होम /न्यूज /व्यवसाय /TCS Q1 Results: टीसीएस का मुनाफा 5% बढ़कर ₹9,478 करोड़ रहा, ₹8 प्रति शेयर डिविडेंड का ऐलान

TCS Q1 Results: टीसीएस का मुनाफा 5% बढ़कर ₹9,478 करोड़ रहा, ₹8 प्रति शेयर डिविडेंड का ऐलान

टाटा कंसल्‍टेंसी सर्विसेज (TCS)

टाटा कंसल्‍टेंसी सर्विसेज (TCS)

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में टीसीएस का नेट प्रॉफिट 5 फीसदी बढ़ गया है. कंपनी का मुनाफा एक साल पहले की तिमाही 9,00 ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज यानी टीसीएस (Tata Consultancy Services) ने शुक्रवार को अपने चालू वित्त वर्ष (2022-23) की पहली तिमाही के वित्तीय नतीजे घोषित कर दिए हैं. पहली तिमाही में टीसीएस का नेट प्रॉफिट 5.2 फीसदी बढ़कर 9,478 करोड़ रुपये रहा.

कंपनी का मुनाफा एक साल पहले की जून तिमाही 9,008 करोड़ रुपये की तुलना में 9,478 करोड़ रुपये हो गया है. इस दौरान कंपनी का ऑपरेशंस से कन्सॉलिडेटेड रेवेन्यू वार्षिक आधार पर 16.2 फीसदी बढ़कर 52,758 करोड़ रुपये हो गया.

8 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड घोषित
पीटीआई के मुताबिक, कंपनी ने अपने शेयरधारकों को एक रुपये अंकित मूल्य वाले प्रत्येक इक्विटी शेयर के लिए 8 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड देने की घोषणा की है. यह डिविडेंड 3 अगस्त, 2022 को निवेशकों के अकाउंट में आ जाएगा जिसके लिए रिकॉर्ड डेट 16 जुलाई, 2022 फिक्स किया गया है.

ये भी पढ़ें- IPO Market : 18 साल बाद फिर टाटा ग्रुप की कंपनी लाएगी आईपीओ! किस सेक्‍टर को होगा सबसे ज्‍यादा फायदा?

टीसीएस के सीईओ और एमडी राजेश गोपीनाथन ने कहा, ‘‘हम नए वित्त वर्ष की शुरुआत मजबूत रुख के साथ कर रहे हैं. हमने चौतरफा ग्रोथ हासिल की है और हमें सभी सेगमेंट में मजबूत डील मिले हैं. बातचीत के तहत वर्तमान में डील और जो डील हो चुके हैं, दोनों मजबूत बने हुए हैं. लेकिन व्यापक-आर्थिक अनिश्चितताओं को देखते हुए हम सतर्क हैं. हमारी नई ऑर्गेनाइजेशन स्ट्रक्चर अच्छी तरह से व्यवस्थित हो गई है, और हमें अपने ग्राहकों के करीब ला रही है.’’

कॉस्ट मैनेजमेंट के नजरिए से  चुनौतीपूर्ण रही पहली तिमाही
कंपनी के सीएफओ समीर सेकसरिया ने कहा कि कॉस्ट मैनेजमेंट के नजरिए से यह तिमाही चुनौतीपूर्ण रही है. उन्होंने कहा, ‘‘पहली तिमाही में 23.1 फीसदी का हमारा ऑपरेटिंग मार्जिन हमारे वार्षिक वेतन वृद्धि, टैलेंट चर्न की उच्च लागत और यात्रा खर्चों के सामान्य होने को दर्शाता है. हालांकि, हमारी लंबी अवधि की कॉस्ट स्ट्रक्चर और रिलेटिव कॉम्पेटिटिवनेस पहले जैसी है, जो हमें प्रॉफिटेबल ग्रोथ ट्रैजेक्टरी पर आगे बढ़ाने के लिहाज से अच्छी स्थिति में लाती है.’’

Tags: TCS

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें