नए बिज़नेस का GST Registration कराने में अब नहीं लगेंगे महीनों, वित्त मंत्रालय ने आसान किए नियम

नए बिज़नेस का GST Registration कराने में अब नहीं लगेंगे महीनों, वित्त मंत्रालय ने आसान किए नियम
नए बिज़नेस का GST Registration कराने में अब नहीं होगी दिक्कत, जानिए क्यों?

नया बिजनेस शुरू करने वालों के लिए अच्छी खबर है. अब उनके बिजनेस का जीएसटी (GST) रजिस्ट्रेशन केवल तीन दिनों में हो जाएगा. इसके लिए बस उन्हें अपना आधार कार्ड (Aadhaar card) देना होगा. केंद्रीय वित्त मंत्रालय (Finance ministry) ने कहा कि नए बिजनेस को आधार के जरिये GST रजिस्ट्रेशन देने की शुरुआत कर दी गई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. नया बिजनेस शुरू करने वालों के लिए अच्छी खबर है. अब उनके बिजनेस का जीएसटी (GST) रजिस्ट्रेशन केवल तीन दिनों में हो जाएगा. इसके लिए बस उन्हें अपना आधार कार्ड (Aadhaar card) देना होगा. केंद्रीय वित्त मंत्रालय (Finance ministry) ने कहा कि नए बिजनेस को आधार के जरिये GST रजिस्ट्रेशन देने की शुरुआत कर दी गई है. जो बिजनेसमैन इसके लिए अपना 12 अंकों का आधार कार्ड देंगे, उनके व्यवसाय को GST नंबर तीन दिनों में मिल जाएगा. लेकिन, जिन आवेदनों में Aadhaar card का नंबर अंकित नहीं होगा, उन्हें फिजिकल वेरिफिकेशन के बाद ही GST नंबर मिलेगा.

इस प्रोसेस से फर्जी कंपनियों पर भी लगाम लगेगी
केंद्र सरकार का कहना है कि इस नई व्यवस्था से अपना व्यवसाय शुरू करने वाले बिजनेसमैन को तो राहत मिलेगी ही, साथ ही फर्जी कंपनियों पर भी लगाम लगेगी. वित्त मंत्रालय ने कहा, आधार ऑथेंटिकेशन (Aadhaar authentication) के जरिये GST रजिस्ट्रेशन करने के सरकार के फैसले से ईज ऑफ डूइंग बिजनेस (Ease of doing business) को रफ्तार मिलेगी. उन्हें जीएसटी के लिए लंबा इंतजार नहीं करना होगा और उनके बिजनेस का फिजिकल वेरिफिकेशन करने की जरूरत भी नहीं होगी.

वित्त मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि 14 मार्च, 2020 को जीएसटी काउंसिल की 39वीं बैठक में नए टैक्सपेयर के लिए आधार प्रमाणीकरण को मंजूरी मिली थी. हालांकि, कोविड-19 के कारण इसे टाल दिया गया था. इस सुविधा के बाद जीएसटी में नए रजिस्ट्रेशन के लिए यदि आवेदक Aadhaar authentication का विकल्प चुनेगा, तो कोई नोटिस नहीं मिलने की स्थिति में तीन दिन में GST रजिस्ट्रेशन की स्वीकृति मिल जाएगी.
ईमानदार Taxpayer को सहूलियत मिलेगी


जो आवेदक बिजनेस के वेरिफिकेशन के लिए Aadhaar authentication के विकल्प को नहीं चुनेंगे, उन्हें GST रजिस्ट्रेशन के लिए 21 दिनों तक इंतजार करना पड़ सकता है. अगर उन्हें किसी जानकारी के लिए कोई नोटिस दिया जाएगा तो GST नंबर पाने का इंतजार और अधिक लंबा हो सकता है. मौजूदा हालात को देखते हुए केंद्र सरकार ने फिजिकल वेरिफिकेशन के लिए अधिकारियों को जरूरत पड़ने पर प्री-रजिस्ट्रेशन के लिए अतिरिक्त दस्तावेज की मांग का भी अधिकार दिया है. सरकार का मानना है कि आधार की मदद से प्रमाणीकरण होने से जहां ईमानदार टैक्सपेयर (Taxpayer) को सहूलियत होगी, वहीं फर्जी कंपनियों पर लगाम लगाने में भी मदद मिलेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज