ग्रेजुएट के लिए बड़ी खबर! दुनिया बड़ी IT कंपनी दे रही है 44 हजार लोगों को नौकरी, जुलाई में शुरू होगी हायरिंग

ग्रेजुएट के लिए बड़ी खबर! दुनिया बड़ी IT कंपनी दे रही है 44 हजार लोगों को नौकरी, जुलाई में शुरू होगी हायरिंग
ग्रेजुएट के लिए बड़ी खबर! दुनिया बड़ी IT कंपनी दे रही है 44 हजार लोगों को नौकरी

टाटा कंसल्टेंसी सर्विस (Tata Consultancy Services) द्वारा जुलाई के दूसरे हफ्ते से 44 हजार ग्रेजुएट फ्रेशर्स (Freshers Hiring In TCS) को नौकरी पर रखने की घोषणा करना है. इसके लिए कंपनी जल्द ही शुरुआत करने वाली है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना काल और लॉकडाउन के चलते जहां ज्यादातर कंपनियां छंटनी और सैलरी में कटौती कर रही हैं. वहीं टीसीएस बेरोजगार युवाओं के लिए खुशखबरी लेकर आई है. इसकी वजह टाटा कंसल्टेंसी सर्विस (Tata Consultancy Services) द्वारा जुलाई के दूसरे हफ्ते से 44 हजार ग्रेजुएट फ्रेशर्स (Freshers Hiring In TCS) को नौकरी पर रखने की घोषणा करना है. इसके लिए कंपनी जल्द ही शुरुआत करने वाली है.

TCS के ईवीपी और ग्लोबल हेड ह्यूमन रिसोर्सेज मिलिंद लक्कड़ के मुताबिक, कंपनी जल्द ही फ्रेशर्स युवाओं से संपर्क में हैं. कोरोना की वजह से उनके शैक्षिक वर्ष में देरी होने की वजह से अब तक उनकी ज्वाइनिंग नहीं हो पाई है. इसमें देरी हो रही है. दरअसल, टीसीएस के सीईओ राजेश गोपीनाथन ने बताया कि टीसीएस अभी (Lateral Hiring) लेटरल हायरिंग को खोल रही है. हालांकि अभी ये साफ नहीं किया गया है कि हायरिंग किस क्षेत्र में होगी.

ये भी पढ़ें:- खुशखबरी! किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए सरकार जल्द लगा सकती है कीटनाशकों के इस्तेमाल पर रोक



TCS में हर साल मार्च में होती है हायरिंग
टीसीएस हर साल मार्च में हायरिंग करता है, लेकिन इस बार कोरोना काल के चलते मार्च में लेटरल हायरिंग को फ्रीज कर दिया था. जिसे कंपनी जुलाई के दूसरे हफ्ते से शुरू कर सकती है. उसके साथ ही अमेरिका सहित दूसरे देशों में नई भर्तियां भी शुरु की जायेंगी. हालांकि कोविड के कहर की वजह से यह भर्तियां अभी कम मात्रा होंगी.

मनीकंट्रोल के साथ हुई हालिया बातचीत में कंपनी के सीएफओ वी-रामकृष्णन ने कहा कि कंपनी के लिए सबसे बुरा  दौर बीत चुका है और अब रिकवरी के संकेत दिखाई दे रहे हैं. इसी तरह कंपनी के सीईओ राजेश गोपीनाथन ने भी कहा है कि आगे कंपनी को बेहतर संभावनाएं दिख रही हैं. तीसरी तिमाही से शानदार रिकवरी देखने  को मिलेगी.

ये भी पढ़ें:-  बैंक और डाकघर को मिली नई सुविधा, मोटी रकम निकालने पर कटेगा ज्यादा टैक्स

नई टेक्नोलॉजी पर काम कर रही है कंपनी 
बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विसेस,इंश्योरेंस (BFSI), मैन्युफैक्चरिंग और रिटेल जैसे तमाम सेक्टर कोविड के बाद के न्यू नॉर्मल को अपना रहे हैं और इसके साथ ही नई टेक्नोलॉजी को भी अपने कारोबार में तरजीह दे रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि बैंकिंग सेक्टर में कॉन्टेक्ट लेस बैंकिंग और रिटेल सेक्टर में टचलेस डिलिवरी जैसी तकनीकी को अहमियत मिल रही है. इसी तरह सप्लाई चैन को मैनेज करने वाली कंपनियां भी नई तकनीकी पर फोकस कर रही हैं.

उन्होंने बताया कि कोविड संकट के बावजूद जून 2020 में समाप्त तिमाही के दौरान कंपनी को 6.9 अरब डॉलर के ऑर्डर मिले. इनमें से 2.3 बिलियन डॉलर के ऑर्डर BFSI और बड़े मैन्यूफैक्चरिंग सेक्टर से संबंधित थे. उन्होंने कहा कि ये कंपनी के लिए अच्छे संकेत है. उन्होंने कहा कि क्लाउड माइग्रेशन, डेटा एनालिटिक और टीसीएस के अपने प्रोडेक्ट और प्लेटफॉर्म जैसे Ignio के लिए भारी मांग देखने को मिल रही है. इसके अलावा कंपनियां साइबर सिक्योरिटी पर भी बड़ा खर्च कर रही हैं. इससे कंपनी को निश्चित ही आगे बड़ा फायदा मिलेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज