इस कंपनी ने छह महीने में दूसरी बार किया अपने कर्मचारियाें की सैलेरी बढ़ाने का ऐलान, 4.7 लाख कर्मियाें काे होगा फायदा

 काेराेना के बावजूद इंडस्ट्री नॉर्म्स के मुताबिक बढ़ाेत्तरी

काेराेना के बावजूद इंडस्ट्री नॉर्म्स के मुताबिक बढ़ाेत्तरी

पिछले साल अक्टूबर 2020 में जब अपने कर्मियाें के वेतन में बढ़ाेत्तरी का फैसला किया था ताे उस समय भी वह देश की पहली आईटी कंपनी थी. वहीं काेराेना महामारी के बावजूद कंपनी ने अपने इंडस्ट्री नॉर्म्स के मुताबिक अपने कर्मियाें के वेतन में बढ़ाेत्तरी का फैसला किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 19, 2021, 11:28 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. पिछले साल काेराेना वाररस और पेंडमिक के बाद जहां कई लाेगाें की नाैकरियां चली गई ताे वहीं बमुश्किल से अब हालात सामान्य हाे रहे है. हालांकि अब भी नाैकरियां उतनी नहीं है और ना ही कंपनियां ज्यादा पैसा दे रही है लेकिन इसी बीच एक कंपनी ने छह महीने में दूसरी बार अपनी कर्मचारियाें की सैलेरी बढ़ाने का ऐलान कर सबकाे चौका दिया. बात हाे रही है देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) की. पीटीआई के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार कंपनी ने अगले वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए अपने कर्मियाें के वेतन में बढ़ाेत्तरी का एलान किया है. बताया जा रहा है कि कंपनी ऑफशाेर एंप्लाइज की सैलरी में 6-7 फीसदी का इजाफा कर सकती है. यह छह महीने में दूसरी बार है जब TCS ने अपने कर्मचारियाें की सैलरी बढ़ाने का फैसला किया वहीं ऐसा करने वाली देश की पहली आईटी कंपनी भी.


टीसीएस के इस फैसले का फायदा कंपनी के 4.7 लाख कर्मचारियाें काे मिलेगा.TCS के प्रवक्ता ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि कंपनी के बेंचमार्क के मुताबिक दुनियाभर के TCS कर्मियाें काे इसका फायदा मिलेगा. वहीं सूत्र बताते है कि वर्ष 2021-22 सैलरी हाइक से TCS कर्मी छह महीने के समय से में औसतन 12-14 फीसदी के बराबर इंक्रीमेंट पाएंगे. 


ये भी पढ़े - Insurance : महामारी में बिजनेस बंद हुआ तो भी कर्मचारियों को मिलेगी सैलेरी, जानिए नए प्रोडक्ट के बारे में सब कुछ




तीसरी तिमाही में उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन


TCS का अपने कर्मचारियाें काे छह महीने में दूसरी बार सैलरी में इंक्रीमेंट देने के पीछे एक वजह यह भी बताई जा रही है  कि चालू वित्त की तीसरी तिमाही अक्टूबर-दिसंबर 2020 में टीसीएस ने उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन किया है. कंपनी के रेवेन्यू ग्राेथ की बात करे ताे यह पिछले नाै सालाें में सबसे ज्यादा रही. वही माैजूदा वित्त वर्ष की तिमारी में TCS की कांस्टेंट करंसी के टर्म में रेवेन्यू ग्राेथ तिमाही आधार पर 4.1 फीसदी रही. यह वित्त वर्ष 2011 की तिमाही के बाद सबसे ज्यादा है. तीसरी तिमाही में डॉलर आय में भी अनुमान से ज्यादा ग्राेथ देखने काे मिली, वहीं मार्जिन भी 5 साल के हाई पर है.




काेराेना के बावजूद इंडस्ट्री नॉर्म्स के मुताबिक बढ़ाेत्तरी


मालूम हाे TCS ने पिछले साल अक्टूबर 2020 में जब अपने कर्मियाें के वेतन में बढ़ाेत्तरी का फैसला किया था ताे उस समय भी वह देश की पहली आईटी कंपनी थी. वहीं काेराेना महामारी के बावजूद कंपनी ने अपने इंडस्ट्री नॉर्म्स के मुताबिक अपने कर्मियाें के वेतन में बढ़ाेत्तरी का फैसला किया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज