अपना शहर चुनें

States

TCS ने रचा इतिहास, Accenture को पीछे छोड़ बनी दुनिया की सबसे बड़ी आईटी कंपनी

बाजार पूंजीकरण के लिहाज से TCS देश की भी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी है.
बाजार पूंजीकरण के लिहाज से TCS देश की भी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी है.

 TCS Market Cap: टीसीएस अब दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यूएशन वाली सॉफ्टवेयर कंपनी बन गई है. TCS का मार्केट कैप बढ़कर 169.9 अरब डॉलर (करीब 12,43,540.29 करोड़ रुपये) पहुंच गया है. कंपनी ने Accenture को पीछे छोड़कर यह मुकाम हासिल किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2021, 12:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. टाटा ग्रुप की फ्लैगशिप फर्म टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) दुनिया की सबसे ज्यादा वैल्यू वाली सॉफ्टवेयर कंपनी बन गई है. TCS ने सोमवार को Accenture को पीछे छोड़ते हुए यह मुकाम हासिल किया है. टीसीएस का मार्केट कैप (TCS Market Cap) 169.9 अरब डॉलर (करीब 12,43,540.29 करोड़ रुपये) को पार कर गया है. पिछले साल अक्टूबर में भी एक ऐसा मौका रहा, जब भारत की इस दिग्गज आईटी कंपनी ने एक्सेंचर को सबसे ज्यादा मार्केट कैप वाली सॉफ्टवेयर कंपनी के मामले में पीछे छोड़ा था. रिलायंस  इंडस्ट्रीज (RIL) के बाद भारत में 12 लाख करोड़ से  ज्यादा का मार्केट कैप का प्रतिमान बनाने वाली कंपनी का रिकॉर्ड भी TCS के नाम है.

साल 2018 में IBM इस मार्केट में शीर्ष कंपनी थी. उस दौरान IBM का कुल रेवेन्यू टीसीएस की तुलना में करीब 300 फीसदी ज्यादा था. इसके बाद दूसरे स्थान पर एक्सेंचर का नाम था. हालांकि, पिछले साल ही अप्रैल में टीसीएस का मार्केट 100 अरब डॉलर के पार पहुंचा था.

TCS ने इसी महीने जारी की है तीसरी तिमाही के नतीजे
08 जनवरी 2021 को TCS ने अपने तीसरी तिमाही के नतीजे घोषित किए थे. तीसरी तिमाही में कंपनी का प्रदर्शन काफी शानदार रहा था. उसके बाद से ही इस शेयर में तेजी बनी हुई है. 31 दिसबंर 2020 को समाप्त इस तिमही में कंपनी का कंसोलिडेटेड मुनाफा 8,701 करोड़ रुपये रहा है जिसके 8515 करोड़ रहने का अनुमान था. पिछली तिमाही में कंपनी का कंसोलिडेटेड मुनाफा 8,433 करोड़ रुपये रहा था. तीसरी तिमाही में कंपनी के मुनाफे में तिमाही आधार पर 16.4 फीसदी और सालाना आधार पर 7.1 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है.
यह भी पढ़ें: IRFC का IPO आपको मिला या नहीं...इस तरह करें चेक, आज फाइनल होगा अलॉटमेंट



सितंबर तिमाही में भी कंपनी का शानदार प्रदर्शन
इसी तरह तीसरी तिमाही में कंपनी की आय में तिमाही आधार पर 4.7 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है जबकि सालाना आधार पर कंपनी की आय में 5.5 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. तीसरी तिमाही में कंपनी की कंसोलिडेटेट आय 42,015 करोड़ रुपये रही है जबकि इसके 41,350 करोड़ रुपये रहने का अनुमान था. सितंबर तिमाही में कंपनी की कंसोलिडेटेड आय 40,135 करोड़ रुपये रही थी.

सबसे मजबूत स्थिति में टीसीएस का मार्केट पोजिशन
इन नतीजों के मुताबिक, पिछले 9 साल में वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में कंपनी की ग्रोथ में सबसे ज्यादा मजबूती देखने को मिली. इस मौके पर TCS के CEO ने कहा था कि कंपनी की मार्केट पोजिशन अब तक की सबसे मजबूत स्थिति में है. तीसरी तिमाही में कंपनी का कैश कनवर्जन रिकॉर्ड स्तर पर रहा है. इस शानदार तिमाही प्रदर्शन का असर कंपनी के शेयरों पर देखने को मिल रहा है.

यह भी पढें:  2020 में FDI के मामले में फिसड्डी साबित हुए विकसित देश, भारत को हुआ बड़ा फायदा

फिलहाल दोपहर 12:35 बजे तक टीसीएस के शेयर बीएसई पर 0.28 फीसदी की बढ़त के साथ 3,312.70 रुपय पर ट्रेड कर रहा है. वहीं, NSE पर TCS का शेयर 0.36 फीसदी की बढ़त के साथ 3,315 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज