Bitcoin की कीमतों में आई गिरावट से Tesla को झटका! हो सकता है 670 करोड़ रुपये का नुकसान

Bitcoin की कीमत में गिरावट से एलन मस्‍क की कंपनी टेस्‍ला को तगड़ा नुकसान हो सकता है.

क्रिप्‍टोकरेंसी बिटक्‍वाइन (Bitcoin) की कीमतों में आई भारी गिरावट के कारण टेस्ला (Tesla) को साल 2021 की दूसरी तिमाही में 9 करोड़ डॉलर के नुकसान की आशंका है. एलन मस्‍क (Elon Musk) की कंपनी को ये नुकसान बिटक्‍वाइन के 30 हजार डॉलर के नीचे आने के कारण हो सकता है.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों में एक टेस्ला (Tesla) के मालिक एलन मस्क (Elon Musk) के इशारे पर ज्‍यादातर क्रिप्‍टोकरेंसीज में उठापटक शुरू हो जाती है. उनके एक ट्वीट से क्रिप्‍टोकरेंसीज (Cryptocurrency) की कीमतें कभी आसमान पर और कभी जमीन पर पहुंच जाती हैं. हालांकि, एलन मस्‍क का ट्वीट कभी-कभी उनकी कंपनी टेस्‍ला पर भी भारी पड़ जाता है. वहीं, क्रिप्‍टोमार्केट को बर्बाद करने में चीन (China) भी पीछे नहीं है. बता दें कि जिस दिन चीन ने बिटक्‍वाइन (Bitcoin) पर पाबंदी लगाई थी, उस दिन ये क्रिप्‍टोकरेंसी धड़ाम हो गई थी.

    ई-कार निर्माता के पास हैं 42 हजार बिटक्‍वाइन
    दुनिया की सबसे पॉपुलर क्रिप्‍टोकरेंसी बिटक्‍वाइन की कीमतें पहली बार जनवरी 2021 के बाद 23 जून को 30,000 डॉलर के नीचे आ गई थीं. बिटक्‍वाइन की कीमतों में आई भारी गिरावट के कारण टेस्ला को साल 2021 की दूसरी तिमाही में करीब 670 करोड़ रुपये (9 करोड़ डॉलर) के नुकसान की आशंका है. बता दें कि टेस्‍ला उन कंपनियों में शामिल है, जिसके पास बिटक्‍वाइन की बड़ी होल्डिंग है. कंपनी की बैलेंसशीट के मुताबिक, उसके पास 42 हजार बिटक्‍वाइन हैं, जिसकी कीमत 1.33 अरब डॉलर है. कंपनी ने इसे 31,620 डॉलर के भाव पर खरीदा था. जब बिटक्‍वाइन की कीमतें 59,000 डॉलर पर पहुंची थीं तो टेस्ला की बिटक्वाइन होल्डिंग की वैल्यू 2.84 अरब डॉलर तक पहुंच गई थी. कंपनी की बैलेंसशीट और प्रॉफिट एंड लॉस पर बिटक्‍वाइन की कीमतों का काफी असर होगा.

    ये भी पढ़ें- RIL AGM 2021: 'रिलायंस ने 1 साल में दीं 75000 नई नौकरियां, रिलायंस रिटेल 3 साल में देगी 10 लाख लोगों को रोजगार'

    टेस्‍ला को बेचनी पड़ेंगी बिटक्‍वाइन की कुछ होल्डिंग्‍स
    बिटक्‍वाइन की कीमतें 23 जून को जब 30,000 डॉलर के नीचे आ गईं, जिससे कंपनी को अपनी बैलेंसशीट में 9 करोड़ डॉलर का घाटा दिखाना पड़ेगा. अगर बिटक्‍वाइन 30 जून 2021 तक रिकवर कर लेता है तो भी उसे इस घाटे को अपनी बैलेंसशीट में impairment costs के तौर पर दिखाना होगा. कंपनी को इस घाटे की भरपाई के लिए यानी इसे स्‍क्‍वायर ऑफ (square off) करने के लिए अगले क्‍वार्टर में प्रीमियम पर बिटक्‍वाइन की कुछ होल्डिंग्स बेचनी पड़ेंगी. हालांकि, आज बिटक्‍वाइन की कामतें फिर से 34,000 डॉलर के करीब पहुंच गई है, लकिन क्रिप्‍टोकरेंसीस की कीमतों में उठापटक जारी है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.