Home /News /business /

telecom regulator trai recommended 36 cut in the base price of 5g spectrum band arnod

बाधा खत्‍म! 5जी सेवा जल्‍द शुरू होने के आसार, कंपनियों की मांग पर ट्राई ने दिया कीमतों में बड़ी कटौती का सुझाव

टेलीकॉम रेगुलेटर ट्राई ने 5जी स्पेक्ट्रम के बेस प्राइस में 36 फीसदी कटौती करने की सिफारिश की है.

टेलीकॉम रेगुलेटर ट्राई ने 5जी स्पेक्ट्रम के बेस प्राइस में 36 फीसदी कटौती करने की सिफारिश की है.

नीलामी के पिछले दो दौर में कई बैंड में स्पेक्ट्रम बिक नहीं पाया था. इसे ही ध्यान में रखते हुए ट्राई ने सभी बैंडों के लिए बेस प्राइस में कटौती का सुझाव दिया है. टेलीकॉम कंपनियां लंबे समय से यह मांग करती रही हैं कि उनकी क्षमता को ध्यान में रखते हुए स्पेक्ट्रम की आधार कीमत तय की जाए. ट्राई की ये सिफारिशें अगर दूरसंचार विभाग (डॉट) मान लेता है तो टेलीकॉम कंपनियों को बड़ी राहत मिलेगी.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. दूरसंचार नियामक ट्राई ने 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी के लिए बेस प्राइस में 36 फीसदी कटौती की सिफारिश की है. साथ ही स्पेक्ट्रम खरीदने वाली कंपनियों को भुगतान के लिए 30 वर्ष का समय देने का प्रस्ताव दिया है.

नीलामी के पिछले दो दौर में कई बैंड में स्पेक्ट्रम बिक नहीं पाया था. इसे ही ध्यान में रखते हुए ट्राई ने सभी बैंडों के लिए बेस प्राइस में कटौती का सुझाव दिया है. टेलीकॉम कंपनियां लंबे समय से यह मांग करती रही हैं कि उनकी क्षमता को ध्यान में रखते हुए स्पेक्ट्रम की आधार कीमत तय की जाए. ट्राई की ये सिफारिशें अगर दूरसंचार विभाग (डॉट) मान लेता है तो वित्तीय मुश्किलों से गुजर रहीं टेलीकॉम कंपनियों को बड़ी राहत मिलेगी.

5जी के लिए 317 करोड़ रुपए बेस प्राइस रखने का सुझाव
भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने देशभर के सभी टेलीकॉम सर्किल (पैन-इंडिया) के लिए 5जी स्पेक्ट्रम (3300-3670 मेगाहर्ट्ज) की नीलामी का रिजर्व प्राइस 317 करोड़ रुपये रखने की सिफारिश की है. इससे पहले 2018 की अपनी सिफारिश में ट्राई ने इसका आरक्षित मूल्य 492 करोड़ रुपये प्रति मेगाहर्ट्ज रखने का प्रस्ताव किया था. यह पिछली बार की तुलना में करीब 36 फीसदी कम है.

ये भी पढ़ें- न कार्ड न कैश, बस हाथ के इशारे से करिए पेमेंट! ये है फ्यूचर की टेक्नोलॉजी

सभी बैंड के स्पेक्ट्रम की होगी नीलामी
टेलीकॉम रेगुलेटर ने अपनी सिफारिश में कहा है कि 700 मेगाहर्ट्ज, 800 मेगाहर्ट्ज, 900 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज, 2100 मेगाहर्ट्ज, 2300 मेगाहर्ट्ज एवं 2500 मेगाहर्ट्ज के मौजूदा बैंड और 600 मेगाहर्ट्ज, 3300-3670 मेगाहर्ट्ज एवं 24.25-28.5 गीगाहर्ट्ज के नए स्पेक्ट्रम बैंड में सभी मौजूदा स्पेक्ट्रम की नीलामी होगी. ट्राई के मुताबिक, टेलीकॉम कंपनियों के लिए लचीला रुख अपनाते हुए 3300-3670 मेगाहर्ट्ज बैंड के लिए 10 मेगाहर्ट्ज और 24.25-28.5 गीगाहर्ट्ज के लिए 50 मेगाहर्ट्ज का ब्लॉक रखने की सिफारिश की गई है.

दिल्ली-मुंबई सर्किल की कीमतों में भारी कटौती
इसी के साथ 700 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम के लिए भी बेस प्राइस में 40 फीसदी की कटौती का सुझाव दिया गया है. इसे 2018 की तुलना में घटाकर अब 3,927 करोड़ रुपये प्रति मेगाहर्ट्ज रखने की सिफारिश की गई है. जबिक 800 मेगाहर्ट्ज के लिए आरक्षित मूल्य 3,620 करोड़ रुपये प्रति मेगाहर्ट्ज की सिफारिश ट्राई ने की है. दिल्ली और मुंबई सर्किल के लिए 700 मेगाहर्ट्ज बैंड के स्पेक्ट्रम के बेस प्राइस में क्रमशः 45 फीसदी और 58 फीसदी की बड़ी कटौती की गई है. दिल्ली सर्किल के लिए बेस प्राइस 509 करोड़ रुपए और मुंबई सर्किल के लिए 470 करोड़ रुपए बेस प्राइस रखने का ट्राई ने डॉट को सुझाव दिया है.

ये भी पढ़ें- SBI VS HDFC Bank: 1-2 साल के लिए करानी है फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट, जानें कहां मिलेगा ज्‍यादा फायदा

सरकार इसी साल मई-जून में स्पेक्ट्रम नीलाम करने की तैयारी कर रही है. चालू वित्त वर्ष 2022-23 में 5जी मोबाइल सेवाएं शुरू करने के लिए निजी टेलीकॉम कंपनियों को 5जी स्पेक्ट्रम देना है. इससे इंटरनेट एवं अपलोडिंग की स्पीड काफी तेज होने की उम्मीद है. ट्राई के मुखिया पीडी वाघेला ने बताया कि 5जी स्पेक्ट्रम संबंधी सिफारिशों को हितधारकों के साथ परामर्श और व्यापक चर्चा करने के बाद तैयार किया गया है.

Tags: 5G network, 5G Technology, Spectrum auction, TRAI

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर