इस शहर में सिर्फ 35 रुपये मिल रहा प्याज़, खरीदने के लिए दिखाना होगा ID कार्ड

इस शहर में मिल रहा 35 रुपए किलो के हिसाब से प्याज
इस शहर में मिल रहा 35 रुपए किलो के हिसाब से प्याज

तेलंगाना में सरकार की ओर से चलाई जा रहे रायतु बाजार में सस्ती दरों पर प्याज मिल रहा है. बता दें रायतु बाजारों में छोटे किसान सीधे उपभोक्ताओं को सब्जियां बेच सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2020, 4:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: एक ओर देशभर में हर दिन बढ़ रहे प्याज के भाव से आम जनता काफी परेशान है...वहीं देश की एक राज्य सरकार ऐसी भी जो सिर्फ 35 रुपए प्रति किलो की दर से प्याज बेच रही है, लेकिन खास बात ये है कि इस रेट पर प्याज खरीदने के लिए आपको दुकानदार को पहचान पत्र दिखाना होगा. इसके साथ ही एक व्यक्ति को सिर्फ 2 किलो तक ही प्याज मिलेगा. यानी आप इससे ज्यादा नहीं ले सकते हैं...जी हां तेलंगाना राज्य में सरकार इस खास तरीके से आम जनता को सस्ता प्याज उपलब्ध करा रही है.

एक व्यक्ति को सिर्फ दो किलो प्याज
हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक, तेलंगाना में सरकार की ओर से चलाई जा रहे रायतु बाजार में सस्ती दरों पर प्याज मिल रहा है. बता दें रायतु बाजारों में छोटे किसान सीधे उपभोक्ताओं को सब्जियां बेच सकते हैं. तेलंगाना सरकार ने शनिवार को किसान बाजारों के जरिए 35 रुपए प्रति किलो की दर से प्याज बेचने का फैसला किया.

यह भी पढ़ें: अब फ्री में बदले कटे-फटे नोट, वापस मिलेगा पूरा पैसा, बस बैंक जाकर करें ये काम!
75-100 रुपए किलो तक मिल रहा प्याज


आपको बता दें इस समय देशभर के बाजारों में प्याज की कीमतों में तेजी से इजाफा हुआ है. कई जगहों पर प्याज के भाव 100 रुपए हैं, वहीं कई मंडियों में प्याज 75 रुपए के भाव पर बिक रहा है.



21 रुपए किलो के रेट से प्याज़ भेजेगा NAFED
NAFED के डायरेक्टर अशोक ठाकुर ने न्यूज18 इंडिया से एक खास बातचीत में बताया कि जल्द ही 21 रुपए प्रति किलो के रेट से राज्यों को प्याज़ भेजे जाएंगे. इसके बाद ट्रांसपोर्ट और दूसरे खर्च जोड़कर राज्य अपने हिसाब से उस प्याज़ को बाज़ारों में बेच सकेंगे. वहीं, दिल्ली में हम सफल के स्टोर पर 28 रुपए किलो के रेट से प्याज़ बिकवा रहे हैं. जानकारों की मानें तो NAFED से 21 रुपए किलो प्याज़ मिलने के बाद राज़्य अपने खर्चें जोड़कर ज़्यादा से ज़्यादा 30 रुपए प्रति किलो की रेट से प्याज़ को आराम से बेच सकेंगे.

स्टॉक में बचा है 25 हजार टन प्याज
केन्द्र सरकार के पास बफर स्टॉक (Onion Buffer Stock) में अब केवल 25 हज़ार टन प्याज ही बचा है, जोकि नवंबर के पहले सप्ताह तक ही खत्म हो जाएगा. NAFED के प्रबंध निदेशक संजीव कुमार चड्ढा ने शुक्रवार को इस बारे में जानकारी दी है. वर्तमान में घरेलू उपलब्धता को बढ़ाने और प्याज की कीमतों को कम करने के लिए नेफेड प्याज के बफर स्टॉक को उतार रहा है. बीते कुछ सप्ताह में प्याज की कीमतें 75 रुपए प्रति किलो तक जा चुकी हैं.

यह भी पढ़ें: LIC का शानदार प्लान, एक किस्त देकर हर महीने पाएं 19 हजार रुपए, जिंदगीभर होगी कमाई!

NAFED ने 1 लाख टन प्याज की सरकरी खरीद की
प्याज के बफर स्टॉक को नेफेड केंद्र सरकर की तरफ से तैयार और प्रबंधन करता है, ताकि जरूरत पड़ने पर इसे इस्तेमाल किया जा सके. इस साल नेफेड ने बफर स्टॉक के लिए 1 लाख टन प्याज की सरकरी खरीद की थी. अब प्याज के बढ़ते कीमतों पर लगाम लगाने के लिए इसी का इस्तेमाल किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज