होम /न्यूज /व्यवसाय /

टेक दिग्गज गूगल के कर्मचारियों में दहशत, बड़े स्तर पर छंटनी की तैयारी, कंपनी ने दी चेतावनी

टेक दिग्गज गूगल के कर्मचारियों में दहशत, बड़े स्तर पर छंटनी की तैयारी, कंपनी ने दी चेतावनी

गूगल ने अपने कर्मचारियों को कहा या तो प्रोडक्टिविटी बढ़ाएं वरना छंटनी के लिए तैयार रहें.

गूगल ने अपने कर्मचारियों को कहा या तो प्रोडक्टिविटी बढ़ाएं वरना छंटनी के लिए तैयार रहें.

गूगल ने अपने कर्मचारियों से कहा है कि या तो वे अपनी उत्पादकता तो और बढ़ाएं वरना छंटनी के लिए तैयार रहे हैं. दरअसल, कंपनी के तिमाही नतीजे उम्मीदों के अनुरुप नहीं रहे हैं जिसके बाद कंपनी ने कर्मचारियों को चेतावनी दी है.

हाइलाइट्स

गूगल ने अपने कर्मचारियों को दी छंटनी की चेतावनी.
खराब तिमाही नतीजों के बाद उत्पादकता बढ़ाने को कहा.
माइक्रोसॉफ्ट 200 कर्मचारियों के दिखा चुकी है बाहर का रास्ता

नई दिल्ली. वैश्विक आर्थिक मंदी के बीच प्रमुख टेक कंपनियों ने कर्मचारियों की छंटनी शुरू कर दी है. माइक्रोसॉफ्ट ने हाल ही में अपने 200 कर्मचारियों को निकाला था और एक अन्य दिग्गज टेक कंपनी गूगल ने भी कर्मचारियों को चेतावनी दी है. खबरों के अनुसार, गूगल ने कहा है कि अगर कर्मचारी अपना प्रदर्शन नहीं सुधारते और अगले तिमाही आंकड़े उम्मीद के अनुरूप नहीं होते तो उन्हें छंटनी के लिए तैयार रहना चाहिए.

न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, सेल्स विभाग के शीर्ष अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि सेल्स प्रोडक्टिविटी के साथ-साथ कर्मचारियों की ओवरऑल प्रोडक्टिविटी का आंकलन किया जाएगा. बता दें कि गूगल पहले ही हायरिंग पर रोक को और आगे बढ़ा चुका है. इसी के साथ अब इस नई घोषणा ने कर्मचारियों के बीच छंटनी का डर पैदा कर दिया है.

ये भी पढ़ें- Rakesh Jhunjhunwala : ‘मार्केट, मौत और मौसम की भविष्यवाणी कोई नहीं कर सकता, पढ़ें बिग बुल के 10 निवेश मंत्र

नियुक्तियों को लंबे समय के लिए रोका
जुलाई में गूगल ने कहा था कि वह अपनी भर्तियों को 2 हफ्ते के लिए रोक रही है ताकि कर्मचारियों की संख्या की समीक्षा कर सके. हालांकि, नियुक्तियों पर इस रोक को पूरे 2022 के लिए बढ़ा दिया गया है. गूगल के सीईओ सुदंर पिचाई ने कहा था कि यह साफ है कि कंपनी चुनौतियों का सामना कर रही है और आगे भी राह आसान नहीं दिख रही. पिचाई ने कर्मचारियों से कहा था कि जिस प्रकार की आर्थिक परिस्थितियां पैदा हुई हैं उन्हें अपनी उत्पादकता को और बढ़ाना होगा. उन्होंने कहा, “जितने लोग हमारे पास हैं उसके अनुरुप हमारी उत्पादकता नहीं है और यह एक गहन चिंता का विषय है.”

तिमाही नतीजे रहे खराब
गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट को अप्रैल-जून (दूसरी तिमाही) तिमाही में उम्मीद से कम आय और राजस्व प्राप्त हुए है. समीक्षाधीन तिमाही में कंपनी के रेवेन्यू में केवल 13 फीसदी की वृद्धि हुई है जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 62 फीसदी थी. हालांकि, केवल गूगल ही नहीं है जो आय व राजस्व में कमी का सामना कर रही है. लिंक्डिन, मेटा (फेसबुक की पेरेंट), ओरेकल, ट्विटर, एनविडिया, स्नैपचैट, ऊबर, स्पॉटिफाई, इंटेल व माइक्रोसॉफ्ट समेत तमाम ऐसी टेक कंपनियां हैं जो दबाव का सामना कर रही हैं.

Tags: Business news, Economy, Google, Google CEO Sundar Pichai, Technology

अगली ख़बर