भारत में TikTok यूजर्स के लिए खुशखबरी, अब वीडियो बनाने के साथ कर सकेंगे ये काम

भारत में TikTok यूजर्स के लिए खुशखबरी, अब वीडियो बनाने के साथ कर सकेंगे ये काम
TikTok

छोटे वीडियो कंटेंट (Video Content) को लेकर दुनियाभर में सबसे अधिक मशहूर कंपनी TikTok ने आज एक खास EduTok प्रोग्राम लॉन्च किया है. इस प्रोग्राम के तहत कंपनी अपने प्लेटफॉर्म पर भारत के डिजिटल कम्युनिटी (Digital Community) को लर्निंग मुहैया कराएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2019, 10:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. छोटे वीडियो कंटेंट (Video Content) को लेकर दुनियाभर में सबसे अधिक मशहूर कंपनी TikTok ने आज एक खास EduTok प्रोग्राम लॉन्च किया है. इस प्रोग्राम के तहत कंपनी अपने प्लेटफॉर्म पर भारत के डिजिटल कम्युनिटी (Digital Community) को लर्निंग मुहैया कराएगी. लॉन्च होने के बाद से ही TikTok को भारत में बेहतर रिस्पॉन्स मिला है. मौजूदा समय में EduTok हैशटैग पर करीब 1 करोड़ कंटेंट को बनाया और शेयर किया जा चुका है. इन कंटेंट को 48 अरब ​बार लोगों ने देखा है और टिकटॉक पर इसे 1.8 अरब बार शेयर भी किया गया है. अब डिजिटल लर्निंग के फायदे को देखते हुए एडुटॉक भी भारत के ​क्रिएटिव इकोनॉमी में अपना योगदान देने के लिए यह कदम उठा रहा है. कंपनी का मकसद है कि वो भारत में डिजिटल एक्सेस वाले लोगों की जिंदगी में कुछ योगदान दे सके.

EduTok मेंट​रशिप प्रोग्राम के तहत ऑनलाइन से ऑफलाइन तक लाने का प्रयास
अपने इस खास पहल के तहत, टिकटॉक मेंटरशिप प्रोग्राम के लिए कुछ प्रमुख सोशल एंटरप्राइज जैसे जोशटॉक, और नज फाउंडेशन के साथ साझेदारी कर रहा है. कंपनी चाहती है कि टिकटॉक और एजुकेशनल संस्थाओं द्वारा क्रिएट किए गए उच्च गुणवत्ता वाले एजुकेशनल कंटेंट को उन लोगों तक पहुंचाया जा सके, जो कुछ सीखना चा​हते हैं. इस मेंटरशिप के तहत, जोश टॉक्स 25 एडुटॉक वर्कशॉप ऑर्गेनाइज करेगा, जहां क्रिएटिव लोगों को शॉ​टलिस्ट किया जाएगा ताकि उन्हें ऑफलाइन लर्निंग वर्कशॉप में भाग लेने का मौका मिलेगा. एडुटॉक के तहत सॉफ्ट स्किल, स्किल डेवलपमेंट, आइडेंटिटी बिल्डिंग और करियर प्लानिंग जैसे टॉपिक्स पर वीडियो कंटेंट मुहैया कराया जाएगा. इसी साल अक्टूबर से लेकर अगले साल मार्च तक इन वर्कशॉप्स को ऑर्गेनाइज किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: BSNL और MTNL को संकट से निकालने के लिए रविशंकर प्रसाद ने कही ये बड़ी बात



इन वर्कशॉप्स को छह राज्यों में ऑर्गेनाइज किया गया है जिसमें बिहार, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, राजस्थान, झारखंड और जम्मू शामिल है. हर एक वर्कशॉप में 200 यूजर्स को मौका मिलेगा. इसे इन राज्यों के क्षेत्रीय भाषा में ही ऑर्गेनाइज किया जाएगा.

विषय आधारित कंटेंट भी होगा उपलब्ध
इस मेंटरशिप प्रोग्राम के अतिरिक्त टिकटॉक अब टॉपर, मेडईजी, और ग्रेडअप जैसी एजुकेशनल टेक्नोलॉजी कंपनियां विषय आधारित कंटेट भी उपलब्ध कराएगा. टिकटॉक के इस पहल से करीब 20 करोड़ यूजर्स को सीखने को मौका मिलेगा. इन कंटेंट को अलग—अलग कैटेगरी, भाषा और फॉर्मेट के आधार पर उपलब्ध कराया जाएगा.

ये भी पढ़ें: अर्थव्यवस्था को लेकर मनमोहन सिंह ने निर्मला सीतारमण पर किया पलटवार, कही ये बड़ी बातें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज