढ़ाकर 31 मार्च, 2019 करने का निर्णय लिया है.

    ये भी पढ़ें-GST काउंसिल की अगले हफ्ते होगी बैठक, इस मुद्दे पर होगी चर्चा

    अलग-अलग फाइल होने के कारण पड़ी जरूरत- जीएसटीएन ने अपने बयान में कहा है कि जीएसटीआर-1 और जीएसटीआर-3बी अगल-अलग फाइल किए जाते हैं. इसकी वजह से यह जरूरत महसूस की जा रही थी कि दोनों फॉर्म को एक ही जगह उपलब्ध कराया जा सके ताकि कारोबारी दोनों फॉर्म में अपनी देनदारी को एक ही जगह देख सकें. इसके कारण अब टैक्सपेयर्स के लिए दोनों देनदारियों को एक ही जगह पर देखना संभव हो गया है और वे इनकी तुलना भी कर सकेंगे.

    ये भी पढ़ें-छोटे कारोबारियों के लिए दो बड़ी खुशखबरी! अब 1 अप्रैल से नहीं कराना होगा GST रजिस्ट्रेशन

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.