एलआईसी समेत टॉप 10 आईपीओ में इस साल है निवेश का मौका, कर लें यह तैयारी

जनवरी में अब तक चार आईपीओ आ चुके हैं, जिन्होंने निवेशकोें को अच्छा रिटर्न दिया है.

जनवरी में अब तक चार आईपीओ आ चुके हैं, जिन्होंने निवेशकोें को अच्छा रिटर्न दिया है.

जनवरी में चार आईपीओ लॉन्च हो चुके हैं, जिन्होंने अच्छा रिटर्न दिया है. साल के बाकी महीनों में आने वाले आईपीओ में से जानिए टॉप 10 आईपीओ.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2021, 12:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच चुके शेयर बाजार और अच्छे मार्केट सेंटिमेंट के चलते कंपनियों में आईपीओ (IPO) लॉन्च करने की होड़ है. कोरोनावायरस महामारी से प्रभावित कंपनियां रकम जुटाने के लिए लगातार IPO लॉन्च कर रही हैं. जनवरी में अब तक चार आईपीओ आ चुके हैं, जिन्होंने निवेशकोें को अच्छा रिटर्न दिया है. इस साल देश के बहुप्रतिक्षित एलआईसी के आईपीओ के साथ 9 और टॉप आईपीओ लॉन्च होने की संभावना है. इन आईपीओ से निवेशकों को अच्छा मुनाफा होने की उम्मीद है.

सबसे पहले हम जानते हैं आईपीओ लाने वाली कंपनियों के बारे में...

एलआईसी 

2021 के केंद्रीय बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया है कि भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) का IPO इसी साल लॉन्च होगा. वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि पॉलिसीधारककों के लिए LIC IPO का 10% तक का हिस्सा आरक्षित रहेगा. सरकार इस आईपीओ के माध्यम से 80,000 करोड़ रुपए तक की राशि एकत्र करने का लक्ष्य लेकर चल रही है.
यह भी पढ़ें : नौकरी की बात : फोन या कम्प्यूटर की बजाय नौकरी खोजने के लिए एम्प्लायर्स से ईमेल व Linkdin पर करें सीधे बात

बजाज एनर्जी

कंपनी का आईपीओ आकार लगभग 5,450 करोड़ रुपए होने का अनुमान है. बजाज पॉवर वेंचर्स के प्रमोटर 300 करोड़ रुपए की हिस्सेदारी बेचेंगे. इस कंपनी के प्रमोटर शिशिर बजाज, मिनाक्षी बजाज, कुशाग्र बजाज और अपूर्व बजाज हैं. बजाज एनर्जी लिमिटेड उत्तर प्रदेश में निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी थर्मल उत्पादक कंपनियों में से एक है.



कल्याण ज्वेलर्स

कल्याण ज्वैलर्स आईपीओ के जरिए लगभग 1,750 करोड़ रुपए जुटाने की योजना बना रहा है. 1000 करोड़ के नए इक्विटी इशू की पेशकश करने की तैयारी है. कंपनी ने पिछले वित्त वर्ष में 9,814 करोड़ रुपए से 10,181 करोड़ रुपए की ऑपरेशन सेल्स हासिल की है.

पॉलिसीबाजार आईपीओ

इंफो एज के शुरुआती निवेशक होने के साथ वर्ष 2008 में पॉलिसीबाजार की स्थापना की गई थी. 90 प्रतिशत से अधिक मार्केट शेयर के साथ पॉलिसी बाजार है भारत में सबसे बड़ी ऑनलाइन बीमा कंपनी है. पॉलिसीबाजार की योजना सितंबर 2021 में आईपीओ से पहले 2 बिलियन डॉलर से अधिक के वैल्यूएशन फंडिंग राउंड लाएगी.

यह भी पढ़ें : शेयर बेचकर एलआईसी ने कमाए 35 हजार करोड़ रुपए, इस साल 5 लाख करोड़ से ज्यादा निवेश का अनुमान

जोमेटो आईपीओ

फूड डिलीवरी स्टार्टअप जोमेटो (Zomato) के 2021 की पहली छमाही में आईपीओ लॉन्च करने की उम्मीद है. जोमेटो ने वित्त वर्ष 2020 के दौरान उबर ईट्स का अधिग्रहण किया था. जोमेटो 6-8 बिलियन डॉलर के शेयर की फर्म के हिसाब से मूल्यांकन कर रहा है. एंट समूह ने एक बार Zomato में 25-26% हिस्सेदारी ली है. मौजूदा निवेशक टाइगर ग्लोबल, कोरा इनवेस्टमेंट, स्टीडव्यू, फिडेलिटी, बो वेव, वी कैपिटल और नए प्रायोजक ड्रैगोनर ग्रुप फंडिंग राउंड में भाग लेंगे.

बारबेक्यू नेशन 

बारबेक्यू नेशन (Barbeque Nation) जल्द ही अपने IPO के साथ आएगा. आईपीओ के माध्यम से बाजार नियामक सेबी ने 1000 से 1200 करोड़ रुपए जुटाने की मंजूरी दी है. फर्म 150 करोड़ रुपए की राशि के प्री-आईपीओ प्लेसमेंट पर विचार किया जा सकता है. कंपनी को सयाजी होटल्स, सयाजी हाउसकीपिंग सर्विसेज, कयूम धनानी, रावो धनानी और सुचित्रा धनानी ने प्रमोट किया है. निजी इक्विटी कंपनी सीएक्स पार्टनर्स ने इसे फंडिंग की है.

यह भी पढ़ें : टेस्ला के ऐलान के बाद भारत में भी बिटकॉइन खरीदी वाल्यूम में चार गुना इजाफा, लेकिन एक्सचेंज नए कानून से परेशान

डिलेवरी 

ई-लॉजिस्टिक्स सेवा प्रदाता डिलेवरी (Delhivery) का मार्केट शेयर 20 प्रतिशत से ज्यादा है. कंपनी विभिन्न फंडिंग राउंड में 780 मिलियन जुटा चुकी है. कंपनी के 85 से अधिक सप्लाई सेंटर हैं और उसने अब तक 750 मिलियन ऑर्डर सप्लाई किए हैं.

पेटीएम 

2010 में स्थापित होने वाली पेमेंट कंपनी पेटीएम इस साल अपना आईपीओ लॉन्च कर सकती है. सॉफ्टबैंक, एंट फाइनेंशियल, टी रोवे प्राइस और डिस्कवरी कैपिटल मुख्य निवेशक हैं. एंट फाइनेंशियल फर्म में 40% हिस्सेदारी के साथ सबसे बड़ा निवेशक है. कंपनी के 15 से 20 करोड़ डेली यूजर हैं. अगले पांच वर्षों में UPI पर निर्भर मोबाइल पेमेंट 60% से ज्यादा बढ़ने की उम्मीद है.

ओला

ओला(OLA) एक प्रमुख कैब सर्विस प्रोवाइडर है. इसे टाइगर ग्लोबल के साथ-साथ चीनी कंननी टेनसेंट (Tencent) से फंडिंग हासिल है. वर्तमान में, कंपनी सालाना दस करोड़ से अधिक राइड करती है. भारतीय बाजार में 55% बाजार हिस्सेदारी है.

बायजूस

बायजूस (BYJUs) भारत का प्रमुख ई लिर्निंग प्लेटफार्म है. महामारी के दौरान इसकी तेजी से ग्रोथ हुई है. इसमें Lightspeed और Sequoia ने फंड लगाया है. फंड के आधार पर 10.8 बिलियन डॉलर का मूल्यांकन है. कंपनी 7 करोड़ से ज्यादा रिजस्टर्ड यूजर हैं. भारत और अमेरिका दोनों में बायूजस लिस्ट हो सकता है.

आईपीओ क्या है?

प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) के जरिए कोई कंपनी पब्लिक लिमिटेड कंपनी बन जाती है. वह बाजार में सूचीबद्ध होकर पहली बार सार्वजनिक तौर पर निवेशकों से पैसा जुटाती है.

यह भी पढ़ें : नौकरी छोड़ने पर अब खुद से अपडेट कर सकते हैं अपना पीएफ अकाउंट, नहीं अटकेगा आपका फंड

आईपीओ के लिए आवेदन कैसे करें?

आजकल, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के कारण आईपीओ के लिए रजिस्ट्रेशन कराना काफी सरल हो गया है. अधिकांश नेशनलाइज्ड बैंक और स्टॉक ब्रोकर ऑनलाइन प्लेटफार्म की सुविधाएं प्रदान करते हैं. एक निवेशक को ऑनलाइन आवेदन करने के लिए आईपीओ सेवा प्रदान करने वाली ब्रोकरेज संस्था के साथ एक डीमैट खाता खोलना होता है.

इस साल आईपीओ लॉन्चिंग की वजह

मार्केट विशेषज्ञों का कहना है कि कंपनियां मौजूदा मार्केट की मजबूत स्थिति को देखते हुए इसका लाभ लेना चाहती हैं. विदेशी निवेश का फ्लो लगातार बढ़ रहा है. कंपनियों को उम्मीद है कि IPO के जरिए रकम जुटाने की योजना में आसानी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज