होम /न्यूज /व्यवसाय /बैंक FD पर मिलने वाली ये 5 सुविधाएं हैं बेहद फायदेमंद, टैक्स बचाने से लेकर फ्री बीमा तक उठाएं लाभ

बैंक FD पर मिलने वाली ये 5 सुविधाएं हैं बेहद फायदेमंद, टैक्स बचाने से लेकर फ्री बीमा तक उठाएं लाभ

एफडी आज भी निवेश का सबसे लोकप्रिय विकल्प है.

एफडी आज भी निवेश का सबसे लोकप्रिय विकल्प है.

अपनी सेविंग्स का पैसा निवेश करने लिए ज्यादातर लोग एफडी को चुनते हैं क्योंकि इसमें गारंटीड रिटर्न मिलता है और पैसे डूबने ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

निवेश करने के लिए एफडी को काफ़ी भरोसेमंद माना जाता है क्योंकि इसमें गारंटीड रिटर्न मिलता है.
आप लोन लेने के लिए बैंक एफडी को यूज कर सकते हैं और इससे इनकम टैक्स भी बचा सकते हैं.
कुछ बैंक ऐसे भी हैं जो एफडी पर लाइफ इंश्‍योरेंस की सुविधा भी उपलब्ध करवाते हैं.

नई दिल्ली. निवेश के लिए फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) को काफी भरोसेमंद माना जाता है. ज्यादातर लोग अपनी सेविंग्स का पैसा इसी में निवेश करना पसंद करते हैं क्योंकि इसमें गारंटीड रिटर्न मिलता है और पैसे डूबने का खतरा भी नहीं रहता है. एफडी पर ब्याज की दरें निवेश की अवधि पर निर्भर करती हैं. ये सभी बैंकों में अलग-अलग होती है. इसमें आपको मैच्योरिटी के समय निवेश की गई पूंजी के साथ अच्छा खासा रिटर्न भी मिलता है.

एफडी में आपकी सेविंग्स का पैसा तो सुरक्षित रहता ही है लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसके अलावा भी एफडी के कई फायदे हैं. आप लोन लेने के लिए बैंक एफडी को यूज कर सकते हैं और इससे इनकम टैक्स भी बचा सकते हैं. इस आर्टिकल में हम आपको एफडी के साथ मिलने वाली इसी तरह की कुछ सुविधाओं के बारे में बताएंगे जिनका आप फायदा उठा सकते हैं.

ये भी पढ़ें – Bank FD पर अब मिलेगा मोटा रिटर्न: इस बैंक ने 14 दिन में तीसरी बार बढ़ाया फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट पर ब्‍याज

अपनी बैंक एफडी पर ले सकते हैं लोन

कोई भी बैंक लोन देने की एवज में आपकी किसी कीमती चीज को रिकवरी के लिए रखती है. लेकिन अगर आपने किसी बैंक में एफडी करवा रखी है तो इसका यूज लोन लेने के लिए कर सकते हैं. वहीं कुछ बैंकों में आपको एफडी पर ओवरड्राफ्ट की सुविधा भी मिलती है. इसमें बैंक आपको एफडी की गारंटी पर लोन उपलब्ध करवाता है. लोन की राशि आपकी एफडी के हिसाब से तय होती है.

इनकम टैक्‍स बचाने में आएगी काम

बैंक एफडी आपको इनकम टैक्स बचाने में भी मदद करती है. आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80सी के तहत आप टैक्स में छूट क्लेम कर सकते हैं. इसके लिए आपकी एफडी की अवधि 5 साल या उससे ज्यादा होना जरूरी है. इसमें एक शर्त यह भी शामिल है कि एफडी पर 5 में से किसी एक साल में मिलने वाला ब्याज 40 हजार रुपये से ज्यादा नहीं होना चाहिए. अगर यह ब्याज इससे ज्यादा होता है तो आपको टैक्स देना पड़ता है.

5 लाख रुपये तक का इंश्‍योरेंस कवर

अगर आप किसी बैंक में एफडी करवाते हैं और वह बैंक किसी वजह से दिवालिया हो जाती है, तो ऐसी स्थिति से निपटने के लिए डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन की तरफ से एफडी पर इंश्योरेंस कवर की व्यवस्था की गई है. इसके तहत आपको 5 लाख तक का इंश्योरेंस कवर दिया जाता है. यदि आपकी एफडी की राशि 5 लाख रुपये या इससे कम है तो आपको पूरी रकम इंश्योरेंस कवर के जरिए मिल जाएगी. वहीं ज्यादा राशि होने की स्थिति में भी आपको 5 लाख रुपये का ही कवर मिलता है. इससे पैसे डूबने का खतरा काफी कम हो जाता है.

ये भी पढ़ें- Layoffs 2022 : मेटा, ट्विटर ने हाथ छोड़ा तो अब लिंक्डइन के जरिए नए ठौर की तलाश

एफडी के जितना ही मिलेगा लाइफ इंश्योरेंस

बैंक ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपनी एफडी स्कीम में निवेश के लिए आकर्षित करने के लिए कई तरह के ऑफर देते हैं. कुछ ऐसे बैंक भी हैं जो एफडी पर लाइफ इंश्‍योरेंस की सुविधा भी उपलब्ध करवाते हैं. इसमें सभी बैंकों की कुछ शर्तें होती है.

मैच्योरिटी के समय मिलता है गारंटीड रिटर्न

बैंकों में एफडी पर मिलने वाले ब्याज की दरें पहले से फिक्स होती है. ये दरें आरबीआई की रेपो रेट से प्रभावित होती है और उसी के घटने या बढ़ने से इनमें परिवर्तन होता है. एफडी की अवधि के हिसाब से उस पर मिलने वाले ब्याज की दर तय होती है. एफडी की सबसे खास बात यह है कि आप जिस दिन एफडी करवाते हैं, उसी समय कैलकुलेशन कर सकते हैं कि आपको मैच्योरिटी के समय कितना रिटर्न मिलेगा.

Tags: Bank FD, FD Rates, Fixed deposits, Income tax, Insurance

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें