अपना शहर चुनें

States

1 जनवरी से बदल जाएंगे आपके डेबिट और क्रेडिट कार्ड के ये नियम, जानिए इससे जुड़ी सभी बातें

1 जनवरी से क्रेडिट और डेबिट कार्ड के नियमों में बदलाव हो जाएगा.
1 जनवरी से क्रेडिट और डेबिट कार्ड के नियमों में बदलाव हो जाएगा.

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास (RBI Governor Shaktikant Das) ने शुक्रवार क्रेडिट और डेबिट कार्ड्स (Credit and Debit Cards) से जुड़े नियमों में बदलाव किया है. ये नियम 1 जनवरी 2021 से पूरे देश में लागू होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 4, 2020, 1:00 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में One Nation One Card स्कीम के तहत भारतीय कंपनी RuPay कॉन्टैक्टलेस डेबिट और क्रेडिट कार्ड्स जारी की थी.. इन कार्ड्स की मदद से आप पब्लिक ट्रांस्पोर्ट से लेकर शॉपिंग मॉल तक में आसानी से भुगतान कर सकते है. वहीं भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने शुक्रवार को कॉन्टैक्टलेस कार्ड पेमेंट (Contactless Card Payment) के नियम में बड़ा बदलाव किया है. जिसके तहत अब आप कॉन्टैक्टलेस डेबिट और क्रेडिट कार्ड्स से अधिकतम 5 हजार रुपये तक का भुगतान बिना किसी पिन के आसानी से कर सकेंगे. ये सुविधा 1 जनवरी 2021 से पूरे देश में लागू होगी. आपको बता दें अभी तक कॉन्टैक्टलेस डेबिट और क्रेडिट कार्ड्स से केवल अधितम 2 हजार रुपये का भुगतान बिना पिन के किया जा सकता था.

कैसा होता है कॉन्टैक्टलेस डेबिट और क्रेडिट कार्ड- RuPay द्वारा पावर्ड इस कार्ड को नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड के तौर पर यूज किया जा सकता है. आपको बता दें कि यह कार्ड एक स्मार्ट कार्ड की तरह होता है. आपको बता दें दिल्ली मेट्रो में ऐसा ही कार्ड चलता है, जिसे आप रिचार्ज कराते हैं और मेट्रो में सफर कर सकते हैं. अब देश के सभी बैंक RuPay जो भी नए डेबिट और क्रेडिट कार्ड जारी करेंगे उनमे नेशनल कॉमन मोबेलिटी कार्ड फीचर होगा. ये किसी और वॉलेट की तरह ही काम करेंगे.

यह भी पढ़ें: RBI के रेपो रेट घटाने और बढ़ाने से आम आदमी पर क्या होगा असर ? जानिए इससे जुड़ी सभी बातें



क्या होता है कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शन?- इस टेक्नॉलजी की मदद से कार्ड होल्डर को ट्रांजैक्शन के लिए स्वाइप करने की जरूरत नहीं होती है. पॉइंट ऑफ सेल (POS) मशीन से कार्ड को सटाने पर पेमेंट हो जाता है. कॉन्टैक्टलेस क्रेडिट कार्ड में दो तकनीकों का इस्तेमाल किया जाता है - ‘नियर फील्ड कम्युनिकेशन’ और ‘रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन’ (RFID). जब इस तरह के कार्ड को इस तकनीक से लैस कार्ड मशीन के पास लाया जाता है, तो पेमेंट अपने-आप हो जाता है.
मशीन की 2 से 5 सेंटीमीटर की रेंज में भी कार्ड को रखा जाए तो पेमेंट हो सकता है. इससे कार्ड को किसी मशीन में डालने या उसे स्वाइप करने की जरूरत नहीं पड़ती. न ही पिन या ओटीपी डालने की जरूरत होती है. कॉन्टैक्टलेस पेमेंट की अधिकतम सीमा 2,000 रुपए होती है. एक दिन में पांच कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शन किए जा सकते हैं. इससे ज्यादा राशि के पेमेंट के लिए पिन डालने या ओटीपी की जरूरत होती है. लेकिन आरबीआई के नियम के अनुसार 1 जनवरी से कॉन्टैक्टलेस पेमेंट की अधिकत सीमा 5 हजार रुपये हो जाएंगी.

यह भी पढ़ें: खुशखबरी! RBI के फैसले से Fixed Deposit में निवेश करने वालों को होगा फायदा, जानिए कैसे

कैसे मिलेगा कार्ड- इस कार्ड को पाने के लिए आपको अपने बैंक से संपर्क करना होगा. ये 25 बैंकों में उपलब्ध होने के साथ ही यह कार्ड पेटीएम पेमेंट बैंक द्वारा भी जारी किया जाता है. इस कार्ड को एटीएम पर इस्तेमाल करने पर 5 प्रतिशत का कैशबैक और विदेश यात्रा के दौरान मर्चेंट आउटलेट पर भुगतान करने पर 10 प्रतिशत का कैशबैक मिलता है. रुपे का यह कार्ड डिस्कवर और डाइनर्स क्लब इंटरनैशनल मर्चेंट्स के अलावा विदेश के एटीएम पर भी स्वीकार किया जाता है. इस कार्ड को एसबीआई, पीएनबी समेत देशभर के 25 बैंक उपलब्ध कराते हैं.

कैसे करते हैं काम- इन सभी कार्ड्स पर एक खास निशान बना होता है. वहीं, जिन पेमेंट मशीनों पर इनका इस्तेमाल होता है. वहां भी एक खास चिह्न () बना होता है. इस मशीन पर करीब 4 सेंटीमीटर की दूरी पर कार्ड रखना या दिखाना होगा और आपके खाते से पैसे कट जाएंगे. कार्ड को स्वाइप या डिप करने की जरूरत नहीं होगी और न ही पिन एंटर करना होगा.

ज्यादा पेमेंट के लिए पिन और OTP जरूरी- 1 जनवरी के बाद 5 हजार रुपये से ज्यादा की पेमेंट के लिए ही पिन या ओटीपी लगेगा. यानी आपका कार्ड किसी और के हाथ लग जाए तो वह एक बार में कम से कम 5 हजार रुपए तक की शॉपिंग कर सकता है. हो सकता है कि जब तक आपको इसका पता चले, तब तक वह आपके खाते से इससे ज्यादा पैसे उड़ा चुका हो.

सवाल- अगर मेरा कार्ड गुम हो गया और किसी को मिल गया तब क्या होगा?
जवाब- सरकारी बैंक के एक बड़े अधिकारी ने न्यूज18 हिंदी को बताया कि इस स्थिति में आपको तुरंत बैंक को सूचित कर कार्ड ब्लॉक करवाना होगा. अगर आपकी जानकारी में आने से पहले किसी ने शॉपिंग कर ली है, तो बैंक नुकसान की भरपाई करेगा.

सवाल - मशीन के पास से गुजरने पर क्या जेब में रखें कार्ड से पेमेंट हो जाएगा?
जवाब- एक्सपर्ट्स बताते हैं कि कार्ड और मशीन के बीच 4 सेंटीमीटर की दूरी होनी चाहिए तभी पेमेंट होता है. जेब में रखें कार्ड से अपने आप पेमेंट नहीं होगा.

आनंद महिंद्रा भी जता चुके हैं चिंता- महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने वर्ष 2018 में एक वीडियो ट्वीट किया था, जिसमें एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति के पीछे की जेब में रखे कार्ड पर चुपके से मशीन टच कर रहा था और पेमेंट लेकर दिखा रहा था. महिंद्रा ने लिखा था ‘क्या ऐसा संभव है? यह डराने वाला है.'

महिंद्रा के इस ट्वीट के जवाब में वीज़ा साउथ एशिया के कंट्री हेड टीआर रामचंद्रन ने लिखा, ‘ऐसा नहीं हो सकता. ऐसी ट्रिक करने वाले को सजा हो सकती है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज