होम /न्यूज /व्यवसाय /बेंगलुरु में आम लोगों के लिए खुला ONDC, अमेजन और फ्लिपकार्ट को मिलेगी टक्कर

बेंगलुरु में आम लोगों के लिए खुला ONDC, अमेजन और फ्लिपकार्ट को मिलेगी टक्कर

सेलर एप ने इस नेटवर्क के सेलर साइड से बेंगलुरु के 50 प्रतिभागियों को जोड़ा है.

सेलर एप ने इस नेटवर्क के सेलर साइड से बेंगलुरु के 50 प्रतिभागियों को जोड़ा है.

बेंगलुरु में यूजर्स को इस बीटा टेस्टिंग में नेटवर्क से एक साथ नहीं जोड़ा जाएगा बल्कि इस काम को चरणबद्ध तरीके से पूरा किय ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

ONDC का नेटवर्क 30 सितंबर से बेंगलुरु के कुछ इलाकों में शुरू हो गया है.
पहले चरण के ट्रायल में इस नेटवर्क से 200 से अधिक ग्रॉसरी स्टोर्स और रेस्टॉरेंट्स को जोड़ा गया है.
सेलर एप ने इस नेटवर्क के सेलर साइड से बेंगलुरु के 50 प्रतिभागियों को जोड़ा है.

नई दिल्ली. सरकार ने एक नई तरह के ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स यानी ओएनडीसी (ONDC) की शुरुआत की है. ओएनडीसी अब बेंगलुरु में आम लोगों के लिए खुल गया है. सरकार ने इस साल अप्रैल में ओएनडीसी को पायलट बेसिस पर लॉन्च किया गया था. फिलहाल बेंगलुरु के 16 पिन कोड क्षेत्रों के लिए ओएनडीसी खोला गया है. पहले चरण के ट्रायल में इस नेटवर्क से 200 से अधिक ग्रोसरी स्टोर्स और रेस्टोरेंट्स को जोड़ा गया है.

ओएनडीसी से जुड़े लोगों का कहना है कि बेंगलुरु में यूजर्स को इस बीटा टेस्टिंग में नेटवर्क से एक साथ नहीं जोड़ा जाएगा बल्कि इस काम को चरणबद्ध तरीके से पूरा किया जाएगा. अगले एक हफ्ते में इस नेटवर्क पर यूजर्स के लिए कोटक महिंद्रा बैंक और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के भी लाइव हो जाने की उम्मीद है.

अभी तक सीमित यूजर्स तक था नेटवर्क
ओएनडीसी के सीईओ और एमडी T Koshy ने बताया कि “अब तक पायलट प्रोग्राम के तहत यह नेटवर्क कुछ चुने हुए यूजर्स तक सीमित था. बेंगलुरु में इसकी बीटा टेस्टिंग का लॉन्च इसे पूरी तरह से लागू करने की दिशा में बड़ा कदम है. हम यूजर्स से मिले फीडबैक के आधार पर इस नेटवर्क को और बेहतर बनाने की कोशिश करेंगे.”

उन्होंने बताया “नेटवर्क के लिए पूरी तरह से काम करने के लिए हमें थोड़ा इंतजार करना होगा. लेकिन, Star Trek के लोकप्रिय डायलॉग की तरह हम ऐसी जगह जा रहे हैं, जहां पहले कोई नहीं गया है.” बेंगलुरू के इस ट्रायल में Paytm, MyStore और Spice Money को बायर साइड ऐप के तौर पर जोड़ा गया है. इससे इन ऐप पर साइन-अप करके यूजर्स इस नेटवर्क का उपयोग ऑर्डर प्लेस करने के लिए कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें – आर्थिक मोर्चे पर खुशखबरी, लगातार सातवें महीने GST कलेक्शन ₹1.40 लाख करोड़ के पार

चीजों को और आसान बनाने पर कर रहे हैं काम
सेलर ऑनबोर्डिंग प्लेटफॉर्म सेलर ऐप के को-फाउंडर दिलीप वामनन ने बताया कि “हमने बैक-एंड में चीजों को आसान बनाने के लिए कड़ी मेहनत की है. पिछली रात हमने पाया कि हमारा सर्वर अमेरिका में है, जिसकी वजह से लेटेंसी बढ़ी है. इसलिए हमें सर्वर को इंडिया शिफ्ट करना होगा. इससे हमें लेटेंसी को 300 मिली सेकेंड्स से घटाकर 50 मिली सेकेंड्स तक लाने में मदद मिलेगी.’

नेटवर्क से जुड़े ये मर्चेंट्स
यह नेटवर्क 11 सेलर-साइड-ऐप्स का रोस्टर ग्रोसरी मर्चेंट्स, फूड एवं बेवरेज आउटलेट्स और कंज्यूमर पैकेंजिंग गुड्स (CPG) ब्रांड्स को होस्ट करेगा. इनमें यूनिलीवर्स यूशॉप, गोगल, सेलरऐप, ग्रोथफॉल्कंस, एनस्टोर और इनोबिट्स कई ब्रांड्स शामिल होंगे.

क्या है ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स
ओएनडीसी एक यूपीआई-प्रकार का प्रोटोकॉल है. यह वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड यानी डीपीआईआईटी (DPIIT) की एक पहल है. इसका मकसद तेजी से बढ़ते ई-कॉमर्स क्षेत्र को दूर-दराज के क्षेत्रों तक पहुंचाना, छोटे खुदरा विक्रेताओं की मदद करना और फ्लिपकार्ट और अमेजन जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों के प्रभुत्व पर अंकुश लगाना है. इन दोनों का ही देश के ऑनलाइन खुदरा बाजार के 80 फीसदी हिस्से पर कब्जा है.

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें