टेलिकॉम कंपनियों से जवाब मिलने के दो सप्ताह में TRAI ‘प्रायोरिटी प्लान’ पर देगा फैसला

टेलिकॉम कंपनियों से जवाब मिलने के दो सप्ताह में TRAI ‘प्रायोरिटी प्लान’ पर देगा फैसला
ट्राई ने दो दूरसंचार कंपनियों को जवाब देने के लिए 10 अगस्त तक का समय दिया है.

दूरसंचार नियामक ट्राई ने कहा है कि वोडाफोन, आइडिया और एयरटेल के ‘प्रायोरिटी प्लान’ पर दूरसंचार कंपनियों से मांगी गई जानकारी का विस्तृत जवाब मिलने के दो सप्ताह के भीतर अपने फैसले को अंतिम रूप दे देगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. दूरसंचार नियामक TRAI को उम्मीद है कि वह वोडाफोन, आइडिया और एयरटेल के ‘प्रायोरिटी प्लान’ पर दूरसंचार कंपनियों से मांगी गई जानकारी का विस्तृत जवाब मिलने के दो सप्ताह के भीतर अपने फैसले को अंतिम रूप दे देगी. ट्राई के एक सूत्र ने यह जानकारी दी. सूत्र ने कहा कि ‘प्रायोरिटी प्लान’से संबंधित कई मुद्दों पर ट्राई को ‘‘गंभीर चिंता’’ थी. ट्राई ने दो दूरसंचार कंपनियों को जवाब देने के लिए 10 अगस्त तक का समय दिया है.

ट्राई ने कंपनियों से क्या पूछा?
सूत्रों के अनुसार ट्राई ने कंपनियों से पूछा था कि नेटवर्क व्यस्त होने की स्थिति में यदि किसी गैर-प्रीमियम प्लान वाले ग्राहक के इर्द-गिर्द कई सारे प्रीमियम प्लान ग्राहक हों तो उस स्थिति में गैर-प्रीमयम ग्राहक को कैसी सेवाएं मिलेंगी? ट्राई ने ग्राहकों को दो श्रेणियों में बांटने वाले दोनों कंपनियों के इन प्लान पर इस तरह के करीब दो दर्जन प्रश्न पूछे हैं.

यह भी पढ़ें: बिजली वितरण कंपनियों को राहत पैकेज के तहत 68 हजार करोड़ रुपये का लोन जारी
कंपनियों ने मांगा था समय


सूत्रों ने कहा कि सिर्फ ‘बेहतर सेवा’ शब्द का इस्तेमाल पर्याप्त नहीं है. यह पूछने पर कि इस मुद्दे पर निष्कर्ष तक पहुंचने में ट्राई को कितना समय लगेगा, सूत्र ने कहा कि इस संबंध में दो दूरसंचार कंपनियों ने कुछ और समय मांगा था. सूत्र ने कहा कि ट्राई जवाब मिलने के दो सप्ताह में ‘प्रायोरिटी प्लान’ पर फैसला सुना देगा.

क्या है मामला?
गौरतलब है कि एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने मासिक आधार पर एक निश्चित राशि खर्च करने वाले ग्राहकों को प्रीमियम श्रेणी में रखने की घोषणा की थी. कंपनियों ने अपने ऐसे ग्राहकों को 4जी नेटवर्क पर वरीयता देने, इंटरनेट की तेज स्पीड उपलब्ध कराने समेत कई अन्य लाभ की पेशकश की थी. ट्राई ने इस पर आपत्ति जताते हुए कंपनियों से पहले चरण में जवाब तलब किया था, जिस पर पिछले महीने कंपनियों ने अपने जवाब ट्राई को सौंपे. अब ट्राई ने दोनों कंपनियों से नए प्रश्न पूछे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज