TikTok की पेरेंट कंपनी ByteDance​ बीजिंग के बाहर बढ़ाएगी कारोबार, चीन-USA में तनाव के बीच फैसला

TikTok की पेरेंट कंपनी ByteDance​ बीजिंग के बाहर बढ़ाएगी कारोबार, चीन-USA में तनाव के बीच फैसला
टिकटॉक की पेरेंट कंपनी बाइटडांस है.

शॉर्ट वीडियो मेकिंग मोबाइल ऐप टिकटॉक (TikTok) की पेरेंट कंपनी ByetDance अब चीन से बाहर अपने कारोबार का विस्तार कर रही है. इसके लिए कंपनी ने दुनियाभर के कई शहरों में हायरिंग भी करना शुरू कर दिया है.

  • Share this:
बीजिंग/न्यूयॉर्क/वॉशिंगटन: पॉपुलर मोबाइल ऐप टिकटॉक (TikTok) की पेरेंट कपंनी ByteDance अब अपनी क्षमत को चीन से बाहर शिफ्ट करने की तैयारी में है. हाल ही में ​कंपनी द्वारा Disney के केविन मेयर को CEO बनाने की तैयारी के बारे में भी पता चला था. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने सूत्रों के हवाले से इस बारे में जानकारी दी है. पिछले कुछ महीनों में कंपनी ने इस दिशा में कई कदम उठाए हैं. बाइटडांस अपनी डिसीजन मेकिंग और रिसर्च क्षमता को चीन से बाहर निकल सकती है.

कैलिफोनिर्या में शुरू किया काम
बाइटडांस इस फैसले पर विचार केवल टिकटॉक को लेकर ही नहीं बल्कि अपने अन्य बिजनेस को लेकर भी कर रही है. कंपनी के अन्य बिजनेस में उसकी भारत में मौजूद सोशल नेटवर्किंग ऐप हेलो भी शामिल है. तीन सूत्रों का कहना है ​कि बाइटडांस ने टिकटॉक इंजीनियरिंग और रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑपरेशंस का काम कैलिफोर्निया में भी शुरू कर दी है.

इन शहरों में भी कर रही हायरिंग



कैलिफोर्निया में कंपनी ने इसके लिए करीब 150 इंजीनियर्स की हायरिंग भी की है. कंपनी द्वारा ऑनलाइन जॉब पोस्टिंग से पता चल रहा है कि वो बड़े स्तर पर कई देशों से इंजीनियर्स की हायरिंग करने में जुटी हुई है. इनमें सिंगापुर, जकार्ता, वरसॉव जैसे शहर शामिल हैं.



यह भी पढ़ें: कोरोना का डंक! विमानन उद्योग की इस कंपनी ने किया 12000 लोगों की छंटनी का ऐलान

कंपनी ने न्यूयॉर्क की एक इन्वेस्टर रिलेंश डायरेक्टर को भी हायर किया है ताकि जनरल अटलांटिक और KKR जैसे प्रमुख इन्वेस्टर्स से संपर्क बनाया जा सके. इसके पहले यह काम चीन के बीजिंग शहर से हो रहा था.

अमेरिका-चीन में तनाव के बीच कंपनी का यह फैसला
ध्यान देने वाली बात है कि बाइटडांस द्वारा यह रणनीतिक बदलाव एक ऐसे समय पर आ रहा है, जब चीन और अमेरिका के बीच व्यापार, टेक्नोलॉजी और कोविड-19 महामारी को लेकर तनाव की​ स्थिति बनी हुई है. हाल ही में अमेरिकी नियामकों ने टिकटॉक की स्क्रुटनी का भी काम किया. अमेरिका भी टिकटॉक के लिए एक बड़ा बाजार है.

यह भी पढ़ें:  सरकार के एक फैसले से चीन समेत इन देशों को होगा नुकसान, जानें क्या है मामला?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading