कैश क्रंच पर RBI की सफाई - देश में नहीं है नोटों की किल्लत, प्रिटिंग भी कर रहे तेज़

कैश क्रंच पर आरबीआई (RBI) ने कहा है कि देश में करेंसी का कोई संकट नहीं है, केवल कुछ इलाके ही एटीएम में कैश की कमी से जूझ रहे हैं जहां सही तरीके से करेंसी सप्लाई नहीं हो पा रही है.

News18Hindi
Updated: April 18, 2018, 9:38 AM IST
कैश क्रंच पर RBI की सफाई - देश में नहीं है नोटों की किल्लत, प्रिटिंग भी कर रहे तेज़
देश के कई राज्यों में एटीएम में कैश न होने की शिकायत
News18Hindi
Updated: April 18, 2018, 9:38 AM IST
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने एटीएम में कैश की कमी पर बड़ा बयान दिया है. आरबीआई ने कहा है कि देश में करेंसी का कोई संकट नहीं है. आरबीआई के पास पर्याप्त कैश रिजर्व है. केवल कुछ इलाके ही एटीएम में कैश की कमी से जूझ रहे हैं जहां सही तरीके से करेंसी सप्लाई नहीं हो पा रही है. आरबीआई ने इसके लिए एटीएम में करेंसी सप्लाई नहीं हो पाने को वजह बताया है.आपको बता दें कि देश के कई राज्यों में कैश की किल्लत की खबरें आई हैं. कई छोटे शहरों में एटीएम खाली हैं और बाहर 'नो कैश' का बोर्ड लगा है. उत्तर प्रदेश से लेकर बिहार, गुजरात, झारखंड और मध्यप्रदेश के शहरी और ग्रामीण इलाकों में एटीएम में कैश न होने की शिकायत आ रही हैं.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक देश भर में पिछले 24 घंटे से एटीएम में कैश की कमी होने की खबरें आने के बाद अब आरबीआई ने बयान जारी किया है. एटीएम मशीनों की क्षमता बढ़ाई जा रही है और उनकी मरम्मत भी की जा रही है. आरबीआई इन मामलों की बारीकी से जांच कर रही है.

चारों प्रेस में प्रिंटिंग का काम तेज
कैश की कमी को नोटबंदी 2.0 कहे जाने पर मंगलवार शाम आरबीआई ने कहा, 'मीडिया में यह रिपोर्ट किया जा रहा है कि देश के कुछ हिस्सों में करंसी की कमी है. यह शुरुआत से साफ किया गया है कि आरबीआई के वॉल्ट्स और करंसी चेस्ट्स में पर्याप्त कैश है. फिर भी नोट छापने की चारों प्रेस में प्रिंटिंग का काम तेज कर दिया गया है.

लेकिन कुछ इलाकों में रहेगी कैश की परेशानी
रिजर्व बैंक ने कहा कि कुछ हिस्सों में ATMs में कैश पहुंचाने में कुछ समय लग सकता है. साथ ही कई ATMs मशीनों में नए नोटों के लिए रीकैलिब्रेशन की प्रक्रिया अभी भी जारी है. आरबीआई ने कहा इन दोनों ही पहलुओं पर उसकी नजर बनी हुई है. फिर भी सावधानी बरतते हुए आरबीआई ऐसे इलाकों में कैश की आपूर्ति तेज करेगा जहां एकाएक कैश निकासी में तेजी आई है.

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कुछ राज्यों में पैदा हुई कैश की किल्लत का कारण वहां अचानक कैश की मांग बढ़ना बताया है. उन्होंने कहा कि देश में जरूरत से ज्यादा नोट सर्कुलेशन में हैं और बैंकों में भी पर्याप्त नोट उपलब्ध हैं. वित्त मंत्री ने ट्वीट कर बताया कि सरकार ने देश में करंसी के हालात की समीक्षा की है और आने वाले तीन दिनों में ठीक हो जाएगा.



यह भी पढ़ें : ATM से कैश गायब होने पर हाहाकार, सरकार ने गिनाए ये कारण | नोटबंदी जैसा हाल! कई राज्यों में ATM से कैश गायब, RBI ने बनाई कमिटी
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर