• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • आतंकवादी हमले में हुए नुकसान का भी बीमा कवर होता है, जानिए जनरल इंश्योरेंस कितने तरह का होता है

आतंकवादी हमले में हुए नुकसान का भी बीमा कवर होता है, जानिए जनरल इंश्योरेंस कितने तरह का होता है

 जानिए जनरल इंश्योरेंस कितने तरह का होता है

जानिए जनरल इंश्योरेंस कितने तरह का होता है

कोरोना महामारी की वजह से तेजी से हेल्थ इंश्योरेंस की मांग बढ़ी है. महामारी के बाद लोगों में इंश्योरेंस को लेकर काफी जागरुकता आई है. नए ग्राहक इंश्योरेंस तो कराना चाहते हैं लेकिन उन्हें इसके बारे में बहुत ज्यादा जानकारी नहीं होती है.

  • Share this:

    नए ग्राहक इंश्योरेंस तो कराना चाहते हैं लेकिन उन्हें इसके बारे में बहुत ज्यादा जानकारी नहीं होती है. लाइफ से जुड़े इश्योरेंस को लाइफ इंश्योरेंस कहते हैं. लेकिन जनरल इंश्योरेंस को गैर-लाइफ इंश्योरेंस भी कहा जाता है.

    कोरोना महामारी की वजह से तेजी से हेल्थ इंश्योरेंस की मांग बढ़ी है. महामारी के बाद लोगों में इंश्योरेंस को लेकर काफी जागरुकता आई है. किसी तरह से नुकसान से बचने के लिए लोग अब इंश्योरेंस करवा रहे हैं.

    जनरल इंश्योरेंस कितने प्रकार के होते हैं

    मोटर इंश्योरेंस

    मोटर इंश्योरेंस विभिन्न वाहनों और ऑफ-रोड आपातकाल के खिलाफ वाहन को सभी नुकसान और दायित्व को कवर करता है. एक व्यापक पॉलिसी प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदाओं के कारण हुई क्षति को कवर करती है, आतंकवादी हमले में हुए नुकसान का भी बीमा कवर होता है. इस बीमा का फायदा तब होता है जब आपके वाहन से किसी व्यक्ति को चोट पहुंचती है या उसकी मौत हो गइ हो. इसे थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के तहत कवर किया जाता है.

    यह भी पढ़ें – NSE IFSC: भारत में पहला प्लेटफॉर्म, जो भारतीय रिटेल इन्वेस्टरों को अमेरिकी शेयरों में ट्रेडिंग की सुविधा देगा

    हेल्थ इंश्योरेंस

    इस बीमा के तहत आप अपने मेडिकल और सर्जिकल खर्चो के नियोजित कर सकते हैं. यह बीमा ग्राहक को दुर्घटना या किसी बीमारी के समय होस्पिटलाइजेशन, एंबुलेंस, नर्सिंग केयर, सर्जरी और मेडिकल बिल आदी के भुगतान में सहायता करती है. लेकिन इसके कुछ नियम और शर्तें होते हैं जिससे बीमा धारक को पालन करना होता है. कुछ बीमा योजना समय समय पर स्वास्थ्य की जांच कराने का भी पैसा देती है. हेल्थ बीमा में मुख्यतः कोंप्रिहेंसिव, फेमिली फ्लोटर, सर्जरी और इंडिविजुअल एसे चार तरह के कवर होते हैं.

    ट्रावेल इंश्योरेंस (यात्रा बीमा)

    यात्रा बीमा किसी यात्रा के दौरान होने वाले नुकसान से बचाती है. अगर कोई व्यक्ति किसी काम से या घूमने के लिए विदेश जाता हैं और उसे चोट लग जाती है या सामान गुम हो जाता है तो बीमा कंपनी उसे मुआवजा देती है. यात्रा बीमा पॉलिसी आपकी यात्रा शुरू होने से लेकर यात्रा खत्म होने तक ही वैध होता है. यात्रा बीमा पॉलिसी के लिए अलग-अलग बीमा कंपनियों की शर्त अलग-अलग हो सकती है.

    यह भी पढ़ें- Chemplast Sanmar IPO: आज Open हो गया आईपीओ, जानिए निवेश करने से पहले सभी जरूरी बातें

    होम इंश्योरेंस

    अगर आप अपने घर का बीमा किसी साधारण बीमा कंपनी से कराते हैं तो इसमें आपके घर की सुरक्षा होती है. बीमा पॉलिसी खरीदने के बाद अगर आपके मकान को किसी भी तरह का नुकसान होता है तो उसका हर्जाना बीमा कंपनी देती है.

    आपके घर को किसी भी तरह के नुकसान से कवरेज इस बीमा पॉलिसी में शामिल है. घर को प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान में आग, भूकंप, आकाशीय बिजली, बाढ़ आदि की वजह से होने वाला नुकसान शामिल है. कृत्रिम आपदा में घर में चोरी होना, आग, लड़ाई-दंगे आदि की वजह से घर को हुआ नुकसान शामिल है. अगर मिसाइल टेस्टींग से भी आपके घर को नुकसान हुआ है तो भी बीमा कंपनी इसे चुकाएगी.

    कोमर्शियल इंश्योरेंस

    बिजनेस से जुडे रिस्क को ये बीमा कवर करता है. इस में ओटोमोटिव, एविएशन, कंस्ट्रक्शन, केमिकल्स, पावर, मेन्युफेकचरिंग, टेलीकोम, टेक्साइल, ट्रांसपोर्ट इत्यादी सेकटर्स शामिल हे. कोमर्शियल इंश्योरेंस में मरीन और लायबलिटी इंश्योरेंस का समावेश होता है. अब मरीन इंश्योरेंस जहाज और उसके अंदर रखे सामान को होनेवाले नुकसान को कवर करता है.

    Liability Insurance वास्तव में किसी कंपनी के काम-काज या किसी उत्पाद से ग्राहक को होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए होता है. इस तरह की किसी स्थिति में कंपनी पर लगने वाला जुर्माना और कानूनी कार्यवाही का पूरा खर्च Liability Insurance करने वाली बीमा कंपनी को उठाना पड़ता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज