इन दुकानदारों को नहीं मिलेगी 3000 रुपये वाली पेंशन, जानें किसे मिलेगा फायदा

वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने लोकसभा में बताया कि इनकम टैक्स (Income Tax) देने वाले दुकानदार प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे.
वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने लोकसभा में बताया कि इनकम टैक्स (Income Tax) देने वाले दुकानदार प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे.

वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने लोकसभा में बताया कि इनकम टैक्स (Income Tax) देने वाले दुकानदार प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे.

  • Share this:
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 5 जुलाई को पेश बजट में छोटे दुकानदारों के लिए प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना (Pradhan Mantri Shram Yogi Maandhan PM- SYM)  का ऐलान किया था. इसमें कहा गया था कि इस पेंशन योजना का फायदा उन दुकानदारों को ही मिलेगा, जिनका सालाना टर्नओवर 1.50 करोड़ रुपये है. लेकिन बुधवार को वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने लोकसभा में बताया कि इनकम टैक्स (Income Tax) देने वाले दुकानदार प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना का लाभ नहीं ले पाएंग. यानी वे इस पेंशन के लिए खुद को रजिस्टर नहीं कर सकेंगे. बता दें कि इस पेंशन योजना के तहत खुदरा कारोबारी, दुकानदारों और स्वरोजगार करने वाले लोगों को 60 साल की उम्र होने के बाद न्यूनतम 3,000 रुपये मासिक पेंशन मिलेगी.

इनको नहीं मिलेगा पेंशन का लाभ
पीयूष गोयल ने कहा कि GSTN रजिस्टर्ड और सालाना 1.50 करोड़ रुपये से कम टर्नओवर वाले दुकानदार, रिटेल ट्रेडर और स्वरोजगार करने वाले प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना का लाभ ले सकते हैं. लेकिन इनकम टैक्स देने वाले, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO), कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC), नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS), प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन (PM- SYM) से जुड़े दुकानदार सरकार की इस स्कीम का लाभ नहीं ले पाएंगे.

ये भी पढ़ें: गरीब रथ ट्रेन को जल्द बंद कर सकती है मोदी सरकार, ये है वजह!
60 साल बाद मिलेगी पेंशन


इस पेंशन योजना के तहत खुदरा कारोबारी और दुकानदारों और स्वरोजगार करने वाले लोगों को 60 साल की उम्र होने के बाद न्यूनतम 3,000 रुपये मासिक पेंशन मिलेगी.

ऐसे होगा पेंशन के लिए रजिस्ट्रेशन
18 से 40 वर्ष के बीच आयु वर्ग वालों को इस योजना का लाभ मिलेगा. पेंशन योजना में शामिल होने वाले लोग देशभर में फैले 3.25 लाख साझा सेवा केन्द्रों पर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. योजना का फायदा लेने के लिए नियम को बहुत आसान बनाया गया है. इसके लिए आधार कार्ड (Aadhaar Card) और बैंक अकाउंट (Bank Account) की जरूरत होगी.

ये भी पढ़ें:  जानिए रोजाना कैसे और कौन तय करता है सोने के दाम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज