RBI के राहत उपायों से ये 9 शेयर सबसे ज्यादा फायदे में रहेंगे, जानिए कहां निवेश करें

बाजार में तेजी

बाजार में तेजी

विशेषज्ञों ने मनी कंट्रोल से बातचीत में बताया कि स्मॉल फाइनेंस बैंक (SFBs), हाउसिंग फाइनेंस बैंक ( , मेडिकल इक्विपमेंट मैन्युफैक्चरर्स, हेल्थ केयर, बैंक, NBFCs और hospital sectors के स्टॉक इन राहत उपायों से सबसे ज्यादा फायदे में रहेंगे.

  • Share this:

मुंबई. RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने COVID-19 मामलों की दूसरी लहर पर काबू पाने के लिए 5 मई को राहत उपायों की घोषणा की थी. इन नीतिगत उपायों से अर्थव्यवस्था के साथ-साथ सूक्ष्म, मध्यम और लघु उद्यमों (MSMEs), वित्तीय और स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र की कंपनियों को विशेष राहत मिलने की संभावना है.

शक्तिकांत दास की घोषणा के बाद बुधवार को कोरोना के रिकॉर्ड मामलों के बावजूद भारतीय शेयर बाजार बढ़त के साथ बंद हुए. गुरुवार को भी बाजार में हरे निशान में कारोबार हो रहा है.

कौन से सेक्टर फायदे में रहेंगे

विशेषज्ञों ने मनी कंट्रोल से बातचीत में बताया कि स्मॉल फाइनेंस बैंक (SFBs), हाउसिंग फाइनेंस बैंक ( , मेडिकल इक्विपमेंट मैन्युफैक्चरर्स, हेल्थ केयर, बैंक, NBFCs और hospital sectors के स्टॉक इन राहत उपायों से सबसे ज्यादा फायदे में रहेंगे.
यह भी पढ़ें- शेयर बाजार में क्या है कमोडिटी ट्रेडिंग, जानिए कैसे करते हैं खरीद-बेच, कितना फायदेमंद

दास ने घोषणा की थी कि government securities (G-Secs) के दूसरे चरण की खरीद 20 मई तक चलेगी. विशेषज्ञों ने कहा कि, इस घोषणा से 350 अरब रुपये के बॉन्ड की दूसरी किश्त की घोषणा से बॉन्ड यील्ड में और नरमी आने की संभावना है। कुल मिलाकर, आरबीआई ने बैंकों और एनबीएफसी के लिए अच्छा कदम उठाया है.

हेल्थ सेक्टर को बड़ी राहत 



रिजर्व बैंक की दूसरी बड़ी घोषणा थी कि 50 हजार करोड़ रुपये की टैप लिक्विडिटी रेपो रेट पर 31 मार्च 2022 तक खुली रहेगी. यह हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए होगा.

यह भी पढ़ें- Petrol-Diesel Price Today: पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार तीसरे दिन हुई बढ़ोत्तरी, जानें आज कितना हुआ महंगा

PMS, Hem Securities, के हेड मोहित निगम के मनी कंट्रोल से कहा कि Micro Finance Institutions (MFIs) में इस नए फंड से कमजोर वर्ग के इंडस्ट्री को कोरोना से लड़ने में मदद मिलेगी. ये उपाय विभिन्न तरह से वित्तीय प्रणाली के लिए एक सपोर्ट प्रदान करेंगे, जो स्मॉल इंडस्ट्री को उधार देता है.  SFBs, HFBs, medical equipment manufacturers, healthcare and hospitals ऐसे कुछ क्षेत्र हैं जो राहत उपायों से सबसे अधिक लाभान्वित होंगे.

PMS, Hem Securities, के हेड मोहित निगम के मुताबिक, लॉन्ग टर्म रेपो रेट सुविधा से ये स्टॉक लाभान्वित होंगे.

इक्विटी स्मॉस फाइनेंस बैंक

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक

एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक

आरबीआई के वित्तीय सहायता से ये स्टॉक फायदे में रहेंगे..

पॉलि मेडिक्योर

अपोलो हॉस्पिटल

न्यूरेका

मेट्रोपोलिस हेल्थकेयर

डीसीबी

सिटी यूनियन

Chief Investment Officer, Axis Securities के नवीम कुलकर्णी के मुताबिक ,उज्जीवन और इक्विटॉस टॉप पीक हैं. MSME lenders डीसीबी और सिटी यूनियन इन राहत उपायों से फायदे में रहेंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज